जीएसटी अत्यंत साहसिक कर-सुधार कदम है: उप मुख्यमंत्री श्री सुशील कुमार मोदी

नई दिल्ली (लोकेश कुमार झा) ——— माननीय उप मुख्यमंत्री, बिहार श्री सुशील कुमार मोदी ने कहा है कि जीएसटी अत्यंत साहसिक कर-सुधार कदम है। इसके लागू होने के पश्चात भारतीय अर्थव्यवस्था कहीं ज्यादा मजबूत होकर उभर रही है। वे आज नई दिल्ली में फिक्की (FICCI) के 90वां वार्षिक सामान्य बैठक (Annual General Meeting) में जीएसटी के विशेष सत्र को सम्बोधित कर रहे थे।
1
यह कार्यक्रम फिक्की के फेडरेशन हाउस में आयोजित किया गया था। इसमें पश्चिम बंगाल, जम्मू एवं कश्मीर के वित्त मंत्री, फिक्की के अध्यक्ष तथा अनेक उद्योगपति उपस्थित थे। उप मुख्यमंत्री श्री मोदी ने कहा कि जीएसटी व्यवस्था में सभी तरह की चुनौतियों का सामना करने की क्षमता विद्यमान है। जनहित में आने वाले समय में इसमें सुधार दिखाई पड़ेगा।

उप मुख्यमंत्री श्री मोदी ने जीएसटी के सभी पहलुओं एवं आयामों पर विस्तार से प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि वे वैट (VAT) के क्रियान्वयन की शुरूआती दिनों की परेशानियों को भी देख चुके हैं। जीएसटी विभिन्न प्रकार के करों का बहुत बड़ा एकीकरण है। जीएसटी के पूर्व एवं जीएसटी के लागू होने के पश्चात तुलना करने पर कर-व्यवस्था में काफी सकारात्मक परिवर्तन देखने को मिल रहा है।

उप मुख्यमंत्री श्री मोदी ने कहा कि सशक्त समिति के अध्यक्ष के तौर पर उन्होंने कई देशों का दौरा किया। जीएसटी को लागू किया जाना कोई सामान्य चीज नहीं है। इसमें कई अच्छाईयाँ हैं। स्वाभाविक तौर पर कुछ मुददे हैं जिसका सफलतापूर्वक हल कर लिया जायेगा।

उप मुख्यमंत्री श्री मोदी ने बताया कि जीएसटी की खासियत है कि जीएसटी परिषद में हर एक निर्णय सर्वसम्मति से लिया जाता है। यह हमारे संघीय व्यवस्था को मजबूत करता है। जीएसटी सभी राज्यों एवं क्षेत्रों के हित का संरक्षण करता है। एकरूप कर प्रणाली के कारण व्यावसायिक क्षेत्र में सरलीकरण दिखाई पड़ रहा है।

उप मुख्यमंत्री श्री मोदी ने कहा कि जीएसटी नेटवर्क काफी सशक्त है। यह नये अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था की रीढ़ है। जीएसटी नेटवर्क पोर्टल को सुगम बनाने के लिए इन्फोसिस को कहा गया है ताकि रिटर्न फाईल करने में करदाताओं की सुविधा को बढ़ाया जा सके। जीएसटी नेटवर्क को और ज्यादा यूजर-फ्रेन्डली एवं इन्टरेक्टिव बनाया जा रहा है।

उप मुख्यमंत्री श्री मोदी ने सम्बोधन के बाद परिचर्चा में भाग लिया। उन्होंने उद्योगपतियों के सभी प्रश्नों का एक-एक कर जवाब दिया। उन्होंने कहा कि जीएसटी परिषद काफी सक्रिय है। लोगों की समस्याओं को हल करने की ताकत इसमें है।

उप मुख्यमंत्री श्री मोदी ने कहा कि आने वाले समय में राजस्व संग्रह में जैसे-जैसे सुधार आएगा वैसे-वैसे जनता के हित में जीएसटी में भी परिवर्तन देखने को मिलेगा। पेट्रोलियम उत्पादों को भी इसमें शामिल करने पर विचार किया जा सकता है।

सहायक निदेशक,
बिहार सूचना केन्द्र, नई दिल्ली।