सी.एम. हेल्पलाइन की शिकायतों का जन-संतुष्टि से समाधान

भोपाल : (अजय वर्मा)————मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा उत्कृष्ट कार्य करने वालों की सराहना और सार्वजनिक सम्मान करने की पहल का सी.एम. हेल्पलाइन में प्रभावी क्रियान्वयन किया जा रहा है।
2
विभाग द्वारा उत्कृष्ट कार्यकर्ताओं का हर माह चयन करने की परम्परा स्थापित की गई है। मुख्यमंत्री हेल्पलाईन के प्रकरणों को आवेदक की संतुष्टि के साथ निराकरण करने वाले लेवल वन के शासकीय सेवकों को मुख्यमंत्री द्वारा सम्मानित किया जाता है।

इस पहल से उत्कृष्ट कार्य के लिए अधिकारी-कर्मचारी प्रोत्साहित हुए हैं। उनके बीच आमजन की समस्याओं का त्वरित और अधिकतम संतुष्टि के साथ निराकरण करने की स्वस्थ प्रतिस्पर्धा का वातावरण बना है।

उत्कृष्ट कार्य की इस प्रतिस्पर्धा में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग नीमच में पदस्थ सहायक यंत्री श्री एन.एल. बोरना अव्वल रहे हैं। उन्होंने विगत 9 माह से लगातार मुख्यमंत्री हेल्पलाइन के आवेदकों की शिकायतों का संतुष्टि के साथ निराकरण उत्कृष्टता के साथ करने का कीर्तिमान बनाया है। उनकी इस उपलब्धि की मुख्यमंत्री श्री चौहान ने समाधान आनलाइन में भूरि-भूरि सराहना की है।

मुख्यमंत्री को बताया गया कि श्री बोरना को सी.एम. हेल्पलाइन के हॉल ऑफ फेम में स्थान दिया गया है। यह सम्मान पाने वाले वह राज्य के पहले शासकीय सेवक है। विभाग ने वर्तमान में श्री बोराना को प्रभारी कार्यपालन यंत्री देवास पदस्थ किया है।

नवम्बर 2017 में सी.एम. हेल्पलाइन के प्रकरणों की अधिकतम जनसंतुष्टि से निराकृत करने के लिए मुख्यमंत्री श्री चौहान ने भोपाल में पदस्थ नगरीय विकास विभाग के स्वास्थ्य अधिकारी श्री मोहम्मद काशिफ, बैतूल जिले की जनपद पंचायत प्रभातपट्टन में पदस्थ श्री गिर्राज शर्मा, सागर जिले में पदस्थ सहायक आबकारी आयुक्त श्री यशवंत धनौरा, सिंगरौली जिले के वन विभाग में पदस्थ रेंजर श्री विनय सिंह और नरसिंहपुर में पदस्थ सहायक यंत्री लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी श्री रंजन सिंह, देवास के उपायुक्त सहकारिता डॉ. मनोज जायसवाल, छतरपुर जिले में लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के सहायक यंत्री श्री मुजीब-उल हसन, सिंगरौली जिले के नगरीय विकास विभाग के सहायक यंत्री श्री संतोष पान्डे, बालाघाट जिले में ऊर्जा विभाग में पदस्थ कनिष्ठ अभियंता श्री नीरज कुमार सोनकर, हरदा जिले के जल संसाधन विभाग में पदस्थ कार्यपालन यंत्री श्री ए.के. जाटव की प्रशंसा की है और इन सभी को प्रशस्ति-पत्र देने के निर्देश दिए है।