भारतीय आयुर्वेद उपचार पद्धति पांचवां वेद —मुख्यमंत्री

चंडीगढ़—————— हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि आयुर्वेद का मतलब आयु बढ़ाने वाला वेद, इसलिए भारतीय आयुर्वेद उपचार पद्धति को पांचवां वेद भी कहा जा सकता है। इस पद्धति से बीमारी दूर ही नहीं होती, अपितु यह शरीर से बीमारी को बिल्कुल खत्म कर देता है।

हरियाणा में हमने आयुष ही नहीं, बल्कि ऐलोपैथी, यूनानी, प्राकृतिक चिकित्सा और होम्योपैथी को लेकर काफी काम किया गया है। मुख्यमंत्री आज जिला सोनीपत के झरौठ गांव में केंद्रीय राज्य मंत्री श्री विजय गोयल की पुस्तैनी दुकान में बनने वाले लाला खेमचंद चरती लाल गोयल राजकीय आयुर्वेदिक औषधालय का शिलान्यास करने के उपरांत जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव में शुरू किया गया यह आयुर्वेदिक औषधालय इस गांव व आसपास के क्षेत्र के लोगों के लिए भी बड़ी सौगात है। केंद्रीय मंत्री विजय गोयल ने अपनी पुस्तैनी हवेली और दुकान को क्षेत्र के लोगों को समर्पित किया है। एक हवेली में आयुर्वेदिक औषधालय और दूसरे दूसरे में संग्रहालय या पुस्तकालय खोला जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में आयुर्वेद को बढ़ावा देने के लिए पंचकूला में 20 एकड़ भूमि पर आयुर्वेद का एम्स खोला जाएगा। इसके साथ ही कुरुक्षेत्र के श्रीकृष्णा आयुर्वेद कालेज को विश्वविद्यालय का दर्जा दिया गया है। नूंह में राजकीय यूनानी कालेज एवं हास्पिटल बनाया गया है।

नारनौल में पटीकरा गांव में आयुर्वेद कालेज की बिल्डिंग बनकर तैयार है अगले वर्ष इसमें काम शुरू हो जाएगा।

झज्जर में केंद्र सरकार की तरफ से सेंट्रल काउंसिल आफ योगा एंड नैचुरोपैथी की तरफ से प्रशिक्षण केंद्र शुरू किया जा रहा है।

फरीदाबाद में 120 बिस्तर का एक अस्पताल और उसके साथ ही राष्ट्रीय यूनानी रिसर्च अनुसंधान भी बनने जा रहा है।

श्री मनोहर लाल ने कहा कि हमने इससे भी बड़े स्तर पर हरियाणा में आयुष के विकास की योजना बनाई है। प्रदेश में फिलहाल तीन आयुर्वेदिक अस्पताल, 19 होम्योपैथिक और 458 आयुर्वेदिक डिस्पेंसरी चल रही हैं। इस तरह हमने हरियाणा में एलोपैथी के साथ-साथ आयुष पर भी तेजी से काम किया है।

उन्होंने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर योग को ख्याति दिलवाने व 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस घोषित करवाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सफल प्रयासों की प्रशंसा की करते हुए कहा कि इससे विश्व में भारत देश का मान बढ़ा है। कार्यक्रम में उन्होंने गांव की दोनों पंचायतों आनंदपुर व झरौठ की तरफ से सौंपी गई सभी 14 मांगों को पूरा करते हुए दो करोड़ रुपये देने की घोषणा भी की।

उन्होंने उपस्थित सभी लोगों को आश्वस्त करते हुए कहा कि सोनीपत जिला के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी। इसके साथ ही केएमपी को क्षेत्र के लिए वरदान बताते हुए उन्होंने कहा कि इसके दोनों तरफ औद्योगिक क्षेत्र विकसित होंगे और इससे स्थानीय युवाओं के लिए रोजगार के नए रास्ते खुलेंगे। उन्होंने कहा सोनीपत आज के दिन बड़ा आर्थिक हब बनने की ओर अग्रसर है।

केंद्रीय संसदीय कार्य राज्य मंत्री श्री विजय गोयल ने संबोधित करते हुए कहा कि उनका जन्म आनंदपुर गांव में हुआ। यहां उनके दादा व्यापार करते थे और उसके बाद उनके पिता दिल्ली में स्थानांतरित हो गए थे। दिल्ली में वह विधानसभा के पहले स्पीकर बने और उपमहापौर भी रहे। उन्होंने कहा कि इस गांव से उनकी जड़े जुड़ी हुई हैं इसलिए उन्होंने अपनी पुस्तैनी हवेली में आयुर्वेदिक अस्पताल खोलने की मांग की थी और मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने इसे तुरंत स्वीकार भी कर लिया।

श्री गोयल ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के नेतृत्व में प्रदेश लगातार तरक्की कर रहा है। केंद्र में प्रधानमंत्री मोदी और हरियाणा में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल 24 घंटे लोगों के हित के लिए काम कर रहे हैं। कार्यक्रम में ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री व अन्य अतिथियों को पगड़ी पहनाकर स्वागत किया।

कार्यक्रम में शहरी स्थानीय निकाय, महिला एवं बाल विकास मंत्री कविता जैन, सांसद रमेश कौशिक, भाजपा प्रदेश मीडिया प्रभारी राजीव जैन, हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड की चेयरमैन कृष्णा गहलावत, हरियाणा राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के चेयरमैन रामचंद्र जांगड़ा, भाजपा जिलाध्यक्ष डा. धर्मवीर नांदल, भाजपा के दिल्ली प्रदेश के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष मांगे राम गर्ग, तिलक राज कटारिया, प्रदेश उपाध्यक्ष कविता चौधरी, देवेंद्र कौशिक, जिला महामंत्री मनोज जैन, प्रीतम खोखर, गुलशन ठेकेदार, अनिल झरौठी, सोनिया अग्रवाल, मनिंद्र सन्नी, सुनीता लोहचब, कमिश्नर चंद्र प्रकाश, उपायुक्त के मकरंद पांडुरंग, पुलिस अधीक्षक सतेंद्र गुप्ता सहित सैकड़ों गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।