फिल्मों के बाद राजनीतिक छलांग की तैयारी —–अभिनेता राजा बुंदेला

खजुराहो(राजीव शुक्ला पत्रकार) — फिल्मी दुनिया के रुपहले परदे से हटकर ,कई मुंबईया कलाकारों ने राजनीति में भी अपने हाथ आजमाए हैं| किसी ने लोकसभा एवं विधानसभा चुनाव लड़कर और कुछ सीधे राज्यसभा के माध्यम से राजनैतिक सीढ़ियां चढ़े|इसी क्रम में बुंदेलखंड अंचल से फिल्मी दुनिया में अपना नाम अर्जित करने वाले श्री राजा बुंदेला भी खजुराहो लोकसभा क्षेत्र से अपनी राजनीतिक बिसात बिछाने की तैयारी में लगे हुए हैं|

विगत कुछ वर्षों से बुंदेलखंड प्रांत की स्थापना को लेकर जोरदार मुहिम चलाने वाले श्री राजा बुंदेला ने बुंदेलखंड अंचल के विभिन्न जिलों, तहसील ,कस्बों एवं ग्रामों का दौरा कर बुंदेलखंडीयों के बीच अपनी एक अलग पहचान कायम कर बुंदेली जुबान में बात कर आम जनमानस में अपनी एक अलग अमिट छाप छोड़ने में सफल हुए हैं|

खजुराहो फिल्म महोत्सव के माध्यम से लगातार फिल्मी सितारों को खजुराहो लाकर खजुराहो के पर्यटन में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहे हैं, खजुराहो फिल्म महोत्सव को एक विशाल आकार देने वाले श्री राजा बुंदेला खजुराहो अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव के अलावा नेशनल फेस्टिवल के तहत ओरछा एवं देवगढ़ में भी सार्थक प्रयास कर रहे हैं, आगामी समय में चंदेरी तथा चित्रकूट में भी नेशनल फेस्टिवल के माध्यम से बुंदेलखंड की धरा को एवं यहां के कलाकारों को सीधे मुंबई से जोड़ने का एक अनूठा प्रयास कहा जाएगा|

ललितपुर जिला के जमुनिया ग्राम में जन्मे श्री राजा बुंदेला ने पत्रकार राजीव शुक्ला ‘पुरांत’से बातें साझा करते हुए बताया कि उनका फिल्मी सफर 38 वर्ष लगभग पूर्व फिल्म ब्रजभूमि से आरंभ कर , स्वाति, स्वर्ग,शोला शबनम,अर्जुन,परमात्मा , विजेता, मैं आजाद हूं,हैप्पी भाग जाएगी, अंकुश जैसी अनेकों फिल्म के अलावा बाइबल सीरियल तथा तारा में रोहित अंकल के नाम से प्रसिद्धि प्राप्त करने के बाद प्रथा , जी जान से, किसने भरमाया मेरे लखन को ,एलेक्स हिंदुस्तानी ,मुझे चांद चाहिए ,स्कैंडल, ओ मारिया ,यह शादी नहीं हो सकती, मिलते हैं ब्रेक के बाद सहित अनेकों सीरियल में आपने बहुत ही शानदार अभिनय के माध्यम से लोगों को आकर्षित किया है|

आपके द्वारा आयोजित फिल्म महोत्सव के माध्यम से बुंदेलखंड अंचल के कलाकारों को आयोजित विभिन्न विधाओं की कार्यशाला के माध्यम से उनके अंदर के प्रतिभावो को निखार कर मुंबई पहुंचाने में भी सहायक सिद्ध हुए हैं , साथ ही खजुराहो जैसे महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल को फिल्मी दुनिया में स्थान दिलाने के लिए एवं क्षेत्र में फिल्मों के निर्माण तथा फिल्मी गतिविधियों को संचालित करने का एक प्लेटफार्म प्रदान करने के उद्देश्य से किए जा रहे प्रयास निश्चित रूप से सराहनीय है| इससे ना सिर्फ खजुराहो के पर्यटन व्यवसाय में बढ़ोतरी होगी, बल्कि इस अंचल के सैकड़ों कलाकारों को अपने अंदर की प्रतिभा में निखार ला कर ऊंचाइयां प्राप्त करने का अवसर भी प्राप्त हुआ है| आयोजन के माध्यम से विभिन्न सामाजिक गतिविधियों को भी आपके द्वारा संचालित किया जाता व सम्मानित किया गया है जो अतुलनीय प्रयास कहां जाएगा |

