“सुरक्षा छतरी” लोकप्रिय

भोपाल :(सुनीता दुबे)———सघन मिशन इन्द्रधनुष के प्रथम चरण में प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग द्वारा तैयार सुरक्षा छतरी दूसरे राज्यों में भी लोकप्रिय हो रही है।

इस रंगबिरंगी छतरी में सघन मिशन इन्द्रधनुष के ‘लोगो’ के साथ खसरा, टिटनेस, रोटा, आईपीवी, पोलियो, पेंटावेलेंट, वीसीजी, हेपेटाइटिस, डीपीटी, ओपीवी, मीजल्स, बूस्टर, विटानिम-ए के नाम लिखे हुए हैं।

टीकाकरण टीमें सुरक्षा छतरियों का वितरण गाँव में कर रही हैं, जिनसे आकर्षित होकर लोग टीकाकरण के प्रति जागरूक हो रहे हैं। केन्द्र सरकार द्वारा भी इन सुरक्षा छतरियों को इतना सराहा गया कि उन्होंने तुरंत वायुयान से ये छतरियाँ नमूने के तौर पर मंगवाकर देश के अन्य 15 राज्यों में जारी सघन मिशन इन्द्रधनुष टीकाकरण के प्रथम एवं द्वितीय चरण में वितरित कराई हैं।

गत 8 नवम्बर से आरंभ द्वितीय चरण में 13 जिलों अलीराजपुर, झाबुआ, पन्ना, रायसेन, रीवा, सागर, शहडोल, श्योपुर, सीधी, सिंगरौली, टीकमगढ़, विदिशा और इंदौर (शहर) में छूटे हुए 0 से 2 वर्ष तक के बच्चों और गर्भवती माताओं का टीकाकरण जारी है।

पंचायतों को मिलेगा 2 लाख रुपये का पुरस्कार

पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग द्वारा सघन मिशन इन्द्रधनुष के दौरान शत-प्रतिशत टीकाकरण करवाने वाली पंचायतों को 2 लाख रुपये का पुरस्कार भी दिया जाएगा। पंचायतों में विभिन्न नारे भी लोकप्रिय हो रहे हैं।

हर बढ़ता कदम हमें आगे ही ले जाना है,
पोलियो उन्मूलन, नवजात शिशु, टिटनेस निर्मूलन कर,
नौ जानलेवा बीमारियों से मुक्ति दिलाना है,
सघन मिशन इन्द्रधनुष सफल बनाना है।