श्रद्धांजलि ,शोक संवेदना के साथ मृत किसानों के घर चौहान

भोपाल (ऋषभ जैन)—- मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान मंदसौर और नीमच जिले में किसान आंदोलन के दौरान मृत किसानों के घर पहुँचे। मुख्यमंत्री ने मृतक किसानों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए शोक संतप्त परिजन के प्रति शोक संवेदना व्यक्त की।

श्री चौहान ने परिजन से कहा कि इस घटना के लिए दोषियों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी। आपके दुख में राज्य सरकार आपके साथ है। उन्होंने मृतक किसानों के परिजन को हरसंभव सहायता का भरोसा दिलाया।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान सबसे पहले मंदसौर जिले के ग्राम बड़वन पहुँचे और मृतक कृषक स्व. श्री घनश्याम धाकड़ के पिता श्री दुर्गालाल धाकड़ और मृतक की पत्नी श्रीमती रेखा बाई से मिले। मुख्यमत्री ने पीड़ित परिवार को सांत्वना दी। उन्होंने बताया कि उनके खाते में एक करोड़ रुपये की राशि पहुँचा दी गई है।

इसके बाद मुख्यमंत्री ने जिले के ग्राम लोध पहुँचकर मृतक किसान स्वर्गीय श्री सत्यनाराण के पिता मांगीलाल से भेंट कर उन्हें सांत्वना दी और संवेदनाएँ व्यक्त की। मुख्यमंत्री को मांगीलाल ने बताया कि उसकी जमीन गिरवी रखी हुई है तो उन्होंने कहा कि चिंता न करे गिरवी रखी जमीन छुड़वा देंगे।

उन्होंने मांगीलाल को बताया कि सरकार ने मुआवजे के रूप में एक करोड़ रूपये स्वीकृत किये है, राशि उनके बैंक खाते में जमा हो जाएगी। परिवार में जो भी नौकरी लायक होगा, उसे सरकारी नौकरी दी जायेगी।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने जिले के ग्राम बरखेड़ा पंथ पहुँच कर मृतक अभिषेक पाटीदार के निवास पर उनकी माँ रूकाबाई पाटीदार को हर संभव मदद का विश्वास दिलाया। मुख्यमंत्री ने मृतक के भाई मधुसूदन पाटीदार और संदीप पाटीदार को भी ढाँढस बँधाया।

मुख्यमंत्री ने दोपहर में मंदसौर जिले के पिपल्या मंडी पहुँचकर यहाँ कतिपय तत्वों द्वारा 6 जून 17 को उपद्रव कर जलाई गई दुकानों और मकानों के पीड़ितों से मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने सांत्वना देते हुए कहा कि वे कदापि चिंता न करें। सरकार हर घड़ी में पीड़ितों के साथ है। सभी को समुचित मुआवजा दिलवाया जायेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सबसे पहले पिपल्यामंडी में श्री अनिल पिता भंवरलाल जैन की जली हुई कॉस्मेटिक्स की दुकान का मुआयना किया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने पिपल्यामंडी की ही सिलेक्शन सेन्टर जाकर दुकान स्वामी को सांत्वना दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान मुख्य बाजार स्थित एक दुकान में भी गये और पीड़ित दुकानदार के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की।

मुख्यमंत्री ने पिपल्यामंडी से मनासा रोड स्थित पोरवाल मोटर्स का भी मुआयना किया। दुकान के प्रोपराईटर श्री प्रवीण पिता कैलाश फरक्या ने बताया कि आगजनी से उनके शोरूम का काफी नुकसान हुआ है। मुख्यमंत्री ने श्री प्रवीण को सांत्वना दी और समुचित मुआवजा दिलवाने का आश्वासन दिया।

मुख्यमंत्री श्री चौहान जिले के ग्राम टकरावद पहुँचकर 21 वर्षीय मृतक स्व. श्री पूनम चंद उर्फ बबलू पाटीदार के परिजन को सांत्वना दी। उन्होंने सुवासरा में किसान आन्दोलन से व्यावसायिक प्रतिष्ठानों से हुये नुकसान को देखा और किसानों से चर्चा भी की।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान मंदसौर जिले के ग्राम चिल्लौद पिपल्या पहुँचे। यहॉ उन्होंने मृतक किसान स्व. श्री कन्हैयालाल पाटीदार के घर जाकर उन्हें भावभीनी श्रद्वांजलि दी। उन्होंने मृतक की पत्नी सुमित्रा बाई को आश्वस्त किया कि बेटी पूजा को सरकारी नौकरी दिलाई जाएगी। उन्होंने बेटे जितेन्द्र को भी ढाँढस बँधाया। मुख्यमंत्री ने कहा कि वे चिंता न करें, किसानों को पूरी सुरक्षा मिलेगी। यदि कोई उन्हें परेशान करेगा या धमकाएगा, तो उसके विरूद्व कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

स्वर्गीय श्री कमलेश जैन के परिजन से भी मिले मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री चौहान पिपल्यामंडी नगर के पत्रकार स्वर्गीय श्री कमलेश जैन के परिजन से भी मिले। उन्होंने पूरी घटना की जानकारी ली। उन्होंने अपनी संवेदनाएँ व्यक्त कर कहा कि दोषियों को जल्द ही कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जायेगी।

नीमच जिले में

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने नीमच जिले के ग्राम नयाखेड़ा में मृतक किसान स्वर्गीय श्री चैनसुख पाटीदार को श्रद्वांजलि अर्पित कर उनके पिता श्री गणपतलाल पाटीदार को सांत्वना दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने मृतक की माता मंजूबाई, पत्नी पुष्पाबाई एवं भाई गोविन्द पाटीदार से भी भेंट की तथा उन्हें सांत्वना दी। मृतक की बहन की दोषियों को सजा दिलाने की मांग पर मुख्यमंत्री ने कहा कि न्यायिक जाँच करवा कर दोषियों को बख्शा नहीं जायेगा। मुख्यमंत्री ने गाँव की सड़क का नाम मृतक चैनसुख पाटीदार के नाम पर रखने की बात भी कही।