विगत कुछ वर्षों से भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारिणी में सदस्य होने के साथ विभिन्न टीवी चैनलों में पार्टी की विचारधारा को लेकर डिबेट के माध्यम से भी आपने अपनी राजनैतिक दक्षता को प्रदर्शित किया है|

केंद्रीय नेतृत्व मैं अपनी एक अहम पकड़ रखने वाले कुशल वक्ता के तौर पर महारत हासिल कर फिल्मों के साथ साथ राजनैतिक दक्षता हासिल प्राप्त कर चुके श्री राजा बुंदेला आगामी 2019 के लोकसभा चुनाव हेतु अगर खजुराहो संसदीय क्षेत्र से प्रत्याशी बनाए जाते हैं तो निश्चित तौर पर उन्हें इस क्षेत्र की जनता सहर्ष स्वीकार कर लोकसभा तक पहुंचाने का काम करेगी|

खजुराहो लोकसभा क्षेत्र जोकि कटनी तक विस्तारित है , इसका बहुत बड़ा भूभाग पन्ना एवं कटनी के क्षेत्र में है जातिगत समीकरण एवं लोकप्रियता के हिसाब से श्री राजा बुंदेला उपयुक्त प्रत्याशी साबित हो सकते है|

खजुराहो लोकसभा क्षेत्र जो कि विश्व प्रसिद्ध पर्यटन नगरी खजुराहो के नाम से है खजुराहो के पर्यटन एवं इस स्थल के महत्व को ऊंचाइयां प्रदान करने की दक्षता रखने वाले श्री राजा बुंदेला जैसे राजनीतिज्ञ अगर इस मैदान में आते हैं तो हम यकीन कर सकते हैं कि इस क्षेत्र का पर्यटन व्यवसाय अपनी ऊंचाइयों पर होगा साथ ही क्षेत्र का संपूर्ण विकास कर बुंदेलखंड की पलायन जैसी विकराल समस्या से निजात दिलाने हेतु उद्योग धंधों का भी विकास होगा एवं कल कारखाने लाकर तथा फिल्म उद्योग से कुछ नए अवसर तलाश कर इस क्षेत्र में स्थापित कर लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त हो सकते हैं|

फिलहाल आपकी धर्मपत्नी श्रीमती सुष्मिता मुखर्जी के सामाजिक संगठन ‘रुद्राणी’ बुंदेली कला ग्राम एवं स्वयं आपका” प्रयास प्रोडक्शन’ना सिर्फ फिल्मों के निर्माण एवं विकास के लिए कार्य कर रहा है ,बल्कि बुंदेली परंपरा विकास एवं क्षेत्र के कलाकारों को नए अवसर तलाश कर उनके कला के क्षेत्र में ताना-बाना बुनने में सहायक साबित हो कर, बुंदेली धरा में अपनी एक अलग पहचान बना कर बुंदेलखंड को विकसित तथा प्रचारित कर खोए हुए अस्तित्व को जगाने का प्रयास कर रहे हैं|

विभिन्न सामाजिक संगठनों बुंदेलखंड के विकास हेतु पृथक बुंदेलखंड राज्य फिल्मी सितारों को बुंदेलखंड की धरा में उतारना एवं यहां की बुंदेली फिल्मों को बॉलीवुड तक पहचान दिलाना, यहां के नवोदित कलाकारों को सीधे बड़े बैनर्स के निर्माता-निर्देशक एवं कलाकारों से सीधा संवाद कराके ,उनको अवसर दिलाना, आगे बढ़ने में सहायक साबित हो कर क्षेत्र की प्रतिभाओं को मंच के माध्यम से सम्मानित करना, खजुराहो जैसे अति महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल को लेकर इनकी संवेदनशीलता, ‘खजुराहो अंतरराष्ट्रीय फिल्म महोत्सव ‘ के माध्यम से सिद्ध होती है l अतः अगर इन्हें खजुराहो लोकसभा क्षेत्र से प्रत्याशी बनाया जाता है ,तो निश्चित रूप से भारतीय जनता पार्टी के लिए उपयुक्त उम्मीदवार साबित हो सकते हैं|