किसानों को पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध कराना ही प्राथमिकता

जयपुर——— प्रमुख शासन सचिव एवं रजिस्ट्रार, सहकारिता श्री अभय कुमार ने कहा कि किसानों को उनकी आवश्यकता के अनुसार पर्याप्त मात्रा में खाद मुहैया कराना सरकार की प्राथमिकता है। इसमें किसी प्रकार की शिथिलता नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जिन क्षेत्रों में खाद की मांग के अनुसार स्टॉक नहीं है, उन क्षेत्रों में इफको एवं कृभको के माध्यम से खाद उपलब्ध कराया जाएगा।

श्री कुमार मंगलवार को शासन सचिवालय, जयुपर से राज्य में खाद की उपलब्धता, समर्थन मूल्य पर चल रही दलहन एवं तिलहन की खरीद तथा इनके भुगतान के संबंध में विडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से समीक्षा कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि सभी जिलों में खाद की मांग के अनुसार सप्लाई को मोनिटर करने के लिए राजफैड, इफको, कृभको एवं विभागीय अधिकारियों की बैठक की जाए ताकि राज्य में सभी किसानों को उनकी मांग के अनुसार खाद की आपूर्ति सुनिश्चित की जा सके।

प्रमुख शासन सचिव ने सभी खण्डीय अतिरिक्त रजिस्ट्रार से कहा कि यदि तात्कालिक रूप से किसी विशेष स्थान पर इफको या कृभको के द्वारा यूरिया की आपूर्ति संभव नहीं हो और पास के किसी पॉइन्ट पर यूरिया का अतिरिक्त स्टॉक उपलब्ध हो तो उसे वहां शिफ्ट किया जाए।

उन्होंने समर्थन मूल्य पर की जा रही खरीद की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी खरीद केन्द्र प्रभारी अद्यतन वेयर हाउस रिसिप्ट प्राप्त करें, इस कार्य में कोताही नहीं बरते। उन्होंने सभी राजफैड के खण्डीय प्रभारियों को निर्देश दिए कि वेयर हाउस रिसिप्ट नहीं मिलने के कारण नैफेड से भुगतान प्राप्त नहीं हो पा रहा है, जिससे अंततः किसानों को किए जाने वाला भुगतान प्रभावित हो रहा है।

वीडियो कॉन्फ्रेसिंग में अतिरिक्त रजिस्ट्रार (प्रथम) श्री जी. एल. स्वामी, वित्तीय सलाहकार राजफैड श्री अचलेश्वर, इफको के राज्य विपणन प्रबंधक श्री राजेन्द्र खर्रा, कृभको के राज्य विपणन प्रबंधक श्री अनिल कुमार सिंह, अतिरिक्त रजिस्ट्रार (मार्केटिंग) श्री उत्तम चंद तोषावड़ा, महाप्रबंधक राजफैड श्री बृजेन्द्र राजौरिया, खण्डीय अतिरिक्त रजिस्ट्रार, जिला केन्द्रीय सहकारी बैंकों के प्रबंध निदेशक, जिला इकाई उप रजिस्ट्रार सहित कृषि विभाग के संयुक्त निदेशक एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।