दिव्यांगजनों को स्मार्ट फोन, बाधा आने पर सावधान करेगी स्मार्ट केन

झज्जर, 6 दिसंबर। झज्जर जिला में दिव्यांगजनों के लिए अच्छी खबर है कि तकनीक के इस दौर में उनके लिए खास तौर पर तैयार किए उपकरण जिनमें मोटराइज्ड ट्राई साईकिल, व्हील चेयर, स्मार्ट केन व स्मार्ट फोन आदि उपलब्ध कराए जाएंगे।
1
झज्जर जिला में आगामी 9 नवंबर को हरियाणा में सीएसआर के तहत अब तक के सबसे बड़े विशाल कृत्रिम अंग व उपकरण वितरण कार्यक्रम का आयोजन होगा। करीब दो करोड़ रुपए की लागत से तैयार अत्याधुनिक उपकरण इस कार्यक्रम में दिव्यांगजनों को नि:शुल्क मिलेंगे।

भारत सरकार में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि होंगे। हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ कार्यक्रम की अध्यक्षता करेंगे। अरावली पावर कॉर्पोरेशन के सीएसआर कार्यक्रम के तहत जिला रेड क्रास सोसायटी व एलिम्को की ओर से आयोजित इस शिविर में जिला के 1100 से अधिक दिव्यांगजन लाभांवित होंगे।

जिला रेडक्रास सोसायटी की अध्यक्ष एवं उपायुक्त सोनल गोयल ने बताया की कार्यक्रम में आने वाले दिव्यांगजनों की हर सुविधा का ध्यान रखा गया है। दिव्यांगजनों व उनके सहायकों के आवागमन से लेकर सत्कार तक के लिए व्यापक तैयारी की जा रही है। उपायुक्त ने बुधवार को कार्यक्रम की तैयारियों को लेकर अधिकारियों की बैठक भी ली।

इस शिविर में दिव्यांग जनों को 215 स्वचालित ट्राइसाइकिल, 7 स्वचालित व्हील चेयर, 108 स्मार्ट फोन व 153 स्मार्ट केन आदि अत्याधुनिक उपकरण वितरित होंगे। नेत्रहीनों के लिए तैयार की गई स्मार्ट केन में लगे सेंसर मार्ग में आने वाली बाधा को लेकर तुरंत अलर्ट देंगे। इसी तरह स्मार्ट फोन में मौजूद फीचर भी दिव्यांगजनों द्वारा आसानी से इस्तेमाल हो सकेंगे।

मोटराइज्ड ट्राईसाईकिल व व्हील चेयर भी बिना किसी सहायक की मदद से दिव्यांगजन स्वयं इस्तेमाल कर सकेंगे। इसके अतिरिक्त भी शिविर में मिलने वाले अनेक उपकरण दिव्यांगों के इस्तेमाल में फ्रेंडली साबित होंगे।

मतदाता सूची शुद्धिकरण-———– जिला निर्वाचन अधिकारी श्रीमती सोनल गोयल ने बताया कि मतदाता सूची को त्रुटि रहित तैयार करने और मतदाता का नाम सूची से हटाने का कार्य भी सुचारू रूप से चलता रहेगा।

उपायुक्त सोनल गोयल ने आमजन से अपील की है कि लोकतंत्र को मजबूत करने के लिए वे बढचढ कर अपनी उपस्थिति दर्ज कराएं।

इस कार्य को सुचारू रूप से पूर्ण करने के लिए जिला के सभी सात सौ मतदान केंद्रों पर सात सौ बीएलओ नियुक्त किए गए हैं,इसके अतिरिक्त उक्त कार्य की मानिटरिंग करने के लिए 67 सुपरवाईजर नियुक्त किए गए हैं।