मंत्रिमंडलीय निर्णय

हिमाचल प्रदेश ————- मंत्रिमण्डल की आयोजित बैठक में राज्य सरकार के महिला कर्मचारियों को मिलने वाले मातृत्व अवकाश को मौजूदा 135 दिनों से बढ़ाकर 180 दिन करने का निर्णय लिया गया।

बैठक की अध्यक्षता मुख्यमंत्री श्री वीरभद्र सिंह ने की।

मंत्रिमण्डल ने मुकदमेबाजी को कम करने तथा अनुत्पादक मुकदमों पर परिहार्य लागत को बचाने के उददेश्य से सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग में त्रिस्तरीय ‘विवाद समाधान प्रक्रिया’ स्थापित करने का निर्णय लिया। यह निर्णय ठेकेदारों और विभाग के मध्य अथवा दो या दो से अधिक पार्टियों के बीच विवादों को सुलझाने में एक प्रभावी तरीके के रूप में देखा जा रहा है।
1
मंत्रिमण्डल ने स्कूल प्रबन्धन समिति के अन्तर्गत ‘स्पेशल एजुकेटरस’ के लिए अनुबन्ध आधार पर नियुक्त जुनियर बेसिक प्रशिक्षित (जेबीटी) शिक्षकों के समान नीति बनाने को स्वीकृति प्रदान की।

अन्य महत्वपूर्ण निर्णयः-

मंत्रिमण्डल ने प्रतिष्ठित खिलाड़ियों के लिए तीन प्रतिशत आरक्षण के तहत सीधी भर्ती से विशेष मामले के तौर पर शिमला ग्रामीण विधानसभा क्षेत्र से भारतीय महिला क्रिकेट टीम की विकट किपर सुषमा देवी को हिमाचल प्रदेश पुलिस सेवा में डीएसपी के पद पर नियुक्त करने को अपनी मंजुरी प्रदान की।

मंत्रिमण्डल ने मण्डी जिले के नेर चौक में हि.प्र. लोक निर्माण विभाग का नया मण्डल खोलने तथा इस मण्डल के संचालन के लिए विभिन्न श्रेणी के 20 पदों के सृजन को भी स्वीकृति दी।

मण्डी जिले के नेर चौक के बल्ह में आवश्यक पदों के सृजन सहित तहसील कल्याण कार्यालय खोलने का निर्णय।

मण्डी जिले में आवश्यक स्टाफ के सृजन सहित पुलिस स्टेशन धर्मपुर के अन्तर्गत टिहरा में पुलिस पोस्ट खोलने को मंजूरी।

कांगड़ा के लगडू तथा शिमला जिला के मड़ावग में आवश्यक 12 पदों सहित पुलिस पोस्टें खोलने का निर्णय।

कांगड़ा जिला के शिक्षा खण्ड धर्मशाला की ग्राम पंचायत भिटालु के कूट गांव में प्राथमिक पाठशाला खोलने की स्वीकृति।

सोलन जिला के शिक्षा खण्ड नालागढ़ की ग्राम पंचायत भोजपुर के झीड़ीवाला में प्राथमिक पाठशाला खोलने का निर्णय।

मण्डी जिला के शिक्षा खण्ड द्रंग-2 के गांव रोपाड़ा, शिक्षा खण्ड सदर-1 के धनोग गांव तथा शिक्षा खण्ड करसोग-2 के कण्डी गांव में प्राथमिक पाठशालाएं खोलने की मंजूरी।
सोलन जिला के प्रारम्भिक शिक्षा खण्ड कुठाड़ का विभाजन कर पट्टा महलोग में प्रारम्भिक शिक्षा खण्ड कार्यालय के सृजन का निर्णय।

हमीरपुर जिला की उप तहसील गलोड़ को तहसील में स्तरोन्नत करने तथा भोटा में नई उपतहसील खोलने का निर्णय।

मण्डी जिले की करसोग तहसील के खील में नये पटवार वृत के सृजन को मंजूरी।
मण्डी जिला के अन्तर्गत रोसो पटवार वृत को सरकाघाट तहसील से बाहर कर उप तहसील टिहरा में शामिल करने तथा पटवार वृत गैहरा तथा मड़ी को धर्मपुर तहसील से बाहर कर तहसील सन्धोल में शामिल करने का निर्णय।

