केंद्रीय योग एवं प्राकृतिक शिक्षा अनुसंधान केंद्र का दौरा

बादली/बहादुरगढ़ (जनसंपर्क विभाग)———गांव देवरखाना में निर्माणाधीन केंद्रीय योग एवं प्राकृतिक शिक्षा अनुसंधान केंद्र के तृतीय फेज की प्रस्तावित आधारशिला कार्यक्रम के मद्देनजर बुधवार को उपायुक्त सोनल गोयल व एसएसपी बी.सतीश बालन ने संबंधित अधिकारियों के साथ केंद्र का दौरा किया। प्रस्तावित कार्यक्रम को लेकर उन्होंने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
1
उपायुक्त सोनल गोयल ने बताया कि आयुष विभाग के केंद्रीय मंत्रालय के तत्वावधान में बन रहे इस अनुसंधान केंद्र के तृतीय फेज के निर्माण की प्रक्रिया शुरू करने के लिए जल्द ही आधारशिला कार्यक्रम देवरखाना गांव में प्रस्तावित है। प्रस्तावित आधारशिला कार्यक्रम को लेकर प्रशासनिक स्तर पर भी तैयारियां की जा रही हैं।

उन्होंने प्रस्तावित कार्यक्रम के तहत सभी संबंधित विभागीय अधिकारियों को विभागीय स्तर पर तैयारी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि बाढ़सा स्थित एम्स, राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के साथ ही देवरखाना गांव में बनने जा रहे इस केंद्रीय योग एवं प्राकृतिक शिक्षा अनुसंधान केंद्र स्वास्थ्य सेवाओं की दिशा में एक ओर अहम कड़ी बनेगा।

इस केंद्र के बनने से जहां आयुर्वेदिक पद्धति से रोगियों का इलाज संभव होगा वहीं आयुर्वेदिक ज्ञान भी शैक्षणिक रूप से युवा शक्ति ले सकेगी। उपायुक्त ने केंद्र का निरीक्षण करते हुए संबंधित विभागीय अधिकारियों से विभिन्न पहलुओं पर चर्चा भी की।

उन्होंने अधिकारियों से बातचीत करते हुए कहा कि केंद्रीय योग एवं प्राकृतिक शिक्षा अनुसंधान केंद्र में आयुर्वेदिक पद्धति से इलाज करने के साथ ही ओपीडी सेवा का लाभ आमजन को मिलेगा। तीन फेज में बनने वाले इस केंद्र से न केवल इस क्षेत्र के लोगों को बल्कि साथ लगते राज्यों को भी फायदा होगा। एसएसपी बी.सतीश बालन ने भी प्रस्तावित कार्यक्रम को लेकर पुलिस प्रशासन की ओर से किए जाने वाले प्रबंधों की समीक्षा अधिकारियों के साथ की।

इस मौके पर एडीसी सुशील सारवान, एएसपी शशांक आनंद सावन, एसडीएम झज्जर रोहित यादव, डीडीपीओ विशाल कुमार, आयुष विभाग भारत सरकार से डा.ईश्वर आचार्य सहित ग्राम पंचायत प्रतिनिधि व संबंधित निर्माण एजेंसी के अधिकारीगण मौजूद रहे।