मां व बच्चे के लिए पौष्टिक आहार – जीवन का आधार :——– डीपीओ नीना खत्री

बहादुरगढ़———महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से बहादुरगढ़ ग्रामीण क्षेत्र के तत्वावधान में मदर्स डे सम्मान समारोह के रूप में मनाया गया। जिला कार्यक्रम अधिकारी नीना खत्री ने बेस्ट मदर्स अवार्ड सम्मान से माताओं को प्रोत्साहित किया।

सीडीपीओ रशिमा शर्मा ने सम्मान समारोह में मुख्यातिथि श्रीमती खत्री का स्वागत करते हुए खंड स्तर पर आयोजित विभागीय गतिविधियों से अवगत कराया। मुख्यातिथि नीना खत्री ने विजेता व उप विजेता रही मदर्स को नगद इनाम देकर पुरस्कृत किया।

कार्यक्रम में जिला कार्यक्रम अधिकारी नीना खत्री ने बताया कि महिला एव बाल विकास विभाग की ओर से महिलाओं व बच्चों के बेहतर व सुखद स्वास्थ्य के लिए कार्यक्रमों के तहत लाभांवित किया जाता है।

उन्होंने बताया कि महिलाओं को बच्चों की देखभाल व आहर के बारे में जागरूक व प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से प्रति वर्ष विभाग की ओर से बेस्ट मदर्स अवार्ड भी दिए जाते हैं ताकि माताओं का उत्साहवर्धन करते हुए स्वस्थ्य समाज की संरचना में विभाग अपना योगदान दे सके। उन्होंने कहा कि उत्तम व पौष्टिक आहार ही जीवन का आधार है।

कार्यक्रम में सीडीपीओ रशिमा शर्मा ने बताया कि खंड स्तर पर बेस्ट मदर्स अवार्ड के लिए ऐसी महिलाओं को चुना गया है, जिन्होंने संपूर्ण टीकाकरण के साथ ही बच्चों में 3 वर्ष का अंतर रखा है। इसके साथ ही इन माताओं के बच्चे पूरी तरह से स्वस्थ हैं। उन्होंने महिलाओं से कहा कि संस्थागत प्रसव कराएं।

बच्चे को 6 माह तक केवल मां का ही दूध पिलाएं और 6 माह के बाद बच्चे को ऊपरी आहार के साथ ही मां का दूध भी पिलाएं, समय पर टीकाकरण कराएं। कार्यक्रम में स्वास्थ्य विभाग से डा.उमेश कुमार ने भी स्वास्थ्य सुधार की दिशा में विभाग की ओर से उठाए जा रहे कदमों की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने शाकाहारी भोजन को प्राथमिकता देते हुए स्वस्थ्य रहने के लिए प्रेरित किया।

*खंड स्तर पर दुल्हेड़ा की उषा को मिला बेस्ट मदर्स अवार्ड :*

खंड बहादुरगढ़ ग्रामीण के सभी छह सर्कल से चुनी गई बेस्ट मदर्स को मुख्यातिथि ने सम्मानित किया। सीडीपीओ रशिमा शर्मा ने सम्मानित होने वाली माताओं की जानकारी देते हुए बताया कि खंड स्तर पर दुल्हेड़ा की उषा रानी को प्रथम, सिलौठी की पिंकी को द्वितीय व गुभाना की राजेश्वरी को तृतीय स्थान से सम्मानित करते हुए बेस्ट मदर्स अवार्ड दिया गया।

सर्कल स्तर पर सौलधा सर्कल से लोवाखुर्द से मनीषा, इस्सरहेड़ी से मोनिका व सौलधा से स्वीटी ने पहला, दूसरा व तीसरा स्थान प्राप्त किया। वहीं सर्कल बादली से बादली की मंजू देवी, पारूल शर्मा व सपना ने क्रमश:पहला, दूसरा व तीसरा स्थान, गुभाना सर्कल से माजरी की रीना ने पहला, गुभाना की राजेश्वरी व मीनू ने दूसरा व तीसरा, मांडौठी सर्कल में मातन से रेनू, मांडौठी से कविता व नीलम, बुपनिया सर्कल से गांव सिलौठी की पिंकी, बुपनिया गांव की प्रीति व डाबौदा खुर्द की रचना, दुल्हेड़ा सर्कल से खेडका गुर्जर की बेबी, दुल्हेड़ा की उषा तथा खेडका गुर्जर की अंजू को बेस्ट मदर्स अवार्ड दिया गया।