मानदेय न मिलने पर बोर्ड परीक्षाओं का बहिष्कार- गुमान सिंह

फिरोजाबाद (विकासपालिवाल)———— उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ वित्तविहीन शिक्षकों को सम्मानजनक मानदेय दिलाने तथा पुरानी पेंशन बहाली के लिए सड़क से सदन तक संघर्ष के लिए तत्पर है। यदि सरकार ने मानदेय नहीं दिया तो फरबरी से प्रस्तावित बोर्ड परीक्षाओं का बहिष्कार किया जायेगा।
1
यह बातें माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं अलीगढ मंडल प्रभारी गुमान सिंह यादव ने एके इण्टर कालेज में पत्रकार वार्ता में कहीं। उन्होंने कहा कि संगठन शिक्षकों के सम्मान एवं सेवा सुरक्षा के लिए हर कुर्बानी देने के लिए तैयार है। 21 जनवरी को होने वाली मीटिंग में रणनीति तैयार की जाएगी। उन्होंने कहा कि गुणवत्तापरक शिक्षा के लिए वो सरकार से हमेशा मांग करते रहे हैं।

सरकार को चाहिए कि कालेजों में जितने पद सृजित हैं, उतने शिक्षक उस स्कूल में हों । उन्होंने दावा किया कि प्रदेश अध्यक्ष व शिक्षक विधायक चेतनरायण सिंह व एमएलसी राजबहादुर सिंह के नेतृत्व में वित्तविहीन शिक्षकों को सम्मानजनक मानदेय दिलाने तथा 1 जनवरी 2005 के बाद नियुक्त शिक्षकों की पुरानी पेंशन बहाली के लिए सड़क से सदन तक संघर्ष करने जा रही है।

शिक्षक नेता ने प्रदेश सरकार को चेतावनी देते हुए कहा कि यदि परिषदीय परीक्षा 2018 के आरम्भ होंने से पहले कक्ष निरीक्षक एवं मूल्यांकन का पारिश्रमिक भुगतान नहीं हुआ तो दोनों का बहिष्कार किया जायेगा।

उन्होंने कहा कि माध्यमिक विद्यालयों में 1 लाख 55 हज़ार शिक्षकों की आवश्यकता हैं, जबकि 55 हज़ार ही कार्य कर रहे हैं।

प्रदेश मंत्री रवि प्रकाश यादव ने कहा कि सरकार छात्र कल्याणकारी योजनायें मात्र 30 फीसदी बच्चों को देकर बाहवाही लूट रही है, जबकि 70 प्रतिशत इन योजनाओं से वंचित रह रहे हैं । वार्ता के दौरान जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश जादौन, अनिल शर्मा, जिला मंत्री राजू कुशवाह, संजय यादव, राजवीर सिंह, दिनेश प्रताप सिंह, उमेष शर्मा, लोकीराम कुशवाह मौजूद थे ।