100वें उपग्रह का अंतरिक्ष में प्रक्षेपण– वैज्ञानिक संदीप सिंह चौहान

नई दिल्ली: भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने शुक्रवार को एक और इतिहास रचते हुए अपने 100वें उपग्रह का अंतरिक्ष में प्रक्षेपण किया.
sandeep-2
इस सफल प्रक्षेपण में रामपुर के डा. संदीप ने अहम भूमिका निभाई है. जिसमें रामपुर के युवा वैज्ञानिक डा. संदीप चौहान और उनकी टीम ने इस राकेट की फर्स्ट एंड थर्ड स्टेज ही नहीं लांचिंग पैड भी तैयार किया था.

चेन्नई से 110 किलोमीटर दूर स्थित श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केंद्र से इस 100वें उपग्रह के साथ 30 अन्य उपग्रह भी अंतरिक्ष में प्रक्षेपित किए गए.

अपने इस 42वें मिशन के लिए इसरो ने भरोसेमंद कार्योपयोगी ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान पीएसएलवी-सी40 को भेजा, जो कार्टोसेट-2 श्रृंखला के उपग्रह और 30 सह-यात्रियों (जिनका कुल वजन करीब 613 किलोग्राम है) को लेकर सुबह 9 बजकर 28 मिनट पर उड़ान भरी.

छोटे से शहर रामपुर के वैज्ञानिक संदीप सिंह चौहान ने मिशन चन्द्रयान से इसरों में अपनी पारी की शुरूआत की थी.