मिशन इन्द्रधनुष—सभी महिला जेलों में बच्चों का टीकाकरण

भोपाल :(सुनीता दुबे)—————–देश में पहली बार विदिशा की महिला जेल में कैदियों के साथ रह रहे 4 बच्चों को चिन्हित कर सघन मिशन इन्द्रधनुष में उन्हें टीका लगाया गया है।

केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री जे.पी. नड्डा ने ट्वीट कर इस कार्य की प्रशंसा की। राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ. संतोष शुक्ला ने बताया कि अगले तीन दिनों में प्रदेश की सभी महिला जेलों में बंद कैदियों के बच्चों का टीकाकरण हो जायेगा। इसके लिये सभी आवश्यक तैयारियाँ कर ली गई हैं।

2,66,821 बच्चों और 56,793 महिलाओं का टीकाकरण

सघन मिशन इन्द्रधनुष के चारों चरणों में अब तक 47 हजार से अधिक सत्र हो चुके हैं, जिनमें जीरो से दो वर्ष तक के 2 लाख 66 हजार 821 बच्चों और 56 हजार 793 गर्भवती महिलाओं का टीकाकरण किया जा चुका है।

मिशन प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 8 अक्टूबर, 2017 को प्रारंभ किया गया था, जिसमें अक्टूबर, नवम्बर और दिसम्बर में हुए चरणों के बाद अंतिम चरण 8 से 18 जनवरी तक चल रहा है।

केन्द्रीय मंत्री ने की मध्यप्रदेश की सर्वाधिक प्रशंसा

सघन मिशन इन्द्रधनुष में शामिल सभी राज्यों के प्रमुख सचिव, सचिव, राज्य टीकाकरण अधिकारी आदि को शामिल करते हुए केन्द्र शासन द्वारा एक ग्रुप बनाया गया है, जिसमें सबसे ज्यादा केन्द्रीय मंत्री की सराहना के ट्वीट मध्यप्रदेश को मिले हैं।

मध्यप्रदेश में टीकाकरण टीम सुदूर दुर्गम अंचलों में बसे लोगों के साथ एक-एक झोपड़ी में रहने वाले परिवार तक भी गई है और टीकाकरण किया है। अस्पतालों में प्रसव होने पर महिलाओं को टीकाकरण का कैलेण्डर भी दिया जा रहा है। इससे भी जागरूकता आयी है। परिवार समय पर बच्चे का टीकाकरण करवा रहे हैं।

प्रदेश में सघन मिशन इन्द्रधनुष में 14 जिले अलीराजपुर, छतरपुर, झाबुआ, पन्ना, रायसेन, रीवा, सागर, शहडोल, श्योपुर, सीधी, सिंगरौली, टीकमगढ़, विदिशा और इंदौर (शहरी) शामिल हैं। बच्चों को डिप्थीरिया, काली खाँसी, टिटनेस, पोलियो, बीसीजी, टी.बी., खसरा आदि के टीके लगाये जा रहे हैं।