टीकाकरण अभियान बच्चों की जिन्दगी— मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान

भोपाल : (अजय वर्मा)———-मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि टीकाकरण अभियान बच्चों की जिन्दगी बचाने का प्रयास है। उन्होंने कहा कि सरकार के प्रयास की सफलता के लिये समाज का सहयोग बहुत जरूरी है। केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं सशक्तिकरण मंत्री श्री थावरचंद गेहलोत ने कहा कि अभियान के तहत पूर्ण टीकाकरण करने वाली पंचायतें पुरस्कृत होंगी।

टीकाकरण के विशेष अभियान के प्रभावी संचालन में भी मध्यप्रदेश अग्रणी रहेगा। मुख्यमंत्री निवास में आयोजित सघन मिशन इंद्रधनुष शुभारंभ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री और केन्द्रीय मंत्री ने बच्चों को दवा पिलाकर टीकाकरण अभियान की शुरूआत की। इस अवसर पर मोबाइल टीम को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया गया। स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को सात प्रकार के टीकों की जानकारीयुक्त सतरंगी छतरियाँ भी भेंट की गई।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि टीकाकरण बच्चों की जिन्दगी को अपंगता से बचाने का प्रयास है। यह मानवता की बड़ी सेवा है। अभियान को सफल बनाने के लिये जरूरी है कि समाज का हर व्यक्ति, वर्ग और समुदाय टीकाकरण में सहयोग करने के लिये आगे आये। उन्होंने नागरिकों, जनप्रतिनिधियों, समाजसेवियों और प्रबुद्धजनों का आव्हान किया कि उनके आसपास एक भी बच्चा टीकाकरण से वंचित नहीं रहने पाये।

उन्होंने कहा कि टीकाकरण का विशेष अभियान केन्द्र और राज्य सरकार के सहयोग से संचालित किया जा रहा है। अभियान के दौरान टीकाकरण और जन-जागरण के प्रयास किये जाएंगे। मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश के 13 जिलों और 89 अनुसूचित जनजाति विकासखण्डों में अभियान को फोकस किया जायेगा।

केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं सशक्तिकरण मंत्री श्री थावरचंद गेहलोत ने कहा कि केन्द्रीय योजनाओं के क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश का प्रदर्शन अग्रणी रहा है। मातृ एवं शिशु मृत्यु दर को कम करने में भी मध्यप्रदेश में प्रभावी प्रयास हुए हैं। उन्होंने आशा व्यक्त की कि अभियान संचालन में भी प्रदेश अग्रणी रहेगा।

उन्होंने बताया कि अभियान के अंतर्गत जिलों में पूर्ण टीकाकरण की उपलब्धि प्राप्त करने वाली ग्राम पंचायत को दो लाख रूपये का पुरस्कार दिया जायेगा। टीकाकरण में पिछड़े जिलों में सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान संचालित किया जा रहा है। यह अभियान मातृ-शिशु मृत्यु दर को कम करने का प्रयास है। अभियान का संचालन योजनाबद्ध तरीके से चरणों में किया जाएगा। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी स्वयं गुजरात के बड़नगर जिले से अभियान का शुभारंभ कर रहे हैं।

शुभारंभ कार्यक्रम में यूनिसेफ मध्यप्रदेश के प्रमुख श्री माईकल जूमा ने कहा कि पूर्ण टीकाकरण प्रभावी प्रयास है। उन्होंने प्रदेश सरकार के अभियान की सफलता के लिये की गई अभिनव पहल की सराहना की।

कार्यक्रम में बताया गया कि दूर-दराज के क्षेत्रों तक टीकाकरण पहुंचाने हेतु राज्य सरकार द्वारा देश में अपनी तरह की विशेष पहल की है। प्रदेश के सभी 89 अनुसूचित जनजाति विकासखण्डों में टीकाकरण के लिये 941 मोबाइल टीम का गठन किया गया है। अभियान के दौरान 2 हजार 668 स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के माध्यम से नवजात से दो वर्ष तक की उम्र के 90 हजार बच्चों और 23 हजार 234 गर्भवती महिलाओं को टीकाकरण की सेवाएँ 13 जिलों में दी जाएगी।

कार्यक्रम में आयुक्त लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण श्रीमती पल्लवी जैन गोविल, सचिव लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण श्री कवीन्द्र कियावत, यूनिसेफ मध्यप्रदेश के संचार विशेषज्ञ श्री अनिल गुलाटी भी मौजूद थे।