“राष्ट्रपति का चुनाव आम भारतीय जनता द्वारा होना चाहिए”- आध्यात्मिक गुरु राजकुमार शांडिल्य

मुंबई (संजय शर्मा राज)— धार्मिक और सामजिक संस्था ‘शिवा ज्ञान’ के अध्यक्ष व योग और आध्यात्मिक गुरु राजकुमार शांडिल्य से भायंदर (ईस्ट) में एक कार्यक्रम के दौरान बातचीत हुई। जिसमें राजकुमार शांडिल्य ने कहा, ” भारत में राष्ट्रपति का चुनाव आम भारतीय जनता द्वारा होगा तो देश का कुछ भला होगा।
राजकुमार शांडिल्य
पिछले ७० सालों से ज्यादातर पार्टियां अपने लोगों को या किसी पार्टी से जुड़े लोगों को चुनती है। जिसके कारण आजतक ज्यादातर राष्ट्रपति ने अपने पावर का ठीक से उपयोग नहीं किया, वे केवल रब्बर स्टंप लगाने का ही काम किया। जिसके कारण जो पार्टी सत्ता में आयी, ज्यादातर अपनी मनमानी किया और भारतीय नागरिकों को सामजिक, आर्थिक और मानसिक नुकसान पहुंचाया।

इसलिए राष्ट्रपति का चुनाव आम भारतीय जनता द्वारा होना चाहिए, जिस तरह अमेरिका में और अन्य देशों में होता है। जिससे एक अच्छा और समझदार राष्ट्रपति देश को मिलेगा, जो अपने विवेक और पावर का सही ढंग से उपयोग कर सकेगा। राष्ट्रपति किसी भी पार्टी का या उससे जुडी किसी संस्था का नहीं होना चाहिए। तब देश का भला हो सकता है।”

आगे राजकुमार शांडिल्य ने कहा,” मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से अनुरोध करता हूँ कि वे देश में एक टैक्स और एक बैंक अकॉउंट सिस्टम लागू करे। सारे टैक्स बंद करके केवल एक प्रतिशत टैक्स लोगों लोगों के अकाउंट से ले और पूरे देश में एक व्यक्ति का केवल एक बैंक अकाउंट हो।

यदि ऐसा होता है तो सरकार को जो विभिन्न टैक्स से इनकम होती है, उससे ज्यादा सरकार के पास पैसे आएंगे और सभी चीजों के दाम भी कम होंगे। जनता को महंगाई और भ्रष्टाचार से मुक्ति मिलेगी। तब देश के नगरिकों का विकास और कल्याण संभव होगा।”

राजकुमार ने आगे बताया कि हमारे देश के प्रति व्यक्ति वर्षिक औसत आय लगभग १,११,७८० रूपये है। यदि उसका एक प्रतिशत सरकार टैक्स लेगी तो उसके पास १ अरब ४० लाख करोड़ आ जाएगा,जबकि केंद्र सरकार का कुल सालाना बजट लगभग २२ लाख करोड़ रूपये का ही होता है। मतलब सरकार ऐसा करती है तो उसे फायदा ही होगा और लोगों को महँगाई से निजात मिल जायेगी।