बाल सम्प्रेषण गृह दुर्ग का निरीक्षण—बाल अधिकार संरक्षण आयोग

रायपुर——— छत्तीसगढ़ बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष श्रीमती प्रभा दुबे ने आज दुर्ग के बाल सम्प्रेषण गृह से 7 बच्चों के चले जाने के मामले को तत्काल संज्ञान में लेते हुए आज पुलगांव स्थित बाल संप्रेषण गृह का निरीक्षण किया.
1
श्रीमती दुबे ने जिला कलेक्टर को इस मामले की जाँच रिपोर्ट छत्तीसगढ़ बाल अधिकार संरक्षण आयोग को उपलब्ध कराने के लिए कहा. उन्होंने बाल सम्प्रेषण गृह के प्रभारी अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस तरह की घटनाओं के कारणों की तह तक पहुंचें और फिर उनका समाधान करें ताकि भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति न हो.

उन्होंने अधिकारियों को कड़े निर्देश दिए कि वे बाल सम्प्रेषण गृह मेंशिक्षा,स्वास्थ्य,सुरक्षा के सभी इंतज़ाम दुरुस्त करें. बच्चों को बेहतर वातावरण मिल सके.

श्रीमती दुबे ने इस दौरान बाल संप्रेषण गृह के बच्चों से मुलाकात भी की और उनसे उनकी समस्याएं पूछीं.श्रीमती दुबे ने बच्चों को आश्वासन दिया कि उनकी सुरक्षा और समस्याओं के निदान के लिए छत्तीसगढ़ बाल अधिकार संरक्षण आयोग प्रतिबद्ध है इसलिए वे अपने मन की बात और समस्याओं के बारे में उनसे बात कर सकते हैं.

इस दौरान उनके साथ आयोग के सदस्य श्री अंकित ओझा और श्रीमती मीनाक्षी तोमर ,दुर्ग की जिला महिला बाल विकास अधिकारी श्रीमती गुरप्रीत कौर हूरा ,प्रभारी जिला बाल संरक्षण अधिकारी श्री अभिषेक त्रिपाठी भी मौजूद थे .