समाधान दिवसों का औचक निरीक्षण यथाशीघ्र प्रारम्भ-योगी

लखनऊ: ———उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कडे निर्देश दिये है कि जनता की समस्याओं का समय से निदान न करने वाले अधिकारियों को चिन्हित कर दण्डित किया जाये।

1

मण्डल एवं जनपद स्तर पर प्रत्येक दिन प्रातः 09.00 से 11.00 बजे तक मण्डलायुक्तों सहित जिलाधिकारियों, पुलिस अधिकारियों एवं तहसील एवं ब्लाक स्तर के अधिकारियो को भी अपने कार्यालय में उपस्थित रहकर फरियादि्यों की समस्याओं का समाधान सुनिश्चित कराना होगा।

सोशल मीडिया के माध्यम से समस्याओं की जानकारी प्राप्त होने पर उनका भी निराकरण प्राथमिकता से सुनिश्चित कराया जाये।

उन्होंने कहा कि आम जनता से सीधा संवाद स्थापित करने तथा सोशल मीडिया को और अधिक सक्रिय करने हेतु सोशल मीडिया हब की स्थापना करायी जाये। उन्होंने कहा कि मेगा 2 काॅल सेण्टर के माध्यम से प्राप्त होने वाली शिकायतों का समाधान निर्धारित अवधि में कराकर शिकायतकर्ता को अवगत कराना अनिवार्य होगा।

विभागीय अधिकारियों को कोई भी कार्य लम्बित रखने की कार्य शैली हर हालत में बदलनी होगी। उन्होंने यह भी निर्देश दिये कि वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों को तहसील स्तर पर आयोजित होने वाले समाधान दिवसों का औचक निरीक्षण करना होगा। उन्होने कहा कि वह स्वयं भी समाधान दिवसो का औचक निरीक्षण यथाशीघ्र प्रारम्भ करेंगे।

मुख्यमंत्री शास्त्री भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष के सभागार में मुख्य सचिव, अपर मुख्य सचिव आई0टी0, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री, प्रमुख सचिव सूचना एवं निदेशक सूचना सहित मुख्यमंत्री सचिवालय में तैनात सचिव एवं विशेष सचिवों के साथबैठक कर आवश्यक निर्देश दे रहे थे।