बाल श्रमिकों और बंधक श्रमिकों के सर्वेक्षण और पुनर्वास विषय पर कार्यशाला शुरू

रायपुर—- छत्तीसगढ़ सरकार के श्रम विभाग द्वारा यहां नवीन विश्राम भवन में बाल एवं बंधक श्रमिक सर्वेक्षण व पुनर्वास के संबंध में प्रशिक्षण के लिए दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया है। श्रम विभाग के विशेष सचिव सह श्रमायुक्त श्रीमती आर. संगीता ने आज सवेरे प्रशिक्षण कार्यशाला का शुभारंभ किया।

1

कार्यशाला का आयोजन राष्ट्रीय श्रम संगठन, नई दिल्ली के सहयोग से किया जा रहा है। कार्यशाला में बाल एवं किशोर श्रमिक प्रतिषेध एवं विनियमन संशोधन अधिनियम के संबंध में जानकारी दी जाएगी। अधिनियम का उल्लंघन करने वालों पर की जाने वाली कार्रवाई के संबंध में भी जानकारी दी जाएगी।

इस मौके पर श्रीमती आर. संगीता ने कहा कि श्रम विभाग के साथ ही अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियों को श्रम कानूनों की पूरी जानकारी होनी चाहिए। बाल एवं बंधंक श्रमिकों के सर्वेक्षण और पुनर्वास के लिए शिक्षा, पंचायत, महिला बाल विकास, पुलिस आदि विभागों से समन्वय के साथ कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि बच्चे स्कूल जरूर जाएं। इस बात का भी ध्यान रखना जरूरी है।

कार्यशाला में श्रम कल्याण मंडल के कल्याण आयुक्त श्री अजितेश पाण्डेय, छत्तीसगढ़ भवन एवं अन्य सन्ननिर्माण कर्मकार कल्याण मंडल, छत्तीसगढ़ असंगठित कर्मकार सामाजिक सुरक्षा मंडल, औद्योगिक स्वास्थ्य एवं सुरक्षा, पुलिस विभाग, उद्योग विभाग, बाल अधिकार संरक्षण आयोग, लोक शिक्षण संचालनालय, महिला एवं बाल विकास विभाग, नगरीय प्रशासन विभाग, स्वास्थ्य विभाग, आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग और पंचायत संचालनालय के अधिकारी मौजूद थे।