हंस फाउंडेशन और राज्य सरकार के साथ करार

देहरादून ——– मुख्य सचिव श्री उत्पल कुमार सिंह की अध्यक्षता में हंस फाउंडेशन के स्टीयरिंग कमेटी की बैठक हुई। गौरतलब है कि हंस फाउंडेशन द्वारा राज्य में 250 करोड़ रुपये का कार्य किया जा रहा है।
1
उत्तराखण्ड 2020 की इस परियोजना के लिए राज्य सरकार का हंस फाउंडेशन के साथ करार हुआ है। बैठक में स्वास्थ्य के बारे में बताया गया कि 12 मोबाइल मेडिकल यूनिट संचालित है।

मार्च तक 09 अन्य यूनिट भी कार्यरत हो जाएंगे।

कैंसर के इलाज के लिए दो अन्य मैमोग्राफी वैन जनवरी के अंत तक सुपुर्द हो जाएंगे।

हल्द्वानी कैंसर यूनिट के लिए मैक्स अस्पताल से सर्जिकल ऑन्कोलॉजिस्ट देने पर सहमति हो गयी है।

हंस आरोग्य कार्यक्रम के तहत मैक्स, महंत इंद्रेश और एच.आई.एच.टी. लगाया गया है। अब तक 435 बच्चों का इलाज कराया गया है।

महात्मा गांधी शताब्दी ऑप्थलमिक साइन्स सेंटर के उपकरण खरीद के लिए टेंडर कर दिया गया है।

पिथौरागढ़, टिहरी और पौड़ी के जिला अस्पतालों में आई.सी.यू. यूनिट स्थापित करने की कार्यवाही चल रही है।

फाउंडेशन द्वारा सामुदायिक सहभागिता से ग्रेविटी पर आधारित पेयजल की व्यवस्था की जा रही है।

वाॅटर यूजर ग्रुप बना लिया गया है। इससे 14 हजार लोगों को लाभ होगा।

हरिद्वार में 10 आर.ओ. प्लांट लगाए गए हैं। व्यक्तिगत और सामुदायिक शौचालय बनाने के लिए 08 एजेंसियों का चयन किया गया है।

आजीविका के क्षेत्र में फाउंडेशन नंदा देवी सेंटर ऑफ एक्सेलेंस का विकास आधुनिक बाजार की मांग के अनुसार करेगा।

हरिद्वार में शहद प्रसंस्करण और पैकेजिंग प्लांट, चम्बा में मसाला प्रसंस्करण प्लांट और उत्तरकाशी में अनाज ग्रेडिंग और पैकेजिंग प्लांट की स्थापना की जा रही है।

3676 स्कूलों में गैस चूल्हा और 95 मॉडल स्कूलों में प्रयोगशाला, पुस्तकालय, कंप्यूटर टीचर, स्मार्ट क्लास, फर्नीचर और शौचालय की व्यवस्था की जा रही है।

एकीकृत गांव विकास योजना के तहत क्लस्टर बना कर सभी आधारभूत सुविधाएं दी जाएंगी।

बैठक में प्रमुख सचिव वित्त श्रीमती राधा रतूड़ी, प्रमुख सचिव उद्योग श्रीमती मनीषा पंवार, सचिव ऊर्जा श्रीमती राधिका झा, महानिदेशक शिक्षा कैप्टन आलोक शेखर तिवारी, अपर सचिव शहरी विकास श्री विनोद सुमन, हंस फाउंडेशन के सीईओ जनरल एस.एम.मेहता, ईडी डॉ जी.वी.राव सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।