उदयपुर और राजसमंद पुलिस – कानून एवं शांति व्यवस्था बनाये रखी है -महानिदेशक पुलिस

जयपुर 7 दिसम्बर । राजसमंद जिले के थाना राजनगर क्षेत्र में घटित जघन्य एवं संगीन हत्या के आरोपी को मात्र 24 घंटे में गिरफ्तार कर पुलिस ने महत्वपूर्ण सफलता हासिल की है।
1
महानिदेशक पुलिस श्री ओ.पी गल्होत्रा ने गुरूवार को पुलिस मुख्यालय सभागार में प्रेस वार्ता आयोजित कर यह जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी द्वारा बंगाल मूल के एवं वर्तमान में राजनगर निवासी अफराजुल की बुधवार 6 दिसम्बर को धारदार हथियारों से हत्या कर लाश को जला दिया गया था।

उन्होंने बताया कि इस संबंध में सैयदपुर थाना कालियाचाक जिला मालदा (बंगाल) एवं वर्तमान में गांव धोइन्दा निवासी श्री रूप पुत्र हफीजुद्दीन (46) ने रिपोर्ट प्रस्तुत की कि मै व मेरा भाई अफराजुल गत 12-13 साल से कांकरोली में किराये के मकान में रहते है तथा भट्टा व आर.सी.सी का कार्य करते हैं।

आज करीब 2-2.30 बजे मेरे पास फोन आया कि मोटरसाइकिल नम्बर आरजे-30-एसके-7786 किसकी है, तो मैंने अपने भाई अफराजुल की होना बताया तो फोन करने वाले ने मुझे देव हेरिटेज होटल रोड राजनगर को आने को कहा।

श्री गल्होत्रा ने बताया कि वह जब अपने साथियों सहित वहां पहुंचा तो मुख्य रोड़ से खेत की तरफ जाने वाले कच्चे रास्ते पर उसके भाई अफराजुल की अधजली लाश उल्टी पडी मिली तथा वहां पर गेंती और धारिया तथा एक प्लास्टिक की बोतल, माचिस आदि पड़े हुए मिले। उसके भाई के सिर पर धारदार हथियार से दो गहरी चोटें भी आई हुई थी। उन्होंने बताया कि आरोपी ने उसके भाई अफराजुल की धारदार हथियार से सिर पर वार कर हत्या की व लाश को जला दिया।

उन्होंने बताया कि श्री रूप की रिपोर्ट पर पुलिस थाना राजनगर जिला राजसमन्द में अभियोग दर्ज कर थानाधिकारी राजनगर श्री रामसुमेर मीणा, द्वारा अनुसंधान प्रारम्भ कर दिया गया।

महानिदेशक पुलिस ने इस सनसनीखेज वारदात को गंभीर बताते हुए कहा कि किसी भी अपराधी को प्रदेश की शांति एवं कानून व्यवस्था को बिगाड़ने की इजाजत नहीं दी जायेगी। उन्होंने कहा कि पुलिस ऎसे अपराधियों से सख्ती से पेश आयेगी।

उन्होंने सोशियल मीडिया पर वायरल हुए वीडियो को संवदेनशील बताते हुए कहा कि मामले की गंभीरता को देखते हुए घटना की सूचना मिलते ही महानिरीक्षक पुलिस उदयपुर रेंज एवं पुलिस अधीक्षक राजसमन्द ने घटनास्थल का तत्काल निरीक्षण कर अपने सुपरविजन में आरोपी की तलाश हेतु टीम गठित कर आरोपी के रिश्तेदार, मित्रों एवं परिचिताें की जानकारी जुटाना प्रारम्भ किया तथा पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तारी के लिये अथक प्रयास कर आरोपी शम्भूलाल रैगर को प्रातः 24 घंटे में ही हिरासत में ले लिया, पुलिस द्वारा उससे पूछताछ की जा रही है।

उन्होंने घटनाक्रम के वीडियो को सोशयल मीडिया पर वायरल करने की घटना को गंभीर बताते हुए कहा कि ऎसे वीडियों वायरल करने के गंभीर परिणाम होते है। इनसे हम सबको बचने की जरूरत है। उन्होंने बताया कि प्राप्त फुटेज में आरोपी द्वारा मृतक (अफराजुल) के साथ पीछे चलते हुए गेंती व धारिया से अनेक प्रहार कर नृशंसतापूर्वक हत्या करते हुए दिखाया गया है।

श्री गल्होत्रा ने बताया कि वीडियो फुटेज वायरल होने पर प्रदेश में साम्प्रदायिक तनाव फैलने की पूरी आशंका थी, परन्तु पुलिस द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए आरोपी शम्भूलाल रैगर को हिरासत में ले लिया एवं कानून व्यवस्था की यथा स्थिति बनाये रखी। इस कार्य के लिये उदयपुर और राजसमंद पुलिस बधाई की पात्र है।

इस अवसर पर अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस,कानून एवं व्यवस्था श्री एन.आर.के. रेड्डी व अतिरिक्त महानिदेशक पुलिस,अपराध श्री पंकज कुमार सिंह मौजूद थे।