लहर में खुद मोदी नहीं बह रहे – डॉ. वेदप्रताप वैदिक

नई दिल्ली, अप्रैल  15:  डॉ. मुरलीमनोहर जोशी के बयान को टीवी चैनल और अखबार जोरों से ले उड़े हैं।  उनका इसमें क्या दोष है?  वह बयान ही ऐसा है।  यदि उस…

किन्नरों को तीसरे लिंग के रूप में मान्यता – सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली –  सुप्रीम कोर्ट ने किन्नरों को थर्ड जेंडर यानी तीसरे लिंग के रूप में मान्यता दे दी है। सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से किन्नरों को उनका हक…

2002 गुजरात दंगें : क्लीन चिट देने वाली एसआईटी जांच पर सवाल : याचिका पर सुनवाई करने से इनकार – सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्‍ली : बीजेपी के प्रधानमंत्री पद के उम्‍मीदवार और गुजरात के मुख्‍यमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए शुक्रवार का दिन बड़ी राहत लेकर आया। सुप्रीम कोर्ट ने 2002 गुजरात दंगों…

नर्सरी दाखिले पर रोक – सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली – दिल्ली में नर्सरी दाखिले पर एक बार फिर रोक लग गई है। सुप्रीम कोर्ट ने नर्सरी दाखिले पर रोक लगा दी है। सुप्रीम कोर्ट ने नर्सरी एडमिशन…

लोकसभा चुनाव : 17 अप्रैल खूनी संघर्ष की आशंका

लोकसभा चुनाव में खूनी संघर्ष की आशंका मुरैना  ( प्रमोद कुमार शर्मा ) – आगामी 17  अप्रैल  को लोकसभा के लिए होने जा रहे मतदान के दौरान खूनी संघर्ष की संभावनाऐं…

शक्ति मिल गैंगरेप केस : तीन दोषियों को फांसी – सेशंस कोर्ट

मुंबई। मुंबई की शक्ति मिल गैंगरेप केस में तीन दोषियों को अदालत ने फांसी की सजा सुनाई है। जबकि चौथे दोषी को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। पिछले साल…

आधार कार्ड की अनिवार्यता खत्म करने के आदेश – सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने आधार कार्ड पर ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए सरकार को इस कार्ड की अनिवार्यता खत्म करने के आदेश दिए हैं। इस आदेश में कहा गया है…

सर्च-कमेटी द्वारा तलाश लोकपाल के उम्मीदवारों को नियुक्ति चयन-समिति एकदम रद्द कर सकती है – डॉ. वेदप्रताप वैदिक

सरकार के दुर्भाग्य की भी कोई हद नहीं है। उसने अपना सिर क्या मुंडाया, उस पर दनादन ओले बरस रहे हैं। लोकपाल विधेयक तो उसने जैसे-तैसे पारित करवा लिया लेकिन…

शीर्ष अदालत के निर्णय पर पुनर्विचार:: 21 जनवरी का न्यायालय का निर्णय ‘स्पष्ट रूप से गैरकानूनी’ और त्रुटियों से भरा है – केंद्र सरकार

नई दिल्ली : केन्द्र सरकार ने दया याचिका के निबटारे में अनावश्यक विलंब को मौत की सजा को उम्रकैद में तब्दील करने का आधार बताने संबंधी शीर्ष अदालत के निर्णय…

पत्रकारों को एक ही झाड़ू से बुहारने का काम कोई अनाड़ी नेता ही कर सकता है – डॉ. वेदप्रताप वैदिक

‘एडीटर्स गिल्ड’ ने जनरल वी.के. सिंह और श्री अरविंद केजरीवाल की आलोचना की है। गिल्ड ने दोनों सज्जनों द्वारा की गई पत्रकारों की निंदा को अनुचित बताया है और कहा…

Powered By Indic IME

shiv