44 हजार हितग्राही महिलाओं के घर उज्जवला

बेमेतरा (छत्तीसगढ)—————— जिले में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना अंतर्गत 43889 हितग्राहियों को गैस सिलेण्डर और चुल्हा वितरण किया गया है। उल्लेखनीय है कि केन्द्र सरकार द्वारा 1 मई 2016 से शुरू की गई इस योजना का उद्देश्य गरीब परिवार की महिलाओं को चुल्हे से मुक्ति दिलाकर उन्हें स्वच्छ ईंधन उपलब्ध कराना है। इसके लिए शासन द्वारा उन्हें मुफ्त गैस कनेक्शन दिया जा रहा है।

प्रदेश में पात्र महिलाओं को मात्र 200 रूपए के अंशदान पर डबल बर्नर चुल्हा, भरा हुआ गैस सिलेण्डर और रेग्युलेटर भी दिया जा रहा है। जिले के थानखम्हरिया तहसील के ग्राम टिपनी निवासी श्रीमति रूखमणी साहू प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत गैस चुल्हा और सिलेण्डर प्राप्त कर अपनी कामयाबी पर खुश हुई।

उन्होंने गांव की अन्य महिलाओं को योजना से लाभान्वित होते देख स्वयं भी इससे जुड़ने रायपुर जाकर मुख्यमंत्री जनदर्शन में प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत गैस चुल्हा और सिलेण्डर के लिए आवेदन प्रस्तुत किया था। चूंकि श्रीमति रूखमणी साहू का निवास ग्राम बेमेतरा जिले में होने के कारण उनका आवेदन खाद्य विभाग बेमेतरा में रिमार्क किया गया था। खाद्य विभाग द्वारा श्रीमति रूखमणी साहू के आवेदन को परीक्षण उपरांत उसे योजना के तहत पात्र पाये जाने पर उन्हें थानखम्हरिया स्थित दिनकर गैस एजेन्सी के माध्यम से गैस सिलेण्डर एवं चुल्हा उपलब्ध कराया गया।

रूखमणी साहू ने प्रधानमंत्री उज्जवला योजना से जुड़ने पर खुशी का ईजहार करते हुए बताया कि लकड़ी और कंडे की धुंए की वजह से उन्हें परिवार के लिए भोजन पकाने में काफी दिक्कतें होती थी। वहीं समय पर परिजनों के लिए भोजन तैयार नहीं हो पाता था। उनके परिजन खेती-किसानी से जुड़े है और बच्चे स्कूल जाते है। अब सबके लिए जल्द नाश्ते और भोजन तैयार करने में सहुलियत हो रही है।

पूछने पर रूखमणी ने बताया कि वह गैस चुल्हा का उपयोग करने पहले से सीख चुकी है। अब उन्हें चुल्हा जलाने लकड़ी-कण्डे की व्यवस्था और सबसे बड़ी समस्या धुंए की परेशानी से मुक्ति मिलेगी। उन्होंने महिलाओं की सेहत के लिए सरकार द्वारा संचालित उज्जवला योजना को लाभकारी बताते हुए शासन द्वारा सभी पात्र ग्रामीण महिलाओं को योजना से लाभान्वित करने की बातें कही। साथ ही प्रसन्नता पूर्वक उन्होंने शासन-प्रशासन के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।