कुल्लू जिला के पटवार वृतों दलाश तथा काण्डा (फटी वयूंगल) को उप तहसील निथर से बाहर कर आनी तहसील में शामिल करने का फैसला।

मुख्यमंत्री आरोग्य पशुधन योजना के अन्तर्गत 5 वर्ष का सेवाकाल पूरा करने वाले 530 ग्राम पंचायत बैटनरी सहायकों को अनुबन्ध आधार पर परिवर्तित करने का निर्णय।
हमीरपुर जिला की ग्राम पंचायत धलचेड़ा के गांव धलचेड़ा तथा ग्राम पंचायत ग्याराग्रां के गांव चम्बेह में प्रत्येक में चार पदों के सृजन सहित नए आयुर्वेद स्वास्थ्य केन्द्र खोलने का निर्णय।

मण्डी जिला के करसोग में राजकीय बहुतकनीकी संस्थान की स्थापना का निर्णय।
उरणी में राजकीय पॉलिटैक्निक की स्थापना के लिए मैर्सज हिमाचल बास्पा पॉवर कम्पनी लि0 के निजी भवन के अधिग्रहण का निर्णय।

स्वास्थ्य क्षेत्र

राजकीय मैडिकल कॉलेजों में राज्य कोटा सीटों के अन्तर्गत स्नातकोत्तर (एमडी/एमएस) कोर्स में एकल बालिका के लिए एक सीट आरक्षित करने का निर्णय।

चम्बा जिला के मसरूंड में आवश्यक स्टाफ सहित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोलने का निर्णय।

मुख्यमंत्री की घोषणाओं के अनुरूप कुल्लू जिला के जगातखाना, बागीपुल, ग्राम पंचायत राहणु के उरटू, आनी के लूहरी तथा घाटू में आवश्यक पदों के सृजन सहित प्रत्येक में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र खोलने का निर्णय।

सोलन जिला की ग्राम पंचायत मांगल के बागा तथा केदार स्वास्थ्य उप केन्द्रों को तीन पदों के सृजन सहित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में स्तरोन्नत करने की मंजूरी प्रदान।
मण्डी जिला के स्वास्थ्य उप केन्द्र चौक को आवश्यक स्टाफ सहित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्तरोन्नत करने की स्वीकृति प्रदान।

रिक्तियां

मंत्रिमण्डल ने जिला सोलन, मण्डी, सिरमौर, शिमला, बिलासपुर तथा कुल्लू की नव स्तरोन्न्त पाठशालाआें में शिक्षकों के विभिन्न पदों के सृजन व भरने को स्वीकृति प्रदान की।

बैठक में अनुबन्ध आधार पर सीधी भर्ती से सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग में सहायक अभियन्ता (यांत्रिकी) का एक पद तथा सहायक अभियन्ता (सिविल) के 9 पद भरने को स्वीकृति दी गई।

मंत्रिमण्डल ने अनुबन्ध आधार पर कोष, लेखा तथा लॉटरी विभाग में कनिष्ठ कार्यालय सहायक (आईटी) के 50 पद, नगरोटा बगवां स्थित राजीव गांधी राजकीय इंजीनियरिंग कालेज कांगड़ा में वास्तुकार संकाय में 11 गैर-शैक्षणिक पद तथा 11 शैक्षणिक पद, नगरोटा बगवां स्थित राजकीय फार्मेसी कालेज कांगड़ा में अनुबन्ध आधार पर सहायक लाईब्रेरियन का एक पद तथा सहायक प्रोफेसर फार्मेसी के 3 पद, जिला चम्बा के राजकीय डिग्री कालेज पांगी में अनुबन्ध आधार पर सहायक प्रोफेसर के 6 पद तथा सहायक लाईब्रेरियन का एक पद के सृजन, जिला मण्डी के राजकीय डिग्री कालेज थाची में विभिन्न श्रेणियों के 18 पदों तथा सहायक लाईब्रेरियन के एक पद के सृजन व भरने, जिला सिरमौर के नारग के राजकीय डिग्री कालेज में 18 पदों व सहायक लाईब्रेरियन के एक पद के सृजन व भरने को स्वीकृतियां प्रदान की।

