बीबीएमबी की अतिरिक्त भूमि लघु उद्योगों के स्थापना के लिए उपयोग -मुख्यमंत्री

हिमाचलप्रदेश ——— भारतीय उद्योग महासंघ (सीआईआई) का एक प्रतिनिधि मण्डल सीआईआई उत्तर के अध्यक्ष श्री सचित जैन की अध्यक्षता में मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर से मिला प्रतिनिधि मण्डल ने ओद्यौगिक क्षेत्र बद्दी-बरोटी वाला तथा नालागढ़ में उद्यमियों को आ रही विभिन्न समस्याओं बारे में मुख्यमंत्री से चर्चा की।

उन्होंने विभिन्न मामलों विशेषकर परिवहन समस्या, ऊर्जा स्तरोन्यन तथा ट्रक यूनियन के लम्बित मामलों के निदान के लिए टास्क फोरस गठित करने पर बल दिया। उन्होंने कहा कि वे कच्चे माल की परिवहन की समस्या से जुझ रहे हैं और पंजाब तथा हरियाणा से विद्युत दरों पर कड़ी प्रतिस्पर्धा है पड़ोसी राज्य में यह पांच प्रति यूनिट है जो पड़ोसी राज्य की तुलना में हिमाचल में अधिक है।

मुख्मंत्री ने प्रतिनिधि मण्डल को हर सम्भव सहायता प्रदान करने का आश्वासन दिया तथा कहा कि ओद्यौगिक क्षेत्रों को जोड़ने के लिए हर सम्भव कदम उठाए जाएंगे। उन्होंने कहा कि भाखड़ा ब्यास प्रबन्धन बोर्ड की अतिरिक्त भूमि पर छोटे व लघु उद्योग स्थापित करने पर विचार किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ओद्यौगिक क्षेत्र को रेल से जोड़ने की सम्भावनाओं को भी तलाशा जाएगा ताकि ओद्यौगिक इकाईयों तक कच्चा माल पहुंचाया जा सके। उन्होंने कहा कि ओद्यौगिक क्षेत्र में नई पहल की आवश्यकता है। उन्होंने उद्यमियों की समस्याओं को हल करने का भी आश्वासन दिया।

मुख्यमंत्री ने हरियाणा सरकार के साथ फोरलेन का मामला उठाने का भी आश्वासन दिया। अन्य राज्यों द्वारा प्रयोग की जा रही नवीनीकरण ऊर्जा की नीति तैयार करने के लिए भी सुझाव मांगे। सचित जैन ने लघु तथा छोटे उद्योगों के लिए लागू की जा रही आदर्श नीति पर भी चर्चा की।

उद्योग मंत्री श्री बिक्रम सिंह, अतिरिक्त मुख्य सचिव आर.डी. धीमान, सीआईआई उत्तर के राजेश साबू तथा बाबू खां भी इस अवसर पर उपस्थित थे।