दस करोड़ से ऊपर के कार्य में गड़बड़ी पर निलंबित होंगे मुख्य अभियंता

रायपुर—-(प्रेमलाल)——–लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत ने आज नया रायपुर स्थित निर्माण भवन में आयोजित बैठक में विभागीय काम-काज की विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने सभी विभागीय अधिकारियों को निर्माण कार्यो को गुणवत्ता के साथ समय-सीमा में पूर्ण करने का आवश्यक जिम्मा भी सौंपा। इसके लिए उन्होंने अधिकारियों को सप्ताह में कम से कम तीन दिवस निर्माणाधीन कार्यो का मौका निरीक्षण के भी निर्देश दिए।

?

लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत,

श्री मूणत ने अधिकारियों को यह भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि प्रदेश में माह दिसम्बर तक खासकर हर राष्ट्रीय राजमार्ग और मुख्य जिला मार्ग गड्ढा विहीन हो जाए। बैठक में लोक निर्माण विभाग के सचिव श्री सुबोध कुमार सिंह तथा विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी श्री अनिल राय सहित कार्यपालन अभियंता से लेकर प्रमुख अभियंता तक के अधिकारी उपस्थित थे।

लोक निर्माण मंत्री श्री मूणत ने बैठक में मुख्यमंत्री के विशेष निगरानी वाले सभी 360 निर्माण कार्यो की प्रगति की भी समीक्षा की। इनमें अब तक अप्रारंभ 51 कार्यो को 30 नवम्बर तक हर हालत में शुरू किए जाने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया। सड़क तथा भवन आदि के इन कार्यो में से अब तक 101 कार्य पूर्ण तथा 125 कार्य प्रगतिरत और 51 कार्य अप्रारंभ है।

श्री मूणत ने इस दौरान निर्माण कार्यो में गुणवत्ता के लिए अभियंताओं को आवश्यक जिम्मा भी सौंपा। इसके तहत 10 करोड़ रूपए से ऊपर के निर्माण कार्य में गड़बड़ी पाए जाने पर संबंधित मुख्य अभियंता के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई होगी। इसी तरह पांच करोड़ रूपए से ऊपर 10 करोड़ रूपए तक के कार्य में गड़बड़ी पर संबंधित अधीक्षण अभियंता तथा एक करोड़ रूपए से ऊपर पांच करोड़ रूपए तक के कार्य में गड़बड़ी पर संबंधित कार्यपालन अभियंता और 50 लाख रूपए से ऊपर एक करोड़ रूपए तक के निर्माण कार्य में गड़बड़ी पाए जाने पर संबंधित अनुविभागीय अधिकारी (लो.नि.बि.) के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई की जाएगी। संबंधित ठेकेदार के खिलाफ भी आवश्यक कार्रवाई होगी।

बैठक में लोक निर्माण मंत्री श्री मूणत ने पूरे प्रदेश में सुगम आवागमन के लिए सड़कों को गड्ढा विहीन करने के लिए विभागीय अधिकारियों को विशेष जोर दिया। इसके तहत उन्होंने राज्य में खासकर राष्ट्रीय राजमार्ग और मुख्य जिला मार्गों सहित प्रमुख ग्रामीण मार्गो को माह दिसम्बर तक हर हालत में गड्ढा विहीन सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक निर्देश दिए।

इस दौरान उन्होंने निर्माण कार्यो की गुणवत्ता के लिए प्रमुख अभियंता से लेकर कार्यपालन अभियंताओं को हर माह अपने-अपने अधीनस्थ विभागीय अधिकारियों का नियमित रूप से समीक्षा करने के लिए निर्देशित किया। श्री मूणत ने निर्माणाधीन प्रमुख मार्गो तथा पुल-पुलिया सहित भवनों को गति के साथ समय-सीमा में पूर्ण करने के लिए आवश्यक निर्देश दिए।

इस दौरान उन्होंने निर्माणाधीन राजनांदगांव, जगदलपुर तथा रायगढ़ के मेडिकल कॉलेजों की प्रगति की समीक्षा की और इनमें से जगदलपुर तथा रायगढ़ के मेडिकल कॉलेज के शेष कार्य को 25 जनवरी 2018 तक हर हालत में पूर्ण करने के लिए निर्देशित किया।