हर आविष्कार के पेटेंट के लिए मार्गदर्शन

रायपुर—(छत्तीसगढ)———-राज्य के प्रतिभावान युवाओं और नागरिकों को राजधानी रायपुर में ही विज्ञान और तकनीकी विषयों सहित ज्ञान-विज्ञान के किसी भी क्षेत्र में अपने आविष्कारों को पेटेंट करवाने के लिए मार्ग दर्शन सहित अन्य जरूरी सुविधाएं दी जा रही है।

छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद द्वारा राजधानी रायपुर के विधानसभा मार्ग स्थित विज्ञान केन्द्र में इसके लिए पेटेंट सुविधा केन्द्र की स्थापना की गई है।

परिषद के अधिकारियों ने आज यहां बताया कि पेटेंट सुविधा केन्द्र में छत्तीसगढ़ राज्य के शोधार्थी अपने अनुसंधान कार्यों से अर्जित बौद्धिक सम्पदा को सुरक्षित रखने तथा पेटेंट करवाने के लिए आवेदन कर सकते हैं।

उन्हें आवश्यक मार्गदर्शन भी दिया जा रहा है। पेटेंट से संबंधित आवेदन पत्रों का समुचित परीक्षण करने के बाद उन्हें मुम्बई स्थित पेटेंट कार्यालय को अग्रेषित किया जाता है।

अधिकारियों ने बताया कि पेटेंट सुविधा केन्द्र में कॉपी राइट, ट्रेडमार्क, डिजाइन, भौगोलिक संकेतक (जी.आई.) और अन्य बौद्धिक सम्पदा अधिकारों के लिए सर्च रिपोर्ट बनवाने के लिए भी सहायता दी जा रही है। इतना ही नहीं बल्कि पेटेंट सुविधा केन्द्र में उच्च शिक्षा संस्थाओं और औद्योगिक संस्थाओं को उनकी संस्थाओं की बौद्धिक सम्पदा नीति बनाने के लिए भी प्रोत्साहित किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद द्वारा इसके लिए समय-समय पर व्याख्यान मालाओं और जागरूकता कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जा रहा है। राज्य के विश्वविद्यालयों और तकनीकी संस्थाओं को उनके पेटेंट योग्य नवीन शोध कार्यों के लिए भी इस सुविधा केन्द्र के जरिये जानकारी और सहायता दी जा रही है। इस संबंध में विस्तृत जानकारी परिषद की वेबसाइट सीजीसीओएसटी डॉट एनआईसी डॉट इन/इंटेलेक्चुअल-प्रापर्टी-राइट्स-सेंटर

http://cgcost.nic.in/intellectual-property-rights-centre पर अपलोड कर दी गई है।

आविष्कारों का पेटेंट करवाने के इच्छुक शोधार्थी इसके लिए परिषद के वैज्ञानिक डॉ. अमित दुबे से उनके मोबाइल फोन नम्बर 94061-18999 पर भी सम्पर्क कर सकते हैं।

छत्तीसगढ़ विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद, विज्ञान केन्द्र (विधानसभा मार्ग) दलदल सिवनी रायपुर के अधिकारियों से टेलीफोन नम्बर 0771-2972940 पर भी सम्पर्क किया जा सकता है।