80 लोकसभा क्षेत्रों में –100-100 दिव्यांगजन को मोटराइज्ड ट्राईसाइकिल देने की घोषणा —मुख्यमंत्री योगी

गरीब कन्याओं की सामूहिक विवाह कराने का निर्णय

लखनऊ :—-उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के 80 लोकसभा क्षेत्रों में 100-100 दिव्यांगजन को मोटराइज्ड ट्राईसाइकिल देने की घोषणा की है।
1

उन्होंने दिव्यांगजन का यूनीवर्सल परिचय पत्र तैयार करने के लिए समिति गठित करने तथा जिला अस्पताल में प्रत्येक सोमवार को कैम्प आयोजित कराने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने यह निर्देश आज जनपद गोरखपुर के पंडित दीनदयाल उपाध्याय विश्वविद्यालय में सामाजिक अधिकारिता शिविर में आयोजित कार्यक्रम में अपने विचार व्यक्त करते हुए दिए।

इस अवसर पर उन्होंने 14 दिव्यांगजन को ट्राईसाइकिल एवं व्हीलचेयर तथा अन्य उपकरण वितरित किए। इसके अलावा, एडिप योजना तथा वयोश्री योजना के तहत 4115 बुजु़र्गों को 2.21 करोड़ रुपए की लागत के 7072 उपकरण वितरित किए गए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि दिव्यांगजन को जन्म से बोझ समझा जाता है, परन्तु इस प्रकार के शिविर के माध्यम से हम दिव्यांगजन को भी सशक्त बना रहे हैं। मोटराइज्ड ट्राइसाइकिल से दिव्यांग न केवल अपना, बल्कि पूरे परिवार का भरण-पोषण रोजगार के माध्यम से कर सकेंगे।

योगी जी ने कहा कि भारत सरकार द्वारा पारित एक्ट के तहत प्रदेश सरकार नौकरियों में दिव्यांगों को 3 के स्थान पर 4 प्रतिशत आरक्षण दे रही है। प्रदेश सरकार दिव्यांगों को 300 रुपये के स्थान पर 500 रुपये की पेंशन दे रही है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश में दिए जाने वाले मोटराइज्ड ट्राइसाइकिल का अनुदान भी प्रदेश सरकार वहन करेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्वी उत्तर प्रदेश जापानी इंसेफलाइटिस से प्रभावित रहता है, इसमें तमाम बच्चे दिव्यांग हो जाते हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी तथा केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डाॅ0 थावरचन्द गहलोत को धन्यवाद दिया कि दिव्यांगजन के लिए गोरखपुर में केन्द्रीय पुनर्वास केन्द्र स्वीकृत किया गया है।

बी0आर0डी0 मेडिकल काॅलेज में इसके लिए भूमि भी उपलब्ध करा दी गई है। इसके निर्माण के बाद यहां के दिव्यांगजन को बेहतर सुविधा मिल सकेगी।

उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने गरीब कन्याओं की सामूहिक विवाह कराने का निर्णय लिया है। इसके लिए प्रत्येक शादी पर 35 हजार रुपये आर्थिक सहायता दी जाएगी।

इस मौके पर मुख्यमंत्री जी ने रामकिशुन को व्हीलचेयर, पूनम तथा हरिगोपाल को इको फ्रैण्डली मोटराइज्ड ट्राइसाइकिल, मोहन और सतनी को चश्मा, भानुमति को सुनने की मशीन, जयकिशोर को दांत का सेट वितरित किया। उन्होंने विधायकों से कहा कि ब्लाॅकवार दिव्यांगों को उपकरण स्वयं वितरित करें।

राष्ट्रीय वयोश्री योजना के अन्तर्गत एल्मिको द्वारा 2446 पूर्व चिन्हित लाभार्थियों को लगभग 94 लाख रुपए के 4487 नित्य जीवन सहायक उपकरण 225 फोल्डिंग व्हील चेयर, 75 बैसाखी, 603 वाॅकिंग स्टिक, 17 फोल्डिंग वाॅकर, 950 बी0टी0ई0 (कान की मशीन), 627 ट्राईपाॅड,168 टेट्रापाॅड,973 चश्मा, 849 कृत्रिम दंत भी वितरित किए गए।

एडिप योजना के अन्तर्गत एल्मिको द्वारा 1669 पूर्व चिन्हित लाभार्थियों को लगभग 123 लाख रुपए के 2585 दिव्यांग सहायक उपकरण वितरित किए गए। इनमें 685 ट्राईसाइकिल, 236 फोल्डिंग व्हील चेयर, 7 सी0पी0 चेयर, 489 बैसाखी, 135 वाॅकिंग स्टिक, 50 ब्रेल केन, 11 ब्रेल किट, 150 स्मार्ट केन, 17 रोलेटर, 309 बी0टी0ई0 (कान की मशीन), 130 एम0एस0आई0डी0 किट, 48 स्मार्ट फोन, 39 डेजी प्लेयर, 03 ए0डी0एल0 किट, 276 कृत्रिम अंग एवं कैलिपर्स आदि शामिल हैं।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गहलोत ने कहा कि अब सभी दिव्यांगजन को यूनीवर्सल परिचय पत्र दिए जाएंगे, जो पूरे देश में मान्य होगा।

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गठित समिति इनका वितरण कराएगी। पहले दिव्यांगजन की केवल 07 श्रेणियां थी, अब इन्हें 21 श्रेणियों में विभाजित किया गया है। इससे सभी को सहायता मिल सकेगी।

उन्होंने कहा कि जर्मनी से सहयोग प्राप्त करके हाथ-पैर से दिव्यांगजन के लिए इलेक्ट्राॅनिक हाथ-पैर बनाए जा रहे हैं,जिससे आदमी अपना प्रत्येक काम कर सके। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी जिलाधिकारी अपने जिले में दिव्यांगजन का सर्वे कराएं, ताकि शिविर आयोजित कर उन्हें उपकरण दिए जा सकें।

श्री गहलोत ने कहा कि अब तक 1.50 लाख दिव्यांगजन को रोजगार के लिए ऋण दिया जा चुका है। इस अवसर पर उन्होंने स्पर्श एवं दृष्टिबाधित राजकीय बालक काॅलेज के छात्रों को सरस्वती वंदना एवं स्वागत गीत प्रस्तुत करने पर 11 हजार रुपए का पुरस्कार भी प्रदान किया।

कार्यक्रम का शुभारम्भ मुख्यमंत्री जी ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया। उन्होंने श्री थावरचंद गहलोत को ‘2019 कुम्भ‘ का ‘लोगो’ स्मृति चिन्ह के रूप में भेंट किया। गोरखपुर के महापौर श्री सीता राम जायसवाल ने सभी का स्वागत किया। जिलाधिकारी श्री राजीव रौतेला ने धन्यवाद ज्ञापित किया। समारोह का संचालन प्रो0 अजय शुक्ला ने किया।

इस अवसर पर सांसद, विधायक एवं अन्य जनप्रतिनिधिगण, कुलपति प्रो0 बी0के0 सिंह, उ0प्र0 उच्चतर सेवा आयोग के अध्यक्ष प्रो0 ईश्वर शरण विश्वकर्मा, प्रमुख सचिव सूचना श्री अवनीश कुमार अवस्थी सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी तथा एल्मिको के प्रबन्धक एवं पदाधिकारीगण उपस्थित थे।