परीक्षित – झारखंड ज्यूडिशियल सर्विसेज में चौथा रैंक पर

झज्जर/बहादुरगढ़ (गौरव शर्मा) —-लाइनपार वत्स कॉलोनी निवासी परीक्षित जो कि वर्तमान में भिवानी में ए.डी.ए. के पद पर कार्यरत है उन्होंने कड़ी मेहनत के बल पर झारखंड ज्यूडिशियल सर्विसेज में चौथा रैंक हासिल कर अपना, परिवार व क्षेत्र का नाम रोशन किया। परीक्षित ने अपनी इस सफलता के पीछे उन्हें प्रोत्साहित करने वालों का आभार भी जताया।
1
पिता सतीश कुमार ने बताया कि परीक्षित ने कानून की पढ़ाई रोहतक के महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय से की। एल.एल.बी. में वह गोल्ड मेडलिस्ट रहा और एल.एल.एम. में भी टॉपर रहा है। पी.एच.डी. की पढ़ाई पंजाब यूनिवर्सिटी से कर रहा है। उन्होंने बताया कि शुरू से ही परीक्षित ज्यूडिशियल सर्विसेज में जाना चाहता था और इसी मुकाम को पाने के लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की। जिसका परिणाम यह रहा है कि उन्होंने सफलता को प्राप्त कर लिया।

परीक्षित ने हरियाणा में भी ज्यूडिशियल की परीक्षा दी थी लेकिन इसमें कामयाब नहीं हुआ लेकिन उन्होंने अपना साहस नहीं छोड़ा और जो टारगेट बनाया था उसको लेकर और ज्यादा मेहनत की। हरियाणा में ए.डी.ए. की परीक्षा उत्तीर्ण करके अगस्त 2017 भिवानी में ए.डी.ए के पद के लिए चयनित हुआ। उन्होंने झारखंड ज्यूडिशियल सर्विसेज परीक्षा में चौथा रैंक हासिल कर अपना सपना साकार किया।

परीक्षित को अपनी दादी रामपति देवी, पिता सतीश कुमार, माता वैष्णो देवी व भाई दीक्षित के अलावा कर्नल देवेंद्र व सुशील का भी पूरा सहयोग मिला। दिल्ली पुलिस ट्रेनिंग सेंटर के लीगल एच.ओ.डी. मेहर सिंह राठी ने भी समय-समय पर उन्हें मार्गदर्शन किया। उनकी इस कामयाबी पर कई प्रशानिक व पुलिस अधिकारियों के अलावा विभिन्न संगठनों, संस्थाओं से जुड़े लोगों ने भी बधाई दी और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।