बैठक में सिस्टर निवेदिता राजकीय नर्सिंग कालेज शिमला में विभिन्न शैक्षणिक श्रेणियों के वेतनमानों को भावी प्रभाव से संशोधित करते हुए सहायक निदेशक नर्सिंग को प्रोफेसर एवं प्राचार्या के समकक्ष, नर्सिंग प्रधानाचार्य को रीडर एवं सहायक प्रोफेसर के बराबर, प्रधानाचार्य नर्सिंग अधिकारी को प्रवक्ता तथा सिस्टर टयूटर को टयूटर एवं क्लीनिकल इंस्ट्रक्टर के समकक्ष करने को स्वीकृति प्रदान की गई। इसके अतिरिक्त, कालेज में एसोसिएट प्रोफेसर का एक पद तथा प्रवक्ता का एक पद सृजित करने का भी निर्णय लिया गया।

मंत्रिमण्डल ने नेरचौक में बनने वाले राजकीय नर्सिंग कालेज के लिए विभिन्न श्रेणियों के 21 पद सृजित करने, आबकारी एवं कराधान विभाग में नियमित आधार पर सीधी भर्ती से आबकारी एवं कराधान अधिकारियों के 16 पद भरने, जिला कांगड़ा के रैत स्थित ‘एप्रोप्रिएट टैक्नोलॉजी सैंटर’ में वैज्ञानिक अधिकारी का एक पद, वरिष्ठ वैज्ञानिक सहायक/वरिष्ठ तकनीकी सहायक का एक पद, डाटा एंटरी ऑपरेटर का एक पद, मास्टर प्रशिक्षक का एक पद तथा सेवादार का एक पद भरने, सचिवालय प्रशासन विभाग में अनुबन्ध आधार पर विधि अधिकारियों के 5 पद भरने को स्वीकृति प्रदान की।

बैठक में चौपाल क्षेत्र के दुर्गम क्षेत्रों के लोगों के लिए कुपवी में विकास खण्ड, चौपाल में निजी रूप से संचालित बिजेश्वर संस्कृत कालेज सरैण को स्टाफ तथा पदों के सृजन सहित सरकारी नियंत्रण में लेने का निर्णय लिया गया।

मंत्रिमण्डल ने कुपवी खण्ड की ग्राम पंचायत मझोली के अशधार में प्राथमिक पाठशाला, चौपाल की ग्राम पंचायत मशरोह के सीर, कुपवी की ग्राम पंचायत धार चानना के दलोड़ी गांव में नई प्राथमिक पाठशालाएं खोलने को स्वीकृति प्रदान की।

बैठक में पदों के सृजन सहित जिला शिमला की ग्राम पंचायत किरण के कायोथोली में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, धार चानना में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, ग्राम पंचायत खुंडनेवल के इड्डा में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, नेरवा के देइया धोची में स्वास्थ्य उप-केन्द्र, चौपाल की ग्राम पंचायत झिन्ना के भोट में स्वास्थ्य उप-केन्द्र खोलने तथा चौपाल की ग्राम पंचायत बिजमल के स्वास्थ्य उप-केन्द्र बिजमल को प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में स्तरोन्नत करने का निर्णय लिया गया।

मंत्रिमण्डल ने जिला शिमला के चौपाल क्षेत्र की विभिन्न स्तरोन्नत पाठशालाओं के लिए विभिन्न श्रेणियों के आवश्यक पदों के सृजन तथा भरने को स्वीकृति प्रदान की। इन पाठशालाओं में राजकीय माध्यमिक पाठशाला रोपड़ी, लच्छोग तथा माध्यमिक पाठशाला समुही शामिल हैं। इसके अतिरिक्त, हाल ही में माध्यमिक पाठशालाओं से उच्च पाठशालाओं में स्तरोन्नत की गई कराटी तथा बंदुर पाठशालाओं में पदों को भरने का निर्णय लिया गया। वरिष्ठ माध्यमिक पाठशालाओं में स्तरोन्नत की पाठशालाओं में जुबड़, गिनयाह, रिंजत, भरान तथा धोटाली शामिल है।