बीएचयू छेड़खानी के समर्थन में कुलपति ?? -12 घंटे तक सिंहद्वार बंद

वाराणसी (जेएनएन)। छेड़खानी से त्रस्त बीएचयू की छात्राओं का धैर्य गुरुवार देर शाम हुई घटना के बाद जवाब दे गया। शुक्रवार को शहर में पीएम मोदी के आगमन से पूर्व सुबह बड़ी संख्या में आक्रोशित छात्राएं सड़क पर उतर आईं। बीएचयू सिंहद्वार पर उनकी गर्जना से शासन-प्रशासन हिल गया। 1

छात्राओं के आक्रोश-आंदोलन की धमक सिर्फ काशी ही नहीं दिल्ली ने भी महसूस की। छात्राओं को सिंहद्वार से न हटता देख एसपीजी को मौके पर जाना पड़ा। छात्राओं ने करीब 12 घंटे तक सिंहद्वार बंद किए रखा, जिला-पुलिस प्रशासन के हाथ-पांव फूले रहे।

त्रिवेणी और महिला महाविद्यालय के हॉस्टलों की छात्राओं ने सुबह से ही आंदोलन शुरू कर दिया। उनकी मांग थी कि कुलपति आकर उन्हें सुरक्षा के प्रति आश्वस्त करें, पर वे नहीं आए। इससे पांच मिनट में ही समाप्त होने वाला आंदोलन सुबह से रात तक चलता रहा। छात्राओं ने प्रशासन पर हास्टलों में कैद करने का भी आरोप लगाया।

(दैनिक जागरण)