बोनस तिहार–एक लाख 58 हजार से ज्यादा किसानों को लगभग 239 करोड़ 94 बोनस

रायपुए——————मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह कल 10 अक्टूबर को बालोद जिले के गुण्डरदेही और जिला मुख्यालय दुर्ग में आयोजित बोनस तिहार में शामिल होंगे। डॉ. सिंह दोनों जिलों के एक लाख 58 हजार से ज्यादा किसानों को लगभग 239 करोड़ 94 1लाख रुपए से ज्यादा का धान बोनस ऑनलाइन वितरित करेंगे। इनमें बालोद जिले के 92 हजार 615 किसान भी शामिल हैं, जिन्हें करीब 134 करोड़ रूपए का बोनस मिलेगा। दुर्ग के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री जिले के 66 हजार किसानों को 106 करोड़ रूपए का बोनस देंगे।

डॉ. सिंह निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार रायपुर से पूर्वान्ह 11 बजे हेलीकॉप्टर से रवाना होकर 11.30 बजे गुण्डरदेही पहुंचेंगे और बोनस तिहार में किसानों को धान बोनस और विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को सामग्री और अनुदान सहायता राशि के चेक वितरित करेंगे।

मुख्यमंत्री दोपहर 2 बजे दुर्ग पहुंचेंगे और वहां नई कृषि उपज मण्डी प्रांगण में आयोजित बोनस तिहार में शामिल होने के बाद अपरान्ह 3.40 बजे रायपुर लौट आएंगे। दोनों जिलों के कार्यक्रमों में मुख्यमंत्री 329 करोड़ रूपए से ज्यादा के तीन हजार 301 निर्माण कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन करेंगे, जिनमें बालोद जिले के तीन 150 गरीब परिवारों के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत निर्मित मकानों का लोकार्पण भी शामिल है।

मुख्यमंत्री दुर्ग स्थित नई कृषि उपज मंडल प्रांगण में 24 करोड़ 49 लाख रुपए की लागत से प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत करहीडीह में बनने वाले 516 आवासों का शिलान्यास करेंगे। डॉ. सिंह बालोद जिले के गुण्डरदेही में 92 हजार 615 किसानों को 133.94 करोड़ रुपए का धान बोनस और दुर्ग में 66 हजार किसानों को 106 करोड़ रुपए का धान बोनस वितरित करेंगे। डॉ. सिंह गुण्डरदेही में आयोजित कार्यक्रम में 130 करोड़ 19 लाख रुपए की लागत के तीन हजार 230 कार्यों का लोकार्पण, शिलान्यास और भूमिपूजन करेंगे।

दुर्ग में आयोजित बोनस तिहार में मुख्यमंत्री 199 करोड़ रुपए की लागत के 71 निर्माण कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन करेंगे। मुख्यमंत्री वहां राज्य और केन्द्र सरकार की विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत 4 हजार 600 हितग्राहियों को 15 करोड़ 31 लाख रुपए मूल्य की सामग्री और अनुदान सहायता राशि के चेक वितरित करेंगे।

डॉ. रमन सिंह गुण्डरदेही में आयोजित कार्यक्रम में 45 करोड़ 68 लाख रूपए लागत के 3,187 विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण और 84 करोड, 51 लाख रूपए लागत से बनने वाले 43 विभिन्न निर्माण कार्यों का शिलान्यास करेंगे। मुख्यमंत्री डॉ. सिह जिन कार्यों का लोकार्पण करेंगे, उसमें चार करोड़ रूपए लागत से टटेंगा-औरी मार्ग में खरखरा नदी पर निर्मित उच्च स्तरीय पुल मय पहुॅच मार्ग, एक करोड़ तेरह लाख रूपए लागत से डौण्डीलोहारा में निर्मित कन्या छात्रावास भवन, 19.39 लाख रूपए लागत के ग्राम कुसुमकसा में अटल समरसता भवन, 19.39 लाख रूपए लागत के ग्राम अरकार में अटल समरसता भवन और प्रधानमंत्री आवास योजना(ग्रामीण) के तहत 37 करोड़ 80 लाख रूपए की लागत से निर्मित 3,150 आवास प्रमुख रूप से शामिल हैं।

