मछली हैचरी उत्कृष्टता केंद की आधारशिला–केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह

झज्जर (जनसंपर्क विभाग)———–उत्तर भारत की पहली अत्याधुनिक सजावटी मछली हैचरी का उत्कृष्टता केंद्र झज्जर में बनेगा। करीब 14 करोड़ रूपए की लागत से बनने वाले इस उत्कृष्टता केंद्र का शिलान्यास मंगलवार को जिले के निकटवर्ती गांव तलाव में भारत सरकार में केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने प्रदेश के कृषि एवं मत्स्य पालन मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ कीउपस्थिति में किया।
1
इस मौके पर बहादुरगढ़ से विधायक नरेश कौशिक की गरिमामयी उपस्थिति रही । प्रदेश के कृषि एवं मत्स्य पालन मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने हाईटेक एवं अत्याधुनिक सजावटी मछली पालन उत्कृष्टता केंद्र के आधारशिला कार्यक्रम में मुख्यातिथि केंद्रीय कृषि मंत्री का अभिनंदन किया और कहा कि वे हरियाणा प्रदेश के मत्स्य पालकों की ओर से उनका गांव तलाव में पहुंचने पर अभिनंदन करते हैं।

सजावटी मछली हैचरी के उत्कृष्टता केंद्र में प्रदेश भर से पहुंचे मत्स्य पालकों को संबोधित करते हुए केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह ने कहा कि प्रदेश के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ हरियाणा प्रदेश के किसानों, पशुपालकों व मछली पालकों को जिस तरह से समृद्ध करने के लिए प्रदेश व क्षेत्र में नित नई योजनाएं लागू की जा रही हैं वह प्रशंसनीय हैं।

उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 2022 तक किसानों की आमदनी बढ़ाने का लक्ष्य रखा है और इसी कड़ी में सजाटवती मछली पालन के साथ ही धरती पुत्र की खुशहाली के लिए अनेक बड़ी योजनाओं के माध्यम से लाभांवित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इंटिग्रेटिड फार्मिंग के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया जा रहा है और मछली पालन के साथ ही फल व फूलों की खेती को भी बढ़ावा दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि झज्जर जिले के गांव तलाव में मत्स्य पालकों की सुविधा के लिए सजावटी मछली का ट्रेनिंग सैंटर भी खोले जाने पर विचार किया जाएगा और लोगों की मांग के अनुरूप सैंटर को जल्द शुरू कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि देश की राजधानी के साथ सटे होने का लाभ हरियाणा को उठाना चाहिए और दिल्ली की आवश्यकताओं को समझते हुए हुए उसी अनुरूप उत्पादन कर किसान आय में वृद्धि कर सकता है। उन्होंने कहा कि झज्जर जिले में बनने वाले इस उत्कृष्टता केंद्र से पूरे एनसीआर के किसानों की समृद्धि होगी।

उन्होंने खुशी जताई कि प्रदेश के कृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ की पहल पर जो यह केंद्र खोले जा रहे हैं वह निश्चित तौर पर किसानों के लिए एक बेहतर आय के साधन विकसित करने का सकारात्मक कार्य है जिसके लिए वे बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि हरियाणा के किसानों के लिए मत्स्य पालन को बढ़ावा देते हुए जो नीली क्रांति में सहयोग दिया जा रहा है उससे हरियाणा प्रदेश मत्स्य उत्पादन में अग्रणी बनता जा रहा है। भले ही यहां के किसान शाकाहारी हों लेकिन मत्स्य पालन का उत्पादन कर वे दूसरे राज्यों के लोगों के लिए बेहतर उत्पादन का जरिया बन सकते हैं और अच्छी मार्केटिंग करते हुए आमदनी में इजाफा कर सकते हैं।

शिलान्यास कार्यक्रम में प्रदेश के कृषि एवं मत्स्य पालन मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि जब उन्होंने विभाग संभाला थ तब इस विभाग का बजट महल 5 करोड़ रूपए था जबकि अब उनके विभाग का बजट 150 करोड़ रूपए तक पहुंंच गया है। जिसमें से करीब 70 करोड़ रूपए प्रदेश के मत्स्य पालकों को सब्सिडी के रूप में भी दिए जा रहे हैं।

उन्होंने कहा कि हमारे जिले की जनता को दिल्ली के समीप होने का लाभ मिले इसके लिए न केवल सजावटी मछली की हैचरी के उत्कृष्टता केंद्र की सौगात क्षेत्र के किसानों को दी जा रही है वहीं फूल उत्पादन का उत्कृष्टता केंद्र सौंधी में, बागवानी विश्वविद्यालय का रिजनल सैंटर रईया में जिले में खुलने जा रहा है। ऐसे में बाजार की मांग के अनुरूप हमारे किसानों को परिपक्व किया जा रहा है।

उन्होंने हाल ही में अपने इजराइल दौरे का जिक्र करते हुए कहा कि वहां भी सजावटी मछली के बेहतर केंद्र हैं और हरियाणा प्रदेश में भी ऐसे केंद्र स्थापित करने के लिए वे पूरी तरह से सजग हैं। उन्होंने कहा कि धरती पुत्र की खुशहाली के लिए वे निरंतर प्रयासरत हैं और अनाज उत्पादन के साथ ही बागवानी व मत्स्य पालन उत्पादन संबंधित योजनाओं में किसानों को सरकार की ओर से पूरा सहयोग दिया जा रहा है।

मत्स्य पालन मंत्री ने कहा कि मछली पालन के उत्कृष्टता केंद्र को विश्चस्तरीय बनाने की सोच के साथ शुरू किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि एनसीआर में सजावटी मछली की बड़ी मार्केट है। उतर भारत में इस तरह का कोई भी केंद्र नहीं है। फिलहाल सजावटी मछली कलकता और चेन्नई से मंगाई जाती है।

झज्जर में इस तरह का केंद्र खुलने से निश्चित तौर पर युवाओं को सजावटी मछली के कारोबार में रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे। युवाओ को मत्स्य पालन व मार्के टिंग की टें्रनिंग भी दी जाएगी।

इस अवसर पर बहादुरगढ़ से विधायक नरेश कौशिक, उपायुक्त सोनल गोयल, एएसपी लोकेंद्र सिंह, मत्स्य पालन विभाग के निदेशक आर.के सांगवान, एडीसी सुशील सारवान, जिला परिषद के वाइस चेयरमैन योगेश सिलानी, पूर्व मंत्री कांता देवी, भाजपा नेत्री सुनीता चौहान, पवन छिल्लर, डा.धर्मेंद्र, दीपक राज्याण, राय सिंह, उपनिदेशक आर.सी.कौशिक, जिला मत्स्य अधिकारी श्रीपाल राठी सहित अन्य अधिकारीगण व प्रदेश भर से आए मत्स्य पालक मौजूद रहे।