राज्य सहकारी बैंक को मिले तीन राष्ट्रीय पुरस्कार

शिमला—हिमाचल प्रदेश राज्य सहकारी बैंक को बैंकिंग क्षेत्र में राष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए विभिन्न श्रेणियों में नैशनल फैडरेशन ऑफ स्टेट को-ऑपरेटिव बैंकस द्वारा तीन पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है।

ये तीनों पुरस्कार 10 व 11 अगस्त, 2017 को चेन्नई में आयोजित समारोह में प्रदान किये गए। हि.प्र. राज्य सहकारी बैंक के अध्यक्ष श्री हर्ष महाजन ने ये पुरस्कार प्राप्त किए। इस अवसर पर तमिलनाडु के सहकारिता मंत्री व वित्त मंत्री भी उपस्थित रहे।

श्री हर्ष महाजन ने यह जानकारी देते हुए कहा कि वर्ष 2015-16 में बैंक को समग्र प्रदर्शन के लिए पूरे भारत में प्रथम पुरस्कार प्रदान किया गया। सांगटी स्थित बैंक के प्रशिक्षण संस्थान को देश में द्धितीय स्थान प्राप्त हुआ है। तीसरा पुरस्कार बैंक की शाहतलाई शाखा से सम्बद्ध तलाई ग्राम सहकारी सभा को उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए प्राप्त हुआ है।

उन्होंने बताया कि बैंक के साथ लगभग 2600 सहकारी सभायें जुड़ी हैं तथा बैंक नाबार्ड के सहयोग से इनके कम्पयूटरीकरण में प्रयासरत है। उन्होंने भारत सरकार से भी अपील की कि राष्ट्रीयकृत बैंकों की तरह सहकारी बैंकों को भी वित्तीय प्रोत्साहन दिया जाना चाहिए।

श्री महाजन ने बताया कि पिछले चार वर्षों में इस बैंक का कुल व्यवसाय 9350 करोड़ रुपये से बढ़कर 14000 करोड़ हो गया है। जहां एक ओर लगभग सभी बैंक एन.पी.ए. से जुझ रहे हैं, वहीं हमारे बैंक ने एन.पी.ए. को 11.64 प्रतिशत से 5.45 प्रतिशत तक कम करने में सफलता हासिल की है।