रामगोपाल का अहंकार नही चलने वाला – हरिओम यादव

0 रामगोपाल उनके विरोधी भाजपा के पूर्व मंत्री से मिले हुए हैं- विजय प्रताप
***************************************

फिरोजाबाद (विकास पालीवाल)— पोल खोल जिला सम्मेलन का आयोजन शिकोहाबाद के रामलीला मैदान में किया गया। सम्मलेन के मुख्य अतिथि सपा संरक्षक के समधी व सिरसागंज से सपा के बागी विधायक हरिओम यादव रहे।

सम्मेलन के आयोजक विधायक पुत्र व पूर्व जिला पंचायत पुत्र विजय प्रताप यादव थे। अध्यक्षता शिकोहाबाद के पूर्व पालिकाध्यक्ष रघुवरदयाल गुप्ता ने की । संचालन रामहरी यादव ठेकेदार ने किया।

सम्मलेन में सपा के राष्ट्रीय महासचिव राज्यसभा सांसद प्रोफ़ेसर रामगोपाल यादव व उनके सांसद पुत्र अक्षय यादव के खिलाफ जमकर विरोधी स्वर अपनाते हुए नेताओं ने भड़ास निकाली। वहीँ दोनों पिता- पुत्रों को कमीशनखोर तक कहा गया। वही भारी भीड़ देखकर विधायक गदगद दिखे। सम्मलेन में शिवपाल सिंह की पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के कई बड़े नेता मौजूद रहे।

सिरसागंज विधायक हरिओम यादव ने कहा कि सपा के राष्ट्रीय महासचिव रामगोपाल यादव द्वारा उनकी जांच कराने की मांग की जा रही है, लेकिन पहले वो अपनी जांच करवा ले। जो व्यक्ति सैफई में किसी समय में एक झोपडी में रहता था, उस पर इतनी संम्पति कहाँ से आ गयी?, यह जांच का बिषय है।

उन्होंने कहा कि ये प्रोफ़ेसर रावण के खानदान के लगते हैं। लेकिन अब इन प्रोफ़ेसर साहब का अहंकार नही चलने वाला है। फिरोजाबाद की जनता इनके साथ ही इनके सांसद पुत्र का भी अहंकार दूर कर देगी।

हरिओम यादव ने रामगोपाल पर हमलावर होते हुए कहा कि इनके पुत्र अक्षय यादव के सांसदी जितने के बाद जिले में अबैध शराब की गाड़ियाँ उतर रही हैं और यह सब कारोबार सिरसागंज के बीजेपी के एक पूर्व मंत्री के साथ में धड़ल्ले से चल रहा है। उन्होंने मंच से कहा कि इन दोनों पिता पुत्र के कमीशन के चक्कर में ही जेडा झाल की परियोजना अधर में अटकी पड़ी है।

यादव सिंह का 1100 करोड़ रुपया इन दोनों पिता पुत्र के पास है, सीबीआई की जसंच से बचने के लिए ही प्रोफ़ेसर भाजपा के कुछ लोगों से मिले हुए हैं। हरिओम यादव ने कहा कि वो गरीबों के साथ शोषण करने वालों के खिलाफ सीना तानकर खड़े हुए हैं। यहाँ की जनता स्वाभिमानी जनता है। आज की भीड़ ने दिखा दिया कि वो मेरे साथ है। 1996 की रैली के बाद आज यहाँ। का मैदान पूरा भरा दिख रहा है।

पूर्व जिप. अध्यक्ष विजय प्रताप सिंह यादव ( छोटू) ने कहा कि कई सालों से प्रोफ़ेसर रामगोपाल यादव का गुप्त समझौता उनके विरोधी भाजपा के पूर्व मंत्री जयवीर सिंह से रहा है। वो मेरे खिलाफ जिला पंचायत के अध्यक्षी चुनाव में शुरू से थे। साथ ही गुप्त षड्यंत्र के तहत दूसरे पक्ष से मिलकर उन्हें हरवाने का कुचक्र रचा। विजय प्रताप ने कहा कि जनता उनके साथ है, रामगोपाल कितना भी जोर लगा ले उनका करियर खराब नही कर सकते।

प्रोफ़ेसर का नाम लिए बिना छोटू ने कहा कि जिन लोगों ने मिलकर उनको जेल तक भिजवाने का काम किया , उसी दिन से उनको अहसास कराने व आगे ऐसे लोगों के खिलाफ सबक सिखाने का उनहोंने प्रण ले लिया था। प्रगतिशील समजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष पूर्व विधायक अज़ीम भाई ने अपने संबोधन में कहा कि मोदी योगी के अलावा फिरोजाबाद कि जनता इन पिता- पुत्रों (रामगोपाल व अक्षय) से काफी दुखी है।

मैनपुरी का एक विधायक इनका सेवक है, जो इनकी गर सुख सुविधा का पूरा ख्याल राल्हता है, जो किसी से छिपा नही है। उन्होंने लोगों से कहा कि यदि हरिओम यादव कमजोर हो गये तो तुमको कोई पूछने वाला नही हैं क्योंकि यही ऐसा व्यक्ति है जो जनता के साथ हर समय तैयार रहते हैं।

15 मई 2014 को इन्ही प्रोफ़ेसर ने पार्टी में रहते हुए उनके व परिवार के साथ पुलिस से मिलकर अत्याचार कराया, जेल भिजवाया तथा उनकी 70 साल की बूढी माँ के साथ तक अभद्रता करवाई। अज़ीम ने कहा कि वो नेताजी (मुलायम सिंह) को पीएम पद पर देखना चाहते हैं। जबकि ये नकली समाजवादी बसपा सुप्रीमो को प्राइम मिनिस्टर बनाने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि ये लडाई धर्म युद्ध है। 3 फरबरी को शिवपाल सिंह की रैली भी इसी मैदान पर होगी।

इस अवसर पर पूर्व मंत्री देवेन्द्र गुप्ता, जिला पंचायत सदस्य मातादीन धनकर, कमलेश यादव, गजेन्द्र सिंह यादव रोमी प्रधान, विधायक पुत्र राहुल यादव, राजेश यादव राजू, ठाकुर प्रदीप सिंह, ब्लॉक प्रमुख जुगेन्द्र सिंह यादव, मीना राजपूत, लालू यादव, पम्मी यादव, प्रसपा जिला उपाध्य्क्ष डॉ मनोज यादव, अवधेश यादव, संतोष उपाध्याय, प्रेमपाल सिंह, अजित लाला, अनवर सिंह, विक्रम कुशवाहा, नीरज, मंगल यादव, आचार्य सत्यदेव सिंह, सुनील यादव (सिरसागंज), चंचल यादव, नरेन्द्र, रजनीश यादव, रामनाथ यादव, राजेश यादव आदि मौजूद थे। सम्मेंलन के उपरान्त शिवपाल सिंह यादव को 2019 के लोकसभा चुनाव में यहाँ से प्रत्याशी बनाने का प्रस्ताव पारित किया।