लोहड़ी, मकर सक्रांति की शुभकामनाएं——–राज्यपाल जगदीश मुखी

बहादुरगढ़ (जनसंपर्क विभाग,बहादुरगढ)——-आसाम के राज्यपाल प्रो.जगदीश मुखी ने कहा कि हमारे देश की संस्कृति में पर्व व जयंती समारोह एक सामाजिक सद्भाव का संदेश देते हैं, ऐसे में हर्षोल्लास के साथ हमारे पारंपरिक त्यौहारों को मनाया जाता है।
2
आज का यह परिवार मिलन समारोह भी सामाजिक समरसता का साक्षात उदाहरण है। राज्यपाल प्रो.मुखी शहर में अखिल भारतीय पंचनद स्मारक ट्रस्ट की ओर से शहर के ग्लोबल मोंटेसरी स्कूल परिसर में स्वामी विवेकानंद जयंती, लोहड़ी व मकर सक्रांति के उपलक्ष्य में आयोजित परिवार मिलन समारोह में बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। पंचनद स्मारक के राष्ट्रीय अध्यक्ष तथा पटौदी स्थित हरिमंदिर आश्रम के महामंडलेश्वर स्वामी धर्मदेव के तत्वावधान में कार्यक्रम हुआ जबकि कार्यक्रम की अध्यक्षता थानेसर से विधायक सुभाष सुधा ने की। समारोह में अति विशिष्ट अतिथि के रूप में बहादुरगढ़ से विधायक नरेश कौशिक व देवेंद्र गुप्ता बतौर विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद रहे।

राज्यपाल प्रो.जगदीश मुखी ने कहा कि महापुरूषों की जयंती तथा तीज त्यौहार हमें राष्ट्रवाद का संदेश देते हैं और सामाजिक सद्भावना के साथ हमें मिलजुल कर आगे बढऩे की प्रेरणा देते हैं। उन्होंने स्वामी विवेकानंद के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि युवा शक्ति को सकारात्मक ऊर्जा की ओर ले जाने की सीख देते हैं। उन्होंने दिए अपने संदेश में कहा कि उनका विश्वास युवा पीढ़ी में है और इसी में से उनके कार्यकर्ता समाजिक सौहार्द कायम करने के लिए निकलेंगे।

समारोह में बतौर मुख्य वक्ता पंचनद के आजीवन राष्ट्रीयाध्यक्ष तथा आश्रम हरिमंदिर पटौदी के अधिष्ठाता महामंडलेश्वर स्वामी धर्मदेव ने कहा कि भारतवर्ष में हर दिन एक त्यौहार का दिन है। उन्होंने कहा कि परस्पर मिलते रहना और एक दूसरे की खुशियों को बांटना ही त्यौहार का दूसरा नाम है। उन्होंने कार्यक्रम के आयोजकों को बधाई देते हुए कहा कि परिवार मिलन समारोह से न केवल लोहड़ी व मकर सक्रांति उत्सव की परंपरा का निर्वहन हुआ है बल्कि पारस्परिक समरसता से परिवारों के एक दूसरे से मिलने का भी सुअवसर मिला है।

स्वामी धर्मदेव ने कहा कि भारतीय संस्कृति में ये त्यौहार ही आपस में लोगों को जोड़े हुए हैं। उन्होनें उपस्थितजनों को लोहड़ी व मकर सक्रांति की शुभकामनाएं देते हुए इनके महत्व पर विस्तार से चर्चा भी की। स्वामी धर्मदेव ने पंचनद की बीते वर्षों की उपलब्धियों से भी अवगत करवाया। कार्यक्रम में विधायक सुभाष सुधा ने भी विचार रखे।

विधायक कौशिक ने किया हलके की ओर से अभिनंदन :

समारोह में अति विशिष्ट अतिथि बहादुरगढ़ से विधायक नरेश कौशिक ने राज्यपाल प्रो.मुखी, स्वामी धर्मदेव तथा विधायक सुभाष सुधा का हलके में पहुंचने पर स्वागत किया। उन्होंने कहा कि आपसी सौहार्दपूर्ण व्यवहार के साथ ही हम विकास के दृष्टिकोण से आगे बढ़ सकते हैं। उन्होंने खुशी जताई की आज बहादुरगढ़ हलके में 36 बिरादरी एकजुटता के साथ सामाजिक समरसता की अलख जगा रही है। वे हलके के जनप्रतिनिधि के तौर पर अपनी जिम्मेवारी का निर्वहन कर रहे हैं और विकासात्मक परिवर्तन आज बहादुरगढ़ हलके के सामने है।

समारोह में गरिमामयी ढंग से मंच संचालन संजीव पसरीजा ने किया। समारोह में बाल कलाकारों द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी गई। साथ ही विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले प्रतिभावान लोगों को सम्मानित भी किया गया।

इस मौके पर भाजपा जिलाध्यक्ष बिजेंद्र दलाल, जिप चेयरमैन परमजीत, कृष्णलाल घई, संजीव पसरीजा, कुलदीप खन्ना, हरीश बजाज, जितेश सेठी, प्रवीण अरोड़ा, विनोद गिरधर, मुकेश चावला, पंचनद के प्रवक्ता विनीत नरुला, झज्जर ईकाई के प्रधान संतलाल बुद्धिराजा, सतीश धींगड़ा, डा.नंद सरदाना सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।