Category Archives: कविता

1

ग्रामीण कवि सम्मेलन— बात तो तब है जब मर जाए औरों के लिए…

फिरोजाबाद (विकासपालिवाल)————-शब्दम् संस्था एवं सर्वोदय स्थली, जलालपुर द्वारा आयोजित ग्यारहवें ग्रामीण कवि सम्मेलन में सम सामयिक रचनाओं की हवा चली। कार्यक्रम का प्रारम्भ मां सरस्वती के पूजन एवं वंदना के…

1

कवि सम्मेलन –मर्यादा खतरे में है कुछ कहा नहीं जाता….

फिरोजाबाद (विकासपालिवाल)—————ग्राम वासुदेवमई में सच्चोदेवी स्मृति तीन दिवसीय वासुदेवमई महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। इसके अंतर्गत प्रथम दिवस अखिल भारतीय कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि…

1

जिस नाम से गुरेज—-उस नाम से मशहूर हुए जा रहे हैं हम — डॉ.राखी अग्रवाल

बहादुरगढ़ (कृष्ण गोपाल विद्यार्थी )—- कलमवीर विचार मंच द्वारा आयोजित कवि सम्मेलन में शामिल कवियों ने श्रोताओं को घंटों मंत्रमुग्ध किया। मंच के संस्थापक कृष्ण गोपाल विद्यार्थी के सानिध्य में…

1

वॅलेंटाइन डे’—मनोज कुमार ‘मनु’

प्रेम रस से सींच, अपनी जीवन बगिया मह्काते रहिए खुशियों में गुज़रे हर पल, कुछ यों ‘वॅलेंटाइन डे’ मनाते रहिए सोमवार सांझ घर आते वक्त, एक गुलाब ले आना प्रेम…

मेरे चांद ००० मनोज कुमार ‘मनु’ (राजस्थान)

बाहर आ भी जाओ मेरे चांद है तुम पर तो कोई दाग़ नहीं चाँद ने कब निकलना छोङा है जबकि हैं उस पर दाग़ कई छुपना है तो छुपकर बैठो…

मिली जो नजर– मनोज कुमार ‘मनु'(राजस्थान)

उनकी नज़रों से मिली जो नज़र,मैं नज़र हटाना भूल गया डूबते ही गये गहराइयों में, मैं तैरकर साहिल पाना भूल गया दिल से दिल मिला कुछ यूँ ओरों से दिल…

1

काव्य गोष्ठी००००शर्म ते सिर झुक ज्यागा०००० विरेन्द्र कौशिक

ग़म के दरिया भी सूख जाएंगे तुम जो थोड़ा-सा मुस्कुराओ तो बहादुरगढ़ (कृष्ण गोपाल विद्यार्थी ) कलमवीर विचार मंच द्वारा मोहन नगर में एक काव्य गोष्ठी का आयोजन किया गया।…

नववर्ष–मनोज कुमार “मनु”

आने वाला नववर्ष, खुशियों की बरसात लाये सुख, शान्ति, समृद्धि, सफलता की सौगात लाये आतंंक ना हो कहीं, सर्वत्र शांति का राज हो विकसित हो संस्कृति, समृद्ध हर समाज हो…

मित्र की अभिलाषा ~~~ मनोज कुमार ‘मनु’

हर अंधेरे में मैं तेरा उजियारा बनूंगा लड़खड़ाये गदम तेरे तो सहारा बनूंगा तपती रेत पर न पड़ने दूँगा पाँव मैं तेरा बरगद की तेरे लिए शीतल छाँया बनूंगा तेरी…

कालेधन की विदाई- मनोज कुमार ‘मनु'( राजस्थान)

जिधर देखो वहाँ – वहाँ हर कोई भावुक हुआ जा रहा है कालेधन की विदाई पर देखो देश मेरा आँसू बहा रहा है प्रधानमंत्री रोए मंच पर संसद में रो…

Powered By Indic IME