बुद्धि के साथ तेजस्विता होनी चाहिए तभी राष्ट्र को आगे बढ़ाया जा सकता है

झज्जर———- हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि भगवान परशुराम विद्वता के साथ शौर्य का प्रतीक थे। बुद्धि के साथ तेजस्विता होनी चाहिए तभी राष्ट्र को आगे बढ़ाया जा सकता है।
2
उन्होंने शनिवार को यह बात गांव दुजाना में भाजपा नेता मनीष शर्मा की ओर से आयोजित मकर सक्रांति मिलन समारोह को संबोधित करते हुए कही। भाजपा विधायक नरेश कौशिक की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम से पहले कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने परशुराम सेवा सदन का शिलान्यास किया और भगवान परशुराम को नमन किया।

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ने क्षेत्र के लोगों को लोहड़ी एवं मकर सक्रांति पर्व की शुभकामनाएं दी। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि भगवान परशुराम की तरह समाज को सामूहिक शौर्य दिखाना चाहिए। शौर्य के बिना राष्ट्र आगे नहीं बढ़ सकता।

ब्राह्मण समाज के पास विद्वता के साथ-साथ शौर्य का भी बल है। भारत को विश्वगुरू का दर्जा उसकी विद्वता से ही मिला है लेकिन विद्वता के साथ शौर्य भी एक राष्ट्र के लिए आवश्यक है।

श्री धनखड़ ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व की प्रशंसा करते हुए कहा कि लोक हित की राजनीति करने में उनका कोई सानी नहीं है। देश लगातार उनके नेतृत्व में आगे बढ़ रहा है। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री एवं भारत रतन अटल बिहारी वाजपेयी के कार्यकाल को याद करते हुए उनकी कार्यशैली की भी प्रशंसा की।

आज केंद्र व राज्य की सरकारों के कार्यकाल में लोगों को अधिक से अधिक देने की कोशिश रहती है। जिसकी वजह से आज रसोई गैस की कालाबाजारी बंद हो गई, नौकरियां मेरिट पर मिलने लगी और शिक्षित पंचायतों के जरिए देश के ग्रामीण अंचल में विकास को नई दिशा मिली है।

कृषि मंत्री ने कहा कि हरियाणा में भाजपा की सरकार बनने के उपरांत प्राकृतिक आपदों में नष्ट फसलों का मुआवजा छह हजार से 12 हजार किया गया, युवाओं को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने के लिए गांव-गांव व्यायामशालाएं खोली गई, सरपंच के बैठने के लिए भी ग्राम स्तर पर सचिवालय खोलने जैसे ऐतिहासिक कार्य हुए।

उन्होंने कहा कि आज की सरकार जनता के हक में कार्य कर रही है। इस अवसर पर उन्होंने गांव दुजाना में बनने वाले परशुराम सेवा सदन के लिए अपने ऐच्छिक कोष से 11 लाख रुपए की वित्तीय सहायता देने की भी घोषणा की।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए भाजपा विधायक नरेश कौशिक ने परशुराम को भगवान का अवतार और समाज को नई दिशा देने वाला बताया। उन्होंने कहा कि वर्तमान भाजपा सरकार भगवान परशुराम के दिखाएं मार्ग पर ही चल रही है।

अंत्योदय के भाव से काम करते हुए सरकार ने समाज के आखिरी व्यक्ति को भी विकास से जोडऩे के लिए कार्यक्रम चलाए है। उन्होंने कहा कि आज समाज के हर वर्ग की भलाई के लिए सबका साथ-सबका विकास के मूलमंत्र पर कार्य किया जा रहा है। गरीबों के जीवन स्तर को ऊंचा उठाने के लिए राज्य व केंद्र दोनों सरकारों ने अनेक दूरगामी कार्य किए है।

इस अवसर पर भाजपा के जिला अध्यक्ष बिजेंद्र दलाल, प्रदेश प्रवक्ता वीर कुमार यादव, जिला परिषद के उपाध्यक्ष योगेश सिलानी, भाजपा नेता विक्रम कादियान, राजेंद्र शर्मा, रविभान राठी, पूर्व मंत्री कांता देवी, सोनू कौशिक, सुनील शर्मा, जिला पार्षद सीमा दहिया, सुनीता चौहान, सुनीता धनखड़, संत सुरहेती, महेश कुमार, राजपाल शर्मा, सतनारायण कौशिक काहनौर व जिला प्रशासन की ओर से बेरी के एसडीएम संजय राय भी कार्यक्रम के दौरान उपस्थित रहे।