—ग्रामीण इलाकों में बीजेपी समर्थन —-

तीनों राज्यों की कुल 424 ग्रामीण इलाकों की सीटों में से बीजेपी के हिस्से सिर्फ 153 सीटें आई हैं जबकि 236 सीटों पर कांग्रेस ने जीत हासिल की है.

मध्य प्रदेश की कुल 230 सीटों में से 184 ग्रामीण सीटें हैं.

कांग्रेस ने ग्रामीण की 95 सीटों पर कब्ज़ा जमाया है.

राजस्थान की कुल 200 विधानसभा सीटों में से 162 सीटें ग्रामीण हैं.

कांग्रेस ने ग्रामीण इलाकों की 83 सीटों पर जीत हासिल की है.

छत्तीसगढ़ की कुल 90 सीटों में से 78 ग्रामीण इलाकों की हैं.

कांग्रेस ने ग्रामीण इलाकों की 58 सीटों पर जीत हासिल की है.
**********************************************************

टॉयलेट-घर, LPG कनेक्शन *****

** तीन राज्यों में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 1 करोड़ से ज्यादा घरों का निर्माण हुआ.

** मध्य प्रदेश में 15.43 लाख, छत्तीसगढ़ में 5.99 लाख जबकि राजस्थान में 5.96 लाख घर बनाए गए.

** देश में कुल बनाए गए घरों में से 27% से भी ज्यादा इन्हीं तीन राज्यों में बनाए गए हैं.

** प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना — तीनों राज्यों में एलपीजी कनेक्शन की संख्या 57.86% से बढ़कर 88.51% हो गयी है.

** एमपी में ये 39.12% से बढ़कर 73.49%, छत्तीसगढ़ में 27.63% से 71.23% जाकी राजस्थान में 58.21% से बढ़कर 94.80% हो गया है.

सौभाग्य योजना 25 सितंबर 2017 को जब ये लॉन्च हुई तो देश भर में 4 करोड़ ग्रामीण इलाकों के घरों में बिजली कनेक्शन नहीं था

** लेकिन अब इनकी संख्या सिर्फ 81.53 लाख हीै.

** मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ क्रमशः 100%, 95.59% और 99.21% गांवों तक बिजली पहुंचाने का लक्ष्य पूरा कर चुके हैं.

** 2 अक्टूबर 2014 से अब तक स्वच्छ भारत मिशन के तहत देश भर के ग्रामीण इलाकों में 8.98 करोड़ टॉयलेट बनाए जा चुके हैं.

** इन तीनों ही राज्यों में टॉयलेट बनाने का लक्ष्य पूरा कर लिए गया

** ग्रामीण इलाकों में इसका प्रतिशत क्रमशः मध्य प्रदेश-27.53%, राजस्थान- 29.74% और छत्तीसगढ़ में 40.26%.ही था.

प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत देश भर में 33.38 करोड़ बैंक अकाउंट खोले गए हैं जिनमें से 19.75 करोड़ ग्रामीण इलाकों में खोले गए हैं.

अतः बीजेपी को ग्रामीण क्षेत्रों पर स्थिति को मजबूत करना होगा