एकीकृत बाल संरक्षण योजना -सोशल आडिट’ पर 5 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम

रायपुर ——–राष्ट्रीय ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज संस्थान, हैदराबाद में एकीकृत बाल संरक्षण योजना पर आधारित ‘सोशल आडिट’ विषय पर 5 दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम आज से शुरू हो गया है।जिसमें छत्तीसगढ़ सहित देश के 19 राज्य शामिल हुए हैं। इस प्रशिक्षण में छत्तीसगढ़ में बाल संरक्षण के क्षेत्र में हुए कार्यों को काफी सराहा गया।
1
इस प्रशिक्षण में मुख्य अतिथि के रूप में शामिल केंद्रीय ग्रामीण विकास राज्यमंत्री श्री रामकृपाल यादव को श्रीमती प्रभा दुबे ने छत्तीसगढ़ में बच्चों की सुरक्षा एवं उत्थान के लिए किये जा रहे कार्यों की विस्तारपूर्वक जानकारी दी ।प्रशिक्षण सत्र में श्री रामकृपाल यादव ने छत्तीसगढ़ की सराहना करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ में बच्चों एवं महिलाओं को सशक्त बनाने के लिए किए जा रहे कार्य निश्चित ही प्रशंसा के योग्य है।

उन्होंने अपनी छत्तीसगढ़ यात्रा के बारे में बताते हुए कहा कि उन्होंने छत्तीसगढ़ में स्वसहायता समूह की महिलाओं से मिलकर चर्चा कर उनकी सामाजिक एवं आर्थिक स्थिति की जानकारी ली। छत्तीसगढ़ में महिला उत्थान के लिए हो रहे कार्यों के बारे में जानकर उन्हें काफी ख़ुशी हुई है।

उल्लेखनीय है कि इस प्रशिक्षण में राज्य की ओर से छत्तीसगढ़ बाल अधिकार संरक्षण आयोग की अध्यक्ष श्रीमती प्रभा दुबे और सदस्य श्री अंकित ओझा शामिल हुए हैं।श्रीमती दुबे ने आज बाल अधिकार एवं संरक्षण विषय पर अपना व्याख्यान दिया।

श्रीमती दुबे ने विशेषकर बाल सुरक्षा पर बातचीत करते हुए हिमाचल प्रदेश, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश, पंजाब, राजस्थान, झारखण्ड, महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश, कर्नाटक, हरियाणा, दिल्ली, मिज़ोरम, सिक्किम, तमिलनाडु आदि राज्यों से कार्यक्रम में शामिल होने आए , राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोगों के अध्यक्ष एवं सदस्य तथा बाल संरक्षण इकाई, पुलिस विभाग एवं सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों को छत्तीसगढ़ बाल अधिकार संरक्षण आयोग की कार्य योजनाओं की जानकारी दी।