बाड़मेर की धरती से पूरे देश को मिलेगी ऊर्जा – प्रधानमंत्री

रिफाइनरी राजस्थान और राजस्थानियों की सबसे बड़ी जीत-मुख्यमंत्री

जयपुर—— प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि बाड़मेर की धरती पर लगने जा रही रिफाइनरी न केवल राजस्थान की तस्वीर और तकदीर बदलेगी बल्कि यह पूरे देश को ऊर्जा देगी।

उन्होंने कहा कि 2022 में जब पूरा देश आजादी का 75 वां पर्व मना रहा होगा, तब राजस्थान से देश को नई ऊर्जा मिलनी शुरू हो जाएगी। उन्होंने कहा कि मरु भूमि में जब इतना बड़ा उद्योग लगेगा तो लाखों लोगों की रोजी-रोटी का प्रबन्ध होगा और इस क्षेत्र का आर्थिक परिदृश्य बदल जाएगा।
1
प्रधानमंत्री श्री मोदी मंगलवार को मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे एवं केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री श्री धर्मेन्द्र प्रधान की मौजूदगी में बाड़मेर के पचपदरा में राजस्थान रिफाइनरी के कार्य शुभारम्भ समारोह को सम्बोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि मैं मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे और केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री को बधाई देना चाहूंगा कि उनके प्रयासों से रिफाइनरी की स्थापना का सपना धरातल पर साकार हो रहा है।

रिफाइनरी वसुन्धराजी की मेहनत का परिणाम – पीएम

प्रधानमंत्री ने समारोह के दौरान राजस्थान की जनता के हित में फैसले लेने के लिए मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे की मुक्त कंठ से प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि श्रीमती राजे की मेहनत का ही परिणाम है कि आज लम्बे समय से अटका रिफाइनरी प्रोजेक्ट धरातल पर आया है और राजस्थान को बड़ा आर्थिक फायदा हुआ है।

वन रैंक वन पेंशन का वादा पूरा किया

प्रधानमंत्री ने कहा कि 15 सितम्बर 2013 को मैंने रेवाड़ी में वादा किया था कि अगर हमारी सरकार बनी तो हम देश में हमारे पूर्व सैनिकों के लिए वन रैंक वन पेंशन लागू करेंगे। मैंने अपना वादा पूरा करते हुए चार किस्त में 10,700 करोड़ रुपए पूर्व सैनिकों के खातों में पहुंचा दिये हैं। शेष राशि भी शीघ्र दे दी जाएगी।

प्रधानमंत्री ने अपने उद्बोधन के दौरान बाड़मेर के संत मल्लीनाथ जी, तुलसाराम जी, ईश्वरदास जी, नागणेची माता, भटियाणी माता सहित अन्य संतों को नमन किया। उन्होंने कहा कि यहां के स्वतंत्रता सेनानी गुलाबचन्द सालेचा ने नमक सत्याग्रह में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

प्रधानमंत्री ने खम्मा घणी के साथ अपना संबोधन शुरू किया तो पूरा समारोह स्थल मोदी-मोदी के नारों से गूंज उठा। इससे पहले प्रधानमंत्री ने रिमोट से रिफाइनरी कार्य शुभारम्भ पट्टिका का अनावरण किया।

उद्घाटन भी प्रधानमंत्री जी से ही करायेंगे – मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने पचपदरा में मंगलवार को रिफाइनरी परियोजना के शुभारंभ समारोह में कहा कि रिफाइनरी के लिए 40 हजार करोड़ रुपये की बचत कर लगाई जा रही यह रिफाइनरी सही मायनों में राजस्थान और राजस्थानियों की सबसे बड़ी जीत है। बड़़ी संख्या में उपस्थित जनसमुदाय के समक्ष प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का स्वागत करते हुए श्रीमती राजे ने कहा कि आज राजस्थान के लिए ऎतिहासिक क्षण है।

रेगिस्तान की मिट्टी को सोने में बदलने वाली इस परियोजना की परिकल्पना भी हमारे पिछले शासन काल में शुरू हुई थी जब इस क्षेत्र में तेल के पहले कुए मंगला को चालू किया गया था और आज कार्य का शुभारंभ भी प्रधानमंत्री कर रहे हैं।

मुझे पूरा विश्वास है कि रिफाइनरी का उद्घाटन भी हम प्रधानमंत्री श्री मोदी जी के कर कमलों से ही करायेंगे।

पूर्व उप राष्ट्रपति स्व. शेखावत एवं मेजर दलपत सिंह शेखावत को याद किया, पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की

श्री मोदी ने इस अवसर पर स्व. भैरोंसिंह शेखावत के राजस्थान के विकास में योगदान और मेजर दलपत सिंह शेखावत को भी याद किया। पूर्व केन्द्रीय मंत्री श्री जसवन्त सिंह जसोल के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना भी की। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद 75 साल में मैं पहला प्रधानमंत्री था जो इजरायल गया और वहा हाइफा जाकर उन वीरों को नमन किया जिन्होंने प्रथम विश्वयुद्ध में हाइफा को मुक्त करने के लिए बलिदान दिया था। यह गौरव की बात है कि उन वीरों के दल का नेतृत्व राजस्थान के मेजर दलपत सिंह शेखावत ने किया था।

