पूज्य भंते प्रज्ञानंद जी की परिनिर्वाण यात्रा

लखनऊ——– लक्ष्य के सैकड़ो कमांडरों ने लखनऊ में पूज्य भंते प्रज्ञानंद जी की परिनिर्वाण यात्रा में लक्ष्य के रथ के साथ बढ़ चढ़कर लिया। बौद्ध भिक्षु प्रज्ञानंद का जन्म श्रीलंका में हुआ था। 1942 में इंडिया आ गए थे।
1
पूज्य भंते प्रज्ञानंद जी ने 14 अप्रैल 1956 को नागपुर में 7 भिक्षुओं के साथ डॉ. भीम राव अम्बेडकर को बौद्ध धर्म की दीक्षा दी थी। प्रज्ञानंद का 90 साल की उम्र में 30 नवंबर को शहर के के.जी.एम्.यु. अस्पताल में निधन हो गया था !

भंते प्रज्ञानंद जी को श्रद्धांजलि देने के लिए देश और विदेश की प्रख्यात हस्तियां पहुंचे जिसमे देश के राष्ट्रपति श्री राम नाथ कोविन्द जी, उपराष्ट्रपति श्री वेंकैया नायडू जी, उत्तर प्रदेश के राज्यपाल श्री राम नायक जी, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी, उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री सुश्री मायावती जी, श्री अखिलेश यादव जी व् देश -प्रदेश के उच्च अधिकारी भी सम्मिल हुए!

लंदन से आई श्रीमती थीया रोलिंग जो लक्ष्य के प्रोग्राम में सम्मिलित होने आई थी उन्होंने भी रिशाल पार्क के बौद्ध विहार में जाकर भंते जी को श्रद्धांजलि अर्पित की तथा उनके बारे में जाना !

यह यात्रा लखनऊ के रिसालदार पार्क बौद्ध विहार से चलकर आंबेडकर महासभा, हजरतगंज चौराहे से होते हुए आंबेडकर पार्क पर समाप्त हुई। लक्ष्य के सैकड़ों कमांडर व अन्य संगठनों के हजारों लोगों के साथ उत्तर प्रदेश के श्रावस्ती की ओर कूंच कर गए जहाँ पर 17 दिसंबर 2017 को दोपहर 1 बजे पूज्य भंते जी के पावन शरीर का अंतिम संस्कार किया जायेगा और जिसमें देश और विदेशों के लाखों लोग हिस्सा लेंगें।

मंजीत कौर- कमांडर-लक्ष्य-9454613179
बीना सम्राट- कमांडर-लक्ष्य-9565584338