राज्योत्सव-2017 :ई-ग्राम एप लॉच–अग्रणी राज्यों की श्रेणी में शामिल

कवर्धा———-संसदीय सचिव श्री मोतीराम चंद्रवंशी ने कहा कि राज्य स्थापना के 17वर्षो में छत्तीसगढ़ सर्वांगीण विकास के मामले में देश के अग्रणी राज्यों में शामिल हुआ है। राज्य गठन के बाद से शासन की विभिन्न जनकल्याणकारी हितग्राहीमूलक एवं निर्माणमूलक योजनाओं के कारण राज्य का तेजी से विकास हुआ है।
1
आवागमन के साधनों के विकास हेतु सड़कों का निर्माण तेजी से हुआ है, वहीं किसानों को अनुदान के साथ बिजली की सुविधा दी गई है, सिंचाई के साधनों को बढ़ावा देने हेतु आधारभूत संरचनाओं का निर्माण किया गया है।

संसदीय सचिव श्री चंद्रवंशी 3 नवंबर को कवर्धा के शासकीय पी.जी.महाविद्यालय के प्रांगण में आयोजित जिला स्तरीय राज्योत्सव कार्यक्रम के उद्घाटन पश्चात् कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए श्री मोतीराम चंद्रवंशी ने कहा कि राज्य में शिक्षित बेरोजगार युवाओं को उनकी रूचि के अनुसार मुख्यमंत्री कौशल विकास उन्नयन हेतु प्रशिक्षण देकर रोजगार एवं जिले के युवा रोजगार से जुड़कर आत्मनिर्भर हो रहे है।

उन्होंने कहा कि जिले में मात्स्यिकी महाविद्यालय, पॉलिटेक्नीक कॉलेज की स्थापना कर बच्चों को व्यावसायिक शिक्षा से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है, वहीं गन्ना उत्पादक किसानों के हितों को ध्यान में रखकर पंडरिया में जिले का दूसरा शक्कर कारखाना स्थापित किया गया है। प्रदेश के साथ-साथ जिले का तेजी से विकास हो रहा है।

इस अवसर पर छत्तीसगढ़ राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष डॉ. सियाराम साहू ने प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी और कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने योजनाएं बनाकर उनका सफल संचालन किया है, जिससे छत्तीसगढ़ की देश में विशिष्ट पहचान बनी है।

उन्होंने देश के पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी बाजपेयी का आभार माना जिन्होंने छत्तीसगढ़ राज्य का गठन किया। उन्होंने कहा कि विभिन्न योजनाओं के संचालन एवं क्रियान्वयन में छत्तीसगढ़ अब अन्य राज्यों के लिए मॉडल बना है। शासन द्वारा संचालित योजनाओं के माध्यम से लोग लाभान्वित हो रहे हैं।

इस अवसर पर कवर्धा विधायक श्री अशोक साहू ने छत्तीसगढ़ राज्य गठन कर इसकी सौगात देने वाले देश के पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी का राज्य की जनता की ओर से आभार माना और कहा कि राज्य गठन पश्चात् अब मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने समाज के सभी वर्ग के लोगों के लिए योजनाएं बनाकर उनका क्रियान्वयन किया है, जिससे विकास का मार्ग प्रशस्त हुआ है।

उन्होंने कहा कि 15 वर्षो पूर्व किसानों की स्थिति अच्छी नहीं थी, लेकिन वर्तमान सरकार किसान हितों में लिये गये निर्णयों से हालत में बदलाव आया है। शिक्षा, स्वास्थ्य, पानी, बिजली, मिट्टी परीक्षण, उत्तम खाद-बीज, तकनीकी उपलब्ध कराकर आर्थिक विकास को प्राथमिकता दी गई है।

महिलाओं को आत्म निर्भर बनाया जा रहा है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत गैस चूल्हा और सिलेण्डर प्रदान किया जा रहा है। इसके अलावा जरूरतमंदों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास प्रदान किया जा रहा है।

इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ श्री कुंदन कुमार ने अतिथियों का स्वागत किया और कहा कि विगत 17 वर्षे में जिले ने विकास के नये सोपान तय किये हैं। योजनाओं के क्रियान्वयन एवं संचालन में आगे है। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी जिले की विकास झलकियां प्रस्तुत करती है।

जिले को खुले में शौच मुक्त(ओडीएफ) घोषित किया गया है और राज्य स्थापना एक नवंबर को उपराष्ट्रपति के हाथों जिला सम्मानित हुआ है। इसके पूर्व अतिथियों ने विभिन्न स्टॉल्स का अवलोकन किया और उसकी सराहना की। इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों की आकर्षक प्रस्तुतियां दी गई। कार्यक्रम का मंच संचालन श्री अवधेशनंदन श्रीवास्तव एवं श्री आदित्य श्रीवास्तव, श्रीमती मीरा देवांगन ने किया।

हितग्राहियों को चेक एवं प्रमाण पत्र वितरण-—-इस अवसर पर अतिथियों द्वारा विभिन्न योजनाओं के तहत चेक, सामग्री वितरण तथा प्रमाण पत्र प्रदाय कर सम्मानित किया गया। जिला अंत्यावसायी समिति द्वारा मिनीमाता स्वावलंबन योजना के तहत 6 हितग्राहियों सर्व श्री ओंकार, परसराम, कामनी पनागर, प्रशांत जांगड़े, रीतेश कुमार एवं अमरजीत को प्रत्येक को एक-एक लाख रूपये के चेक प्रदान किया गया, वहीं उत्कृष्ट खेती करने वाले कृषक श्री पुन्नी लाल भट्ट एवं श्री शिव कुमार को सम्मानित किया गया।

30 एवं 31 अक्टूबर को चिकित्सालय में आयोजित कुष्ठ विकृति निवारण समिति में विशेष योगदान देने वाले कर्मचारियों श्रीमती तूलिका शर्मा, श्री जे.आर. चतुरवेदानी, श्री प्रमोद गुप्ता, श्री पुनीत साहू एवं श्री सुभाष साहू को सम्मानित किया गया।

राज्योत्सव के अवसर पर शासन की योजनाओं से संबंधित स्टॉल्स(प्रदर्शनी) में प्रथम पुरस्कार आदिम जाति कल्याण विभाग, द्वितीय पुरस्कार जिला पंचायत एवं तृतीय पुरस्कार मछली पालन विभाग की प्रदर्शनी को दिया गया।

सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने विभिन्न विद्यालयों के छात्रों एवं कलाकारों के साथ बाहर से आये कलाकारों को भी विशेष रूप से सम्मानित किया गया।
ई-ग्राम एम लॉंच-

इस अवसर पर जिला पंचायत द्वारा तैयार किये गये ई-ग्राम एप लॉंच किया गया। इस एप के जरिये शासन की सभी योजनाओं की जानकारी हासिल की जा सकती है। इसके लॉच होने से ग्रामीणजन एवं युवा वर्ग शासन की योजनाओं की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।