अनिश्चितकालीन हडताल / परिणय सूत्र में बंधे / ठेका निरस्त / तीन नकलची

संविदा पर्यवेक्षकों ने किया धरना प्रदर्श
मुरैना। महिला बाल विकास विभाग संविदा पर्यवेक्षक संगठन समिति द्वारा अपनी मांगों के संदर्भ में कलेक्ट्रेट परिसर के बाहर धरना प्रदर्शन किया और शासन व प्रशासन को चेतावनी दी कि मांगे शीघ्र पूर्ण नहीं हुई तो वह प्रदेश व्यापी अनिश्चितकालीन हडताल करेंगीं।

समिति की अध्यक्ष पुष्पा शर्मा द्वारा बताया गया कि मध्यप्रदेश शासन द्वारा विगत 18 फरवरी को मध्यप्रदेश शासन मंत्री परिषद की बैठक में निर्णय पारित कर महिला पर्यवेक्षकों के 3215 नियमित पदों का सृजन किया है वहीं पूर्व में नियमित पदों के विरूद्ध कार्यरत संविदा महिला पर्यवेक्षकों को नियमित करने हेतु अन्य परीक्षार्थीयों के साथ व्यापम परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी। 03 morena 04

उन्होंने बताया 2007 एवं 2010 में सभी संविदा पर्यवेक्षकों ने व्यापम की परीक्षा उत्तीर्ण कर मेरिट में आने के उपरांत ही संविदा पद के लिये नियुक्त हुये थे। इसलिये प्रदेश भर की समस्त संविदा पर्यवेक्षक दोहरी व्यापम परीक्षा का विरोध कर रही है और शासन द्वारा निमियत किये जाने की मांग को लेकर सोमवार को कलेक्टर परिसर पर धरना प्रदर्शन किया गया है।

मांग न माने जाने पर संविदा पर्यवेक्षकों ने बताया कि इस प्रदर्शन को अनिश्चित कालीन हडताल में तब्दील कर देगें। धरने में शामिल महिलाओं में सीमा पाठक, कुसुम यादव, अमिता शाक्य, हमीदन खां, दीपा कुंजोरिया, कृष्णा निगम, राखी, सौम्या शर्मा आदि उपस्थित थीं।
—————————————————————————————————

 38 जोडे परिणय सूत्र में बंधे

मुरैना ( प्रमोद कुमार शर्मा ) –  फुलैरा दौज के अवसर पर दो अलग- अलग जगह    विवाह सम्मेलन सम्पन्न हुये, जिसमें जिले के कुल 38 जोडे परिणय सूत्र में बंधे। सम्मेलन में शामिल हुये जोडों को गृहस्थी का सामान एवं कपडे व जेबर दिये गये।

विवाह सम्मेलनों की श्रंखला में माहौर कौली महासभा मुरैना द्वारा नौवां आदर्श सामूहिक विवाह सम्मेलन जीवाजीगंज स्थित टाउन हाल में आयोजित किया गया, जिसमें 20 जोडे परिणय सूत्र में बंधे और नव जीवन की शुरूआत की। 03 morena 01

सम्मेलन में जो जोडे परिणय सूत्र में बंधे उनमें महेन्द्र-नीलम, रिंकू-प्रीती, हरिओम-भारती, विनोद-रेखा, रविकुमार-कान्ति बाई, भोगीराम-वेदवती, नरेन्द्र-मनीषा, कालीचरण-पूनम, नेहरू-प्रीती, सोनेराम-मंजू, विनोद-दीपिका, सूरज-राधिका, डालचन्द-सुशीला, जितेन्द्र-निशा, सतीश-मंजू, मनीष-रेनू, वीरेन्द्र-प्रीती, संतोष-मालती, दिनेश-मंजू, पूरन सिंह-राजकुमारी आदि शामिल हैं।

समाज की ओर से दान दहेज का अनेक सामान दिया गया जिसमें मुख्य रूप से गोदरेज की अलमारी, फ्रिज, टीवी, कूलर, सूटकेश सहित तमाम घर ग्रहस्थी का सामान शामिल है।

इधर राजमनि समाज सेवा कल्याण समिति मुरैना द्वारा जौरा रोड हंस गार्डन में सर्वजातिय सामूहिक विवाह सम्मेलन सोमवार को आयोजित किया गया।

इस अवसर पर समिति की ओर से भेंट स्वरूप तमाम उपहार एवं घर ग्रहस्थी का सामान भी वर वधू को दिया गया। कार्यक्रम की जानकारी समिति के सचिव मनोज कुमार डण्डौतिया ने दी।
———————————————————————————————
पशु हाट का ठेका निरस्त
मुरैना। नगरपालिका सीमा चम्बल कॉलोनी में ठेकेदार द्वारा पशु हाट का आयोजन सप्ताह के प्रत्येक सोमवार को किया जा रहा है। पशु हाट लगाये जाने की वजह से चम्बल कॉलोनी निवासीयों को परेशानियों का सामना करना पड रहा है।

परिषद के अभिभाषक राजकुमार बंसल द्वारा बताया गया कि पशु हाट एवं पशु मेला का जो ठेका दिया गया है उसे अंतिम वैधानिक कार्यवाही पूर्ण नहीं होने तथा परिषद में उसकी पुष्टि न होने, विधिवत लिखित अनुबंध सम्पादित नहीं किये जाने के फलस्वरूप ठेका निरस्त किया गया है।

श्री बंसल ने बताया कि अगस्त 2012 में नगरपालिका मुरैना द्वारा पशु हाट का ठेका स्वीकृत किया गया था जिसे न्यायालय कलेक्टर जिला मुरैना ने नगरपालिका सीमा में पशु हाट का ठेका 31 जनवरी 2014 को शिकायतकर्ता के आवेदन के आधार पर निरस्त कर दिया.03 morena 03

नगरपालिका परिषद मुरैना की स्वीकृती प्राप्त किये बिना एवं अनुबंध सम्पादित नहीं होने के बावजूद भी अवैध रूप से कार्यादेश जारी करने वाले संबंधित मुख्य नगरपालिका अधिकारी के विरूद्ध मध्यप्रदेश सिविल सेवा आचरण नियमों के तहत कार्यवाही करने का आदेश जारी किया और न्यायालय कलेक्टर ने आदेश में कहा कि पुन: नये सिरे से निविदा आमंत्रित की जा कर पशु हाट ठेके की कार्यवाही सुनिश्चित की जावे। जब तक नवीन ठेके की निविदा आमंत्रित नहीं की जाती और विधिवत पशु हाट ठेका जारी न किया जाये तब तक पशु हाट नगरपालिका सीमा में स्थाई रूप से बंद रखी जावे।
एक साल भी चल रहा ठेका
परिषद की बिना स्वीकृति के संचालित पशु हाट मेला को नगरपालिका द्वारा 4 फरवरी 2013 को उस्मान खां अपीलान्ट का ठेका निरस्त कर दिया गया और इस आदेश के बाद अपीलान्ट ने न्यायालय कलेक्टर में याचिका दायर कर दी तथा ठेके का संचालन यथावत रखा, जो अब भी संचालित है।
इनका कहना है:
न्यायालय कलेक्टर द्वारा किया गया आदेश मेरी जानकारी में नहीं है मे जल्द ही जानकारी प्राप्त करने के पश्चात तुरंत पशु हाट ठेका निरस्त करने की कार्यवाही करूंगा।
पंकज शर्मा, प्रभारी अधिकारी नपा, मुरैना
————————————————————————————————-
हाईस्कूल परीक्षा में तीन नकलची व एक फर्जी पकडा
मुरैना। हाईस्कूल एवं हायर सेकेन्ड्री परीक्षाओं में प्रशासन के लाखों दावों एवं इंतजामों के बावजूद नकल रूकने का नाम नहीं ले रही तथा नकल के लिये बदनाम माफिया इस मिशन में पूरे जोर शोर से लगे हैं। हाईस्कूल परीक्षा के दौरान सोमवार को जिले में तीन नकलचियों के साथ साथ एक फर्जी छात्र को भी पकडा है, जिस पर मामला दर्ज किया जा रहा है।

जानकारी के अनुसार हाईस्कूल का संस्कृत का पेपर सम्पन्न हुआ। इस परीक्षा में जिले भर में कुल 30835 छात्र हैं, जिनमें से 29233 छात्र उपस्थित हुये एवं 1602 छात्र अनुपस्थित रहे। चेकिंग दल ने खडियाहार, किला अम्बाह एवं पहाडगढ के उत्कृष्ट विद्यालय से एक एक नकलची को पकडा है।03 morena 06

जिनके रोल नं. क्रमश: 141116938, 141124251, 141121496 हैं। वहीं सिविल लाइन थाना क्षेत्र के एमजी मेमोरियल स्कूल स्थित परीक्षा केन्द्र से एक फर्जी परीक्षार्थी को पकडा गया है। पुलिस द्वारा उससे पूछताछ की गई लेकिन फर्जी छात्र पुलिस को गुमराह करने में लगा है।जिले में अन्य जगह परीक्षा केन्द्रों पर शांति रही।

उल्लेखनीय है कि बोर्ड परीक्षाओं में प्रशासन द्वारा परीक्षा पूर्व नकल रोकने एवं फर्जी छात्रों पर निगाह रखने के तमाम दावे किये गये एवं अन्य निर्देश भी केन्द्राध्यक्ष एवं शिक्षकों को दिये गये, बावजूद इसके नकल रूकने का नाम नहीं ले रही। किसी भी तरह से नकल माफिया छात्र छात्राओं को नकल कराने का नया नुस्खा ढूंढ ही लेते हैं और अपने मकसद में कामयाब हो जाते हैं।
—————————————————————
व्यवसायी को पंजीयन कराना अनिवार्य
मुरैना। खाद्य व्यवसाय करने वाले व्यवसायी को पंजीयन कराना अनिवार्य है । खाद्य सुरक्षा एवं नियंत्रण खाद्य एवं औषधी प्रशासन से प्राप्त जानकारी के अनुसार खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 के प्रावधानों के अनुसार प्रदेश के खाद्य का व्यवसाय करने वाले प्रत्येक कारोबारी को, रूपये 12 लाख से कम का वार्षिक टर्न ओवर होने पर पंजीयन एवं रूपये 12 लाख से अधिक वाॢर्षक टर्न ओवर होने पर लायसेंस लेना अनिवार्य है ।

भारत सरकार ने पंजीयन प्राप्त की अंतिम तिथि को समय समय पर ब$ढाया है । अधिनियम की धारा 63 के अनुसार बिना लायसेंस के व्यवसाय करने वाले व्यवसाय पर 6 माह तक का करावास एवं रूपये 5 लाख तक के जुर्माने अर्थात दोनो की सजा का प्रावधान है , जबकि बिना पंजीयन के व्यवसाय करने वाले व्यवसायी पर रूपये 25 हजार तक का जुर्माना लगाया जा सकता है ।

इस प्रकार अधिनियम के प्रावधान अत्यन्त कडे है । शासन का यहीं उद्देश्य तथा प्रयास है कि प्रदेश का कोई भी व्यवसायी इन प्रावधानों के अन्तर्गत दण्ड का भागीदार नहीं बने ।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (पदेन उपं सचालक खाद्य एवं औषधि प्रशासन ) को लायसेंस अधिकारी एवं उनके अधीन कार्य करने वाले खाद्य सुरक्षा अधिकारी (खाद्य निरीक्षक) को पंजीयन अधिकारी अधिसूचित किया गया है ।

8 सहकारी संस्थाओं के पंजीयन निरस्
मुरैना। सहकारी संस्थाएं चम्बल संभाग के संयुक्त पंजीयक अभय खरे ने 8 ऐसी सहकारी संस्थाओं के पंजीयन को समाप्त कर दिया है जिन्होने अपने मूल उद्देश्यों एवं अपने व्यवसाय करने में असफल रही है ।
श्री खरे ने म.प्र. सहकारी सोसायटी अधिनियम 1960 की धारा 18 क (1) के अन्तर्गत कार्यवाही करते इन 8 सहकारी संस्थाओं के पंजीयनों को समाप्त किया है । इनमें सहकारी संस्था जिला फल साग भाजी संस्था मुरैना, दुर्गावती प्राथमिक उपभोक्ता सहकारी भण्डार अम्बाह, आदर्श तेल उद्योग सहकारी संस्था दत्तपुरा, खदान उद्योग सहकारी संस्था प$ढावली, जयदुर्गे मत्स्य उद्योग सहकारी संस्था नूराबाद चम्बल बीज उत्पादक सहकारी संस्था पोरसा, शक्कर कारखाना कर्मचारी साख सहकारी संस्था कैलारस और सार्वजनिक प्राथमिक उपभोक्ता सहकारी भण्डार अम्बाह है ।

ब्यूरो मुरैना