मार्बल एवं ग्रेनाइट पर जीएसटी दरों में कटौती

जयपुर————– मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने मार्बल एवं ग्रेनाइट स्लैब एवं इससे बनी वस्तुओं, रेस्टोरेन्ट सेवाओं आदि के लिए माल एवं सेवा कर (जीएसटी) की दरों में कटौती कर राजस्थान के व्यवसायियों को बड़ी राहत दी है। उन्होंने कहा कि व्यापारियों के लिए कम्पोजिशन स्कीम तथा रिटर्न भरने के तरीके में बदलाव भी स्वागत योग्य निर्णय है।

श्रीमती राजे ने मार्बल, ग्रेनाइट के स्लैब एवं अन्य उत्पादों तथा सिरेमिक टाईल आदि पर जीएसटी दर 28 से घटाकर 18 प्रतिशत करने और मूंगफली तिलपट्टी, रेवड़ी पर दरें 18 से घटाकर 5 प्रतिशत करने तथा लाख की चूड़ियों को कर रहित करने और रेस्टोरेन्ट सेवाओं को जीएसटी से राहत देकर राजस्थान सरकार की मांग को स्वीकार करने पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का आभार व्यक्त किया।

श्रीमती राजे ने कहा कि ये निर्णय देश की अर्थव्यवस्था की प्रगति में तेजी लाने और इसे सुदृढ़ बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री, वित्त मंत्री श्री अरूण जेटली तथा जीएसटी परिषद के इस फैसले से प्रदेश के आमजन और कारोबार जगत को राहत मिली है। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ने मार्बल-ग्रेनाईट एवं तिलपट्टी-रेवड़ी, हैन्डीक्राफ्ट वस्तुओं आदि पर जीएसटी दरें घटाने के लिए पत्र लिखकर आग्रह किया था।

केन्द्रीय वित्त मंत्री श्री जेटली की अध्यक्षता में गुरूवार और शुक्रवार को गुवाहाटी में हुई जीएसटी परिषद की 23वीं बैठक में 200 से अधिक उत्पादों पर जीएसटी दरें घटाने का फैसला लिया गया है। इसमें कुल 227 लग्जरी वस्तुओं में से 177 पर जीएसटी की दर 28 प्रतिशत से घटाने पर सहमति हुई। नई टैक्स दरें 15 नवम्बर से लागू होंगी।

परिषद के निर्णय के अनुसार अब मात्र 50 लग्जरी उत्पाद ही 28 प्रतिशत टैक्स के दायरे में शामिल रहेंगे। शेष 177 वस्तुओं पर 18 प्रतिशत जीएसटी लागू होगा। इसके बाद प्लास्टर, माइका और टेम्पर्ड ग्लास, कार, मोटर साईकिल, फ्रिज, चॉकलेट, पान-मसाला, परफ्यूम, मेकअप सामान, शेविंग क्रीम, टूथपेस्ट, शैम्पू, पेन्ट, रबड टायर आदि उत्पाद सस्ते हो जायेंगे।

परिषद ने 13 वस्तुओं पर टैक्स दर 18 से घटाकर 12 प्रतिशत और 6 वस्तुओं पर 5 प्रतिशत की है। साथ ही, 8 उत्पादों पर टैक्स दर 12 से घटाकर 5 प्रतिशत और 5 वस्तुओं पर 5 से घटाकर शून्य कर दिया है।