वे जिन निर्माण कार्यों का शिलान्यास करेंगे, उसमें 11 करोड़ 42 लाख रूपए लागत के गोटुलमुड़ा चिखली से बोरगॉव पटेली मार्ग, 10 करोेड़ 85 लाख 62 हजार रूपए की लागत के दुधली से सुरेगॉव मार्ग, नौ करोड़ 77 लाख रूपए की लागत के सिकोसा से बेलौदी मार्ग, आठ करोड़ 86 लाख रूपए की लागत के मोहंदीपाट से जेवरतला मार्ग और सात करोड़ 36 लाख रूपए की लागत के लाटाबोड़ से चारवाही मार्ग प्रमुख रूप से शामिल हैं। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह इस अवसर पर हितग्राहियों को हितग्राहीमूलक सामग्री और चेक भी प्रदान कर लाभान्वित करेंगे।

मुख्यमंत्री दुर्ग में आयोजित कार्यक्रम में पूर्ण हो चुके लगभग 34 करोड़ रुपए के 35 निर्माण कार्यों का लोकार्पण और लगभग 165 करोड़ रुपए के 37 नये स्वीकृत निर्माण कार्यों का भूमिपूजन करेंगे। डॉ. सिंह जिन कार्यों का लोकार्पण करेंगे, उनमें प्रमुख रूप से 9 करोड़ 92 लाख रुपए की लागत से सहदेव एनीकट, 5 करोड़ 7 लाख की लागत से तिरगा एनीकट, 2 करोड़ 14 लाख रुपए की लागत से आईटीआई भिलाई के लिए 100 सीटर छात्रावास भवन, एक करोड़ 77 लाख रुपए की लागत से कोड़िया डायवर्सन नहर लाईनिंग एवं जीर्णोद्धार कार्य और एक करोड़ 40 लाख रुपए की लागत से दानवीर तुलाराम शासकीय कॉलेज उतई में 8 अतिरिक्ति कक्ष निर्माण शामिल हैं।

भूमिपूजन के बड़े कामों में 28 करोड़ 87 लाख रुपए की लागत से प्रस्तावित कोहका माईनर मेन केनाल से नंदिनी रोड तक सड़क निर्माण एवं सौंदर्यीकरण, 24 करोड़ 49 लाख रुपए की लागत से प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत करहीडीह में 516 नग आवास निर्माण, 17 करोड़ 26 लाख रुपए की लागत से प्रयास आवासीय विद्यालय दुर्ग का भवन निर्माण, 13 करोड़ 45 लाख की लागत से संभागीय मुख्यालय में ऑडिटोरियम निर्माण और 10 करोड़ 6 लाख रुपए की लागत से दुर्ग विकासखण्ड के धनोरा में आवासीय कॉलेज का निर्माण शामिल है।

दुर्ग के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री 4 हजार 600 हितग्राहियों को लगभग 15 करोड़ रुपए की लागत से सामग्री और चेक वितरित करेंगे। इनमें प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत एक हजार हितग्राहियों को गैस कनेक्शन, श्रम विभाग की ओर से 277 नग सायकिल वितरण और 2002 हितग्राहियों को 72 लाख रुपए की लागत का चेक शामिल हैं। इनमें राजमात विजयाराजे सिंधिया कन्या विवाह योजना, भगिनी प्रसूति सहायता योजना और नौनिहाल छात्रवृत्ति योजना के हितग्राही शामिल हैं।

कार्यक्रम में मछलीपालन विभाग द्वारा 19 हितग्राहियों को आईस बॉक्स और 5 मछुआरों को जाल वितरण, कृषि विभाग द्वारा सूखा प्रभावित 460 किसानों को मिनीकीट वितरण, 24 किसानों को स्प्रेयर वितरण और 16 किसानों को शाकम्भरी योजना के अंतर्गत डीजल पम्प वितरित किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ महिला कोष और सक्षम योजना के अंतर्गत 19 हितग्राहियों को 5 लाख 70 हजार का ऋण, अंत्योदय स्वरोजगार योजना के तहत 29 लोगों को 5 लाख 80 हजार के ऋण, उद्यानिकी विभाग द्वारा दुर्ग शहर में एक सौ वेजीटेबल ग्रोविंग कीट, ऑयल पाम मिनी मिशन योजना के अंतर्गत छह हितग्राही को एक लाख 74 हजार रूपए की सामग्री, प्राकृतिक आपदा पीड़ित 5 हितग्राहियों को 20 लाख की आर्थिक सहायता राशि के चेक, सौर सुजला योजना के अंतर्गत 52 किसानों को 2 करोड़ 12 लाख की अनुदान सामग्री, स्टेण्ड अप इण्डिया के अंतर्गत 5 हितग्राहियों को एक करोड़ 36 लाख के ऋण, मुद्रा योजनाके अंतर्गत 516 हितग्राहियों को 9 करोड़ 86 लाख रुपए के ऋण और राष्ट्रीय आजीविका मिशन के अंतर्गत 32 लाख रुपए का ऋण वितरित किया जाएगा।