स्वच्छता के साथ संस्कारों में भी इंदौर नम्बर वन

भोपाल :(प्रलय श्रीवास्तव)———-मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने आज इंदौर में मराठी सोशल ग्रुप द्वारा आयोजित तीन दिवसीय मराठी फूड फेस्टिवल ‘जत्रा” का शुभारंभ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि इंदौर स्वच्छता के क्षेत्र में ही नहीं बल्कि संस्कारों में भी नम्बर वन है और आगे भी रहेगा। उन्होंने कहा कि इंदौर की विशिष्ट संस्कृति, पहचान व परम्परा है। इंदौर ने एक कदम आगे बढ़कर स्वच्छता के क्षेत्र में हिन्दुस्तान में अपनी नयी पहचान बनायी है।
1
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जत्रा में अलग-अलग तरह के व्यंजन बनते हैं। जत्रा मेले में व्यापारी अपना स्टॉल नहीं लगाते हैं,बल्कि हमारी मराठी बहनें और बेटियां स्टॉल लगाती हैं। इन व्यंजनों में मराठी का अपना विशिष्ट स्वाद तो है ही, बहनों की भावना भी जुड़ने के कारण व्यंजनों के स्वाद में चार चांद और लग गये। उन्होंने कहा कि इंदौर व्यंजनों के मामले में पहले से ही समृद्ध रहा है। इंदौर के सराफा में व्यंजनों का स्वाद कौन भूल सकता है।

जत्रा की परम्परा ने इंदौर की इस परम्परा को और आगे बढ़ाया है। उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि मराठी समाज में महिलाओं को प्रमुखता दी जाती है। उन्होंने कहा कि बेटियों के बिना समाज आगे नहीं बढ़ सकता। देश की तरक्की में महिलाओं का विशेष योगदान है।

उन्होंने लाड़ली लक्ष्मी योजना का जिक्र करते हुये कहा कि इसके अंतर्गत पाँचवी परीक्षा उत्तीर्ण करने वाली बालिकाओं के खाते में स्वर्गीय श्रीमती विजयाराजे सिंधिया के जन्मदिवस 12 अक्टूबर को दो-दो हजार रुपये की राशि जमा की जायेगी।

महापौर श्रीमती मालिनी गौड़ ने स्वच्छता के क्षेत्र में इंदौर को नम्बर वन बनाने में नागरिकों के सहयोग के लिये धन्यवाद दिया। कार्यक्रम में इंदौर को स्वच्छ बनाने में योगदान देने पर महापौर श्रीमती मालिनी गौड़ और नगर निगम आयुक्त श्री मनीष सिंह का सम्मान किया गया। इस अवसर पर इंदौर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री शंकर लालवानी, विधायक सर्वश्री सुदर्शन गुप्ता, महेन्द्र हार्डिया तथा मनोज पटेल, नगर निगम के सभापति श्री अजयसिंह नरूका आदि उपस्थित थे