हमने रेट ऑफ रिटर्न में कराया दो गुना फायदा

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले किए गए एमओयू के अनुसार जो रेट ऑफ रिटर्न फाइनल की थी उसके हिसाब से सरकार की ओर से एक रुपया लगाने पर 6 पैसे मिलते, जबकि अब जो एमओयू किया गया है उसमें एक रुपये पर 12 पैसे का फायदा हो रहा है। यानि की लगभग दोगुना फायदा। इतना ही नहीं यह प्लांट पहले से भी ज्यादा आधुनिक है और बाड़मेर के अलावा दूसरे क्रूड पर भी चलेगा।

4 साल में पांच गुना बढ़ा सोलर एनर्जी उत्पादन

श्रीमती राजे ने कहा कि हमने नई सौर ऊर्जा नीति के जरिए किसानों को विकास में भागीदार बनाया। उन्हाेंने कहा कि आने वाले एक साल में 2255 मेगावाट के सौर ऊर्जा उत्पादन के साथ ही भड़ला विश्व का सबसे बड़ा सोलर पार्क बनाया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जैसलमेर के नोख में 1 हजार मेगावाट के एक अन्य सोलर पार्क की स्थापना की जाएगी। इसके अलावा रिफाइनरी प्रोजेक्ट में स्थानीय युवाओं को रोजगार दिलाने के लिए बाड़मेर आईटीआई में रिफाइनरी और पेट्रो केमिकल्स के क्षेत्र में कौशल प्रशिक्षण शुरू किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि अगर जैसलमेर-बाड़मेर क्षेत्र रेल लाइन के माध्यम से मूंदड़ा पोर्ट तक जुड़ जाए तो इस क्षेत्र की अर्थव्यवस्था को गति मिलेगी। उन्होंने कहा कि बाड़मेर क्षेत्र में तेल की सतह के ऊपर भूजल का भंडार है।

यदि इस जल का परिशोधन कर इसे उपयोग योग्य बनाने की कोई परियोजना बनाई जाए तो यहां की पानी की समस्या भी दूर हो सकेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस इलाके में पेयजल की समस्या दूर करने के लिए पोकरण-फलसूण्ड-बालोतरा-सिवाना लिफ्ट प्रोजेक्ट का कार्य सितम्बर 2018 तक पूरा कर जैसलमेर और बाड़मेर के 580 गांवों तथा बालोतरा और सिवाना कस्बों को मीठा पानी उपलब्ध करायेंगे।

गेम चेंजर साबित होगी रिफाइनरी ः केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री

केन्द्रीय पेट्रोलियम मंत्री श्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा कि यह रिफाइनरी एवं पेट्रोकेमिकल कॉम्प्लेक्स राजस्थान के लिए गेम चेंजर साबित होगा। रिफाइनरी लगने से इस क्षेत्र में प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रूप से 1 लाख करोड़ रूपये का निवेश होगा। उन्होंने कहा कि यह देश का पहला इंटीग्रेटेड परिसर है, जहां रिफाइनरी एवं पेट्रोकेमिकल कॉम्प्लेक्स एक साथ स्थापित किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि पश्चिमी राजस्थान एनर्जी का हब है। यहां सोलर एनर्जी, विंड एनर्जी, प्राकृतिक गैस, लिग्नाइट एवं पेट्रोलियम का भंडार है। यह क्षेत्र नये भारत की शक्ति पीठ है।

केन्द्रीय विधि एवं न्याय राज्यमंत्री श्री पीपी चौधरी, केन्द्रीय संसदीय कार्य राज्यमंत्री श्री अर्जुनराम मेघवाल, केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत, केन्द्रीय खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति राज्यमंत्री श्री सीआर चौधरी, प्रदेश के गृहमंत्री श्री गुलाबचंद कटारिया, ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री श्री राजेन्द्र राठौड़, सार्वजनिक निर्माण मंत्री श्री यूनुस खान, जलदाय मंत्री श्री सुरेन्द्र गोयल, उद्योग मंत्री श्री राजपाल सिंह शेखावत, राजस्व राज्यमंत्री श्री अमराराम, ऊर्जा राज्यमंत्री श्री पुष्पेन्द्र सिंह, टीएडी राज्यमंत्री कमसा मेघवाल, गोपालन राज्यमंत्री श्री ओटाराम देवासी, सांसद श्री दुष्यंत सिंह, श्री रामनारायण डूडी, श्री कर्नल सोनाराम, श्री देवजी पटेल, राज्यसभा में मुख्य सचेतक श्री नारायण पंचारिया, विधायक श्री अशोक परनामी, श्री कैलाश चौधरी, श्री तरूण राय कागा, मुख्य सचिव श्री निहालचंद गोयल सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी एवं बड़ी संख्या में आमजन भी उपस्थित थे।