पीएनजी पाइप लाइन अब बहादुरगढ में भी —

बहादुरगढ़———– लोगों को घर में गैस सिलेंडर रखने और सिलेंडर की हर माह होने वाली बुकिंग के झंझट से मुक्ति दिलाने की दिशा में बहादुरगढ़ शहरी क्षेत्र को पीएनजी पाइप लाइन से जोड़े जाने की प्रक्रिया हलके के जनप्रतिनिधि द्वारा शुरू की गई है।

शहर के लोगों की सुविधा व जनभावनाओं को मद्देनजर रखते हुए विधायक नरेश कौशिक ने देर सांय दिल्ली में केंद्रीय पैट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस मंत्री श्री धमेंद्र प्रधान से मुलाकात की।

उन्होंने मुलाकात के दौरान हलके के जनप्रतिनिधत्व के रूप में केंद्रीय मंत्री को पीएनजी पाइप लाइन योजना में बहादुरगढ़ शहर को शामिल करने का प्रस्ताव रखा। जिस पर केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री ने सहानुभूतिक पूर्वक विचार करते हुए योजना को सिरे चढ़ाने का विश्वास दिलाया।

विधायक नरेश कौशिक ने केंद्रीय मंत्री श्री प्रधान को बताया कि बहादुरगढ़ शहरी क्षेत्र देश की राजधानी दिल्ली से सटा हुआ है और घरलू गैस उपभोक्ताओं के करीब एक लाख से अधिक गैस कनेक्शन एलपीजी पर निर्भर हैं।

औद्योगिक क्षेत्र के रूप में बढ़ते बहादुरगढ़ शहर को पीएनजी पाइप लाइन से जोड़ते हुए उपभोक्ताओं को लाभांवित किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि इस महत्वाकांक्षी योजना के लिए मंत्रालय की ओर से सर्वे कार्य भी किया जा चुका है।

नगरपरिषद बहादुरगढ़ द्वारा अपनी बैठक में इस विषय बारे प्रस्ताव की स्वीकृति भी दी जा चुकी है और परिषद योजना को फलीभूत करने में अपना पूरा सहयोग देगी।

विधायक कौशिक ने कहा कि पाइप्ड नेचुरल गैस यानि पीएनजी प्रोजेक्ट हलके के विकासात्मक कदम में काफी सहयोगी बनेगा और लोगों के घरों में एलपीजी कुकिंग गैस की सप्लाई की अपेक्षा पीएनजी की सप्लाई शुरू करवाने की पहल की जा रही है।

विधायक ने बताया कि एलपीजी की ही तरह पीएनजी भी एक नैचुरल गैस होती है। यह मीथेन गैस में कार्बन की मात्रा हाइड्रोजन की तुलना में कम होती है, इसलिए यह पूरी तरह जल जाती है।

नतीजा ये है कि यह ज्यादा एन्वायरमेंट फ्रेंडली होती है। वहीं पीएनजी हवा से हल्की भी होती है। इसके प्रयोग से हादसों की संभावना कम होती हैं और एलपीजी के मुकाबले यह काफी हद तक सुरक्षित भी है।