शत-प्रतिशत मतदाताओं को वीवीपैट तकनीक से रूबरू कराने के हों प्रयास – मुख्य निर्वाचन अधिकारी

जयपुर———– मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री अश्विनी भगत ने कहा कि लोकसभा और विधानसभा के उपचुनावों में 4 हजार से ज्यादा मतदान केद्रों पर वीवीपैट तकनीक से मतदान कराया जाएगा, ऎसे में मतदाताओं को जागरुक करने और उन्हें प्रशिक्षित करने का प्रशासन पूरा ध्यान रखे। उन्होंने कहा प्रचार-प्रसार के द्वारा भी ज्यादा से ज्यादा मतदाताओं को वीवीपैट तकनीक से रूबरू कराया जाए।
1
श्री भगत शुक्रवार को शासन सचिवालय के एनआईसी से अजमेर, अलवर, भीलवाड़ा और जयपुर जिले के जिला निर्वाचन अधिकारी, पुलिस अधीक्षक और पर्यवेक्षकाें के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए तैयारियों का जायजा ले रहे थे।

श्री भगत ने सभी अधिकारियों से नामांकन पत्रों की संवीक्षा, बैलेट पेपर्स की छपाई, इलेक्ट्रोनिक ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट सिस्टम (ईटीपीबीएस), ईवीएम मशीनों की एफएलसी और अजमेर में शिफ्ििटंग, मतदान में ड्यूटी देने वाले कार्मिकों के प्रशिक्षण, अवैध हथियारों की जब्ती, अवैध शराब के बेचान, कानून एवं सुरक्षा व्यवस्था और संवेदनशील मतदान केद्रों जैसे विषयों पर विस्तृत चर्चा की।

उन्होंने कहा कि राज्य में होने वाले उपचुनावों को स्वतंत्र, निष्पक्ष और शांतिपूर्ण तरीके कराने के लिए विभाग कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि सभी संवेदशील मतदान केद्रों का जिला निर्वाचन अधिकारी स्वयं जाकर निरीक्षण करें और विशेष कार्य योजना बनाकर काम करें। उन्होंने कहा कि कहीं भी आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

इस दौरान अतिरिक्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी डॉ. रेखा गुप्ता, उप मुख्य निर्वाचन अधिकारी श्री विनोद पारीक, उप मुख्य निर्वाचन अधिकारी (आईटी) श्री एमएम तिवारी, श्री हरिशंकर गोयल, श्री प्रमोद अग्रवाल सहित विभागीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।