अंतर्राज्यीय बस स्टैण्ड कटनी विकास के पायदान पर

भोपाल :(प्रलय श्रीवास्तव)——–मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान मध्यप्रदेश विकास यात्रा के दूसरे पड़ाव में आज कटनी पहुँचे। मुख्यमंत्री ने कटनी जिले के समग्र विकास के साथ कटनी में 50 करोड़ रुपये की लागत से अंतर्राज्यीय बस स्टैण्ड बनवाने की घोषणा की। श्री चौहान ने स्लीमनाबाद में शीघ्र ही तहसील कार्यालय प्रारंभ करवाने का आश्वासन भी दिया।

वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्डस मे कटनी का कैरी बेग निर्माण दर्ज

कटनी जिले में अनुपयोगी कागज का इस्तेमाल कर एक इतिहास रचा गया है। इस कार्य को करके लोगों को संदेश दिया गया है कि कोई भी चीज अनुपयोगी नहीं होती। जिले के झिंझरी ग्राम में पर्यावरण के प्रति जागरुकता के लिये किये गये प्रयास से यह इतिहास रचा गया है।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की उपस्थिति में अनुपयोगी पेपर्स के उपयोग से एक साथ एक स्थान पर पचास हजार कैरी बेग बनाये गये। कटनी में बने इस रिकॉर्ड को लंदन के ”वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्डस” में दर्ज किया गया। मुख्यमंत्री ने कहा कि यदि जीवन बचाना है, तो पर्यावरण को बचाना होगा। पर्यावरण का सबसे बड़ा दुश्मन पॉलीथिन है। इसका चलन कम करने का निरंतर प्रयास करना चाहिये।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कटनी के दाल उद्योग को संकट से उबारने के प्रयास किये जाएंगे। माधवनगर निवासियों के पट्टों की समस्या का समाधान किया जाएगा। माधव नगर क्षेत्र को सिंधी तीर्थ क्षेत्र घोषित करने की कार्यवाही की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कटनी में शासकीय कन्या महाविद्यालय के लिये भवन निर्माण और करीब ढाई करोड़ रुपये की लागत से ऑडिटोरियम निर्माण की स्वीकृति भी प्रदान की। श्री चौहान ने कटनी में 20 करोड़ रुपये की लागत से 200 सीटर नर्सिंग महाविद्यालय की स्थापना और शासकीय पॉलिटेक्निक महाविद्यालय में सांयकालीन क्लासेस प्रारंभ कराने की मंजूरी भी दी।

मुख्यमंत्री की विकास यात्रा के दौरान कटनी शहर को एक और रिंग रोड की बड़ी सौगात भी मिली। श्री चौहान ने कटनी-शहडोल राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक-78 से जबलपुर राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक-7 को जोड़ने के लिये 81 करोड़ रुपये की लागत से रिंग रोड के निर्माण की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने 10 करोड़ रुपये की लागत से पुरानी कचहरी में मल्टीलेवल पार्किंग के निर्माण और जिला चिकित्सालय को 150 बिस्तरों की क्षमता से अपग्रेड करने की घोषणा भी की। उन्होंने शहर के मध्य स्थित चांडक चौक से जुहला रपटा तक सड़क चौड़ीकरण की मंजूरी भी दी।

किसानों की हर तकलीफ में सरकार साथ

मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों की हर तकलीफ में राज्य सरकार उनके साथ है। भावान्तर भुगतान योजना सतत् रुप से चलेगी। श्री चौहान ने चरण पादुका योजना में प्रत्येक महुआ एवं तेन्दूपत्ता संग्राहक के पांव में पादुका पहनवाने का संकल्प दोहराया। पीने के पानी की कुप्पी भी तेन्दूपत्ता और महुआ संग्रहण करने वालों को वितरित की जायेंगी। उन्होंने कहा कि आदमी, आदमी को ढोये, आज के दौर में यह अच्छा नहीं है। इसलिये साईकिल रिक्शा वालों को धीरे-धीरे ई-रिक्शा का मालिक बनाया जायेगा और जमीन का पट्टा भी दिलाया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने बताया कि अविवादित नामांतरण और बँटवारा के प्रकरणों के निराकरण के लिये अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के बाद भी कोई पात्र हितग्राही बचता है तो प्रकरण पेंडिंग रखने वाले अधिकारी और कर्मचारी पर एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया जायेगा।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अध्यापकों की नौकरी में 50 प्रतिशत आरक्षण प्रदेश की बेटियों का होगा। राज्य सरकार ने सभी विभागों की नौकरी में लाड़लियों के लिये 33 प्रतिशत का आरक्षण सुनिश्चित किया है। उन्होंने बताया कि विधानसभा के शीतकालीन सत्र में राज्य सरकार जनसुरक्षा विधेयक लेकर आ रही है, जिसे कानून बनाने के लिये राष्ट्रपति को भेजेंगे। इसमें मासूम बेटी से दुराचार करने वाले व्यक्ति को फाँसी का प्रावधान होगा। मुख्यमंत्री ने जन-समुदाय को सपनों का मध्यप्रदेश बनाने के लिये अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करने का संकल्प दिलाया।

मुख्यमंत्री ने दी 645 करोड़ से अधिक की सौगात

मुख्यमंत्री ने 645 करोड़ 83 लाख 68 हजार रुपये लागत के पाँच विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। साथ ही नगर पालिका निगम के 322 करोड़ 99 लाख रुपये लागत के विकास कार्यों का भूमिपूजन भी किया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने लाड़ली लक्ष्मी, मुख्यमंत्री महिला सशक्तिकरण, मुख्यमंत्री युवा उद्यमी, सहकारिता नवाचार, मुख्यमंत्री स्व-रोजगार, मुख्यमंत्री आर्थिक कल्याण, सामाजिक एकजुटता एवं संस्थागत विकास घटक जैसी विभिन्न योजनाओं के हितग्राहियों को हित-लाभ भी वितरित किये। मुख्य कार्यक्रम में विभिन्न विभागों द्वारा लगाये गये स्टॉलों में शासन की योजनाओं की जानकारी जन-मानस को मुहैया कराई गई

कार्यक्रम में सूक्ष्म, मध्यम एवं लघु उद्यम राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री संजय-सत्येन्द्र पाठक, सांसद द्वय श्री नागेन्द्र सिंह एवं श्री ज्ञान सिंह, विधायक श्री मोती कश्यप, श्री संदीप जायसवाल, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ममता पटेल, समाज कल्याण बोर्ड की अध्यक्ष श्रीमती पद्मा शुक्ला, महापौर श्री शशांक श्रीवास्तव, केडीए अध्यक्ष और अन्य जन-प्रतिनिधि आदि उपस्